UP में किसान आंदोलन के गढ़ से शुरू होंगे चुनाव: अंतिम चरणों में पूर्वांचल में मतदान होंगे; जानिए किस सीट पर, किस चरण में वोटिंग

0
27

लखनऊ11 मिनट पहले

उत्तर प्रदेश में 2022 का विधानसभा चुनाव भी सात चरणों में होगा। इस बात का खास ध्यान रखा गया है कि चुनाव का पहला नोटिफिकेशन मकर संक्रांति पर ही जारी होगा। तारीखें और जोन देखें तो चुनाव आयोग पिछली बार के पैटर्न पर चला है। चुनाव की शुरुआत पश्चिम से की गई है, जबकि पूर्वांचल में अंतिम चरण के मतदान होंगे। पिछले चुनाव में भी ऐसा ही हुआ था। इस बार रिजल्ट 10 मार्च को आएंगे। 7 चरण में से 3 चरण (तीसरे, चौथे और पांचवें) के मतदान एक हफ्ते में ही कराए जाएंगे।

आइए जानते हैं किस सीट पर, किस तारीख को मतदान..

यह भी जानें

  • रैली-जनसभा करने पर पूरी तरह से रोक लगाई गई है।
  • न रोड शो, न ही बाइक शो होगा।
  • नुक्कड़ सभाओं पर भी रोक रहेगी।
  • डोर टू डोर कैंपेन में 5 लोगों को इजाजत।
  • रैलियों पर 15 जनवरी तक रोक रहेगी।
  • वोटिंग का समय एक घंटे बढ़ाया गया है।
  • यूपी में 90 प्रतिशत लोगों को पहली डोज लग चुकी है।
  • पोलिंग अधिकारियों को दिया जाएगा बूस्टर डोज
  • यूपी में 29 फीसदी लोग पहली बार करेंगे वोटिंग।
  • हर बूथ पर मास्क और सैनेटाइजर का इंतजाम।

10 फरवरी से 7 मार्च तक चलेंगे चुनाव
आयोग की ओर से अधिसूचना तत्काल प्रभाव से लागू कर दी गई है। चुनाव 10 फरवरी से शुरू होकर 7 मार्च तक चलेंगे। इस दौरान पैसे के दुरुपयोग पर जीरो टॉलरेंस की नीति अपनाई जाएगी। मुख्य चुनाव आयुक्त सुशील कुमार चंद्रा ने बताया कि चुनाव के दौरान तमाम बूथों पर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम होंगे। भयमुक्त माहौल में चुनाव कराने के लिए आयोग ने विशेष तौर पर तैयारी की है।

पेड न्यूज पर नजर रखी जाएगी। इसके साथ ही सी विजिल एप के जरिए गड़बड़ी को रोका जाएगा। चुनावी रैलियों, मतदान केंद्रों से लेकर भीड़ प्रबंधन पर भी प्रतिबंध लागू किए गए हैं। इस घोषणा से पहले आयोग ने बुधवार को वोटर लिस्ट का प्रकाशन कर दिया था। इसके साथ ही चुनाव आयोग ने स्वास्थ्य मंत्रालय से स्वास्थ्य संबंधी इनपुट भी ले लिया है।

चुनाव आयोग के मुताबिक, कोरोनाकाल में चुनाव कराना चुनौतीपूर्ण रहेगा। उम्मीदवार ऑनलाइन नामांकन भी कर सकेंगे। इतना ही नहीं, राजनीतिक दलों को आपराधिक छवि वाले उम्मीदवारों की जानकारी देनी होगी। उनका आपराधिक इतिहास बताना होगा।

केंद्रीय बल की 150 कंपनियों रहेंगी सुरक्षा में
150 बल में 50 कम्पनी सीआरपीएफ, 30 कम्पनी बीएसएफ, 30 कम्पनी एसएसबी, 20 कम्पनी सीआईएसएफ व 20 कम्पनी आईटीबीपी की रहेंगी। इन बलों की कंपनियों को 75 जिलों और तीन कमिश्नरेट में संवेदनशीलता व जरूरत के मुताबिक आवंटित कर दिया गया है।

2017 के चुनाव पर एक नजर

  • 17वीं विधानसभा के लिए चुनाव हुए थे।
  • 11 फरवरी से 8 मार्च 2017 तक 7 चरणों में हुए।
  • मतदान प्रतिशत लगभग 61% रहा।
  • भाजपा ने 312 सीटें जीतीं।
  • समाजवादी पार्टी गठबंधन को 54 सीटें मिलीं।
  • बहुजन समाज पार्टी को 19 सीटें मिलीं।
  • कांग्रेस को 7 सीटें मिलीं थीं।

खबरें और भी हैं…

देश | दैनिक भास्कर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here