Monday, November 29, 2021
HomeStatesBiharRJD MLA का बेटा नहीं बचा पाया मुखिया की कुर्सी: 1979 से...

RJD MLA का बेटा नहीं बचा पाया मुखिया की कुर्सी: 1979 से लगातार विधायक परिवार के पास रहा मुखिया पद, इस बार हुआ बदलाव

सीवान18 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

सुरेन्द्र यादव, (विधायक पुत्र) निवर्तमान मुखिया, कुशहरा पंचायत और मीना देवी, (विधायक के रिश्तेदार) निवर्तमान मुखिया, फुलवरिया पंचायत, रघुनाथपुर।

सीवान के रघुनाथपुर से RJD विधायक हरिशंकर यादव के बेटे सुरेंद्र यादव कुशहरा पंचायत से मुखिया का चुनाव हार गए। वहीं, विधायक की रिश्तेदार व फुलवरिया पंचायत के निवर्तमान मुखिया मीना देवी भी चुनाव हार गई है।

1979 से लगातार विधायक परिवार के पास रहा मुखिया पद, बेटा नहीं बचा सका कुर्सी

विधायक हरिशंकर यादव के परिवार के पास 1979 से रघुनाथपुर प्रखंड के कुशहरा पंचायत का मुखिया का पद रहा है। विधायक हरिशंकर यादव 2015 में मुखिया रहते विधायक बने थे। उसके बाद 2016 के पंचायत चुनाव में उनके बेटे सुरेंद्र यादव चुनाव जीते। जिसके बाद 2021 के पंचायत चुनाव में विधायक हरिशंकर यादव के बेटे सुरेंद्र यादव दूसरी बार चुनावी मैदान में थे। जिसमें इस बार चंदन कुमार पाठक ने 494 वोट के अंतर से हराया हैं।

फुलवरिया पंचायत के नवनिर्वाचित मुखिया आशा देवी।

फुलवरिया पंचायत के नवनिर्वाचित मुखिया आशा देवी।

विधायक के रिश्तेदार भी नहीं बचा सकी मुखिया पद

वहीं, दूसरी ओर रघुनाथपुर विधायक हरिशंकर यादव के बेटे के बाद उनके रिश्तेदार भी अपना मुखिया पद गवां बैठे हैं। रघुनाथपुर प्रखंड के ही फुलवरिया पंचायत के निवर्तमान मुखिया व विधायक हरिशंकर यादव के रिश्तेदार मीना देवी भी चुनाव हार गई हैं। मीना देवी विधायक हरिशंकर यादव के रिश्ते में दामाद की पत्नी लगती है। जो फुलवरिया पंचायत से मुखिया के पद पर आसीन थी। जो इस बार अपनी सीट गवां बैठी है। फुलवरिया पंचायत से इस बार मुखिया के पद पर आशा देवी ने जीत हासिल की है।

हरिशंकर यादव, विधायक, रघुनाथपुर, सीवान।

हरिशंकर यादव, विधायक, रघुनाथपुर, सीवान।

खबरें और भी हैं…

बिहार | दैनिक भास्कर

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments