Monday, November 29, 2021
HomeInternationalPAK की एक और फजीहत: सात समंदर पार महिला मंत्री से भिड़े...

PAK की एक और फजीहत: सात समंदर पार महिला मंत्री से भिड़े इमरान के एडवाइजर, मैडम क्लाइमेट समिट छोड़कर बैरंग लौटीं

  • Hindi News
  • International
  • Imran Khan Cabinet Minister Zartaj Gul Return To Pakistan After Clash With Amin Aslam At UN Conference

इस्लामाबाद32 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

पाकिस्तान के मंत्री दूसरे देश में भी अपने मुल्क को नीचा दिखाने या मजाक बनाने में कोई कोर-कसर बाकी नहीं रखते। कुछ दिनों पहले एक मंत्री ने अमेरिका में वीडियो बनाकर बताया था कि वहां कितनी गरीबी है। अब बात और आगे बढ़ गई है। स्कॉटलैंड के ग्लास्गो में पिछले महीने क्लाइमेट समिट हुई थी। राष्ट्राध्यक्षों के बाद मंत्री स्तरीय बैठक हुई थी। इसमें पाकिस्तान से पूरा डेलिगेशन यानी प्रतिनिधिमंडल गया था। इसमें प्रधानमंत्री इमरान खान की कैबिनेट मंत्री जरताज गुल और इमरान के ही एक एडवाइजर अमीन असलम आपस में भी भिड़ गए। बात इस हद तक पहुंची कि तमतमाई मोहतरमा जरताज गुल समिट छोड़कर पाकिस्तान लौट आईं।

कैसे हुआ खुलासा
यह मामला शायद सामने नहीं आता, लेकिन मंत्रियों की आपसी तनातनी के चलते मामला उजागर हो गया और अब हर तरफ से सफाई सामने आ रही है। मुद्दे पर आते हैं। पिछले दिनों पब्लिक अकाउंट्स कमेटी (PAC) की मीटिंग हुई। इसी दौरान इसके एक सदस्य रियाज फटयाना ने चेयरमैन तनवीर हसन से कहा- कैबिनेट मंत्री और प्रधानमंत्री के सलाहकार दूसरे मुल्कों में पाकिस्तान की इमेज खराब कर रहे हैं।

रियाज ने कहा- ग्लास्गो में हुई COP26 मीटिंग के दौरान क्लाइमेट चेंज मिनिस्टर जरताज गुल और प्रधानमंत्री के एडवाइजर अमीन असलम आपस में ही भिड़ गए थे। घटना से नाराज जरताज समिट बीच में ही छोड़कर अगली फ्लाइट से अकेले पाकिस्तान लौट आईं।

इमरान खान के साथ जरताज गुल। (फाइल)

इमरान खान के साथ जरताज गुल। (फाइल)

इसलिए फिसड्डी हैं हम
रियाज ने आगे कहा- अगर आज हम हर मामले में फिसड्डी होते जा रहे हैं तो इसकी वजह ऐसे ही मंत्री हैं। 18 लोगों का डेलिगेशन गया था। भूखी अवाम का करोड़ों रुपए खर्च हुआ और अब ये नतीजा सामने आ रहा है। इस मामले की जांच होनी चाहिए।

शुक्रवार को मीडिया ने इस खबर को खूब उछाला। इसके बाद जरताज गुल और असलम ने सफाई दी। गुल ने कहा- इस तरह का कोई वाकया लंदन या ग्लास्गो में नहीं हुआ था। मैं कैबिनेट मीटिंग में हिस्सा लेने के लिए मुल्क लौटी थी।

पहले भी विवादों में रही हैं जरताज
पिछले साल जब पाकिस्तान में कोरोना तेजी से फैल रहा था तब गुल ने एक सवाल के जवाब में कहा था- कोरोना में 19 पॉइंट्स होते हैं, इसलिए इसे कोविड-19 कहा जाता है। तालिबान ने जब अफगानिस्तान पर कब्जा किया था तब गुल ने कहा था- यह तो इस्लाम की जीत है। पूरा पाकिस्तान इससे खुश है। दूसरी तरफ, क्लाइटमेट चेंज के मुद्दे पर भी उनके कई बयान चर्चित हुए। एक बार उन्होंने कहा था- हमने तो कोयले के फायदे ही सुने हैं, नुकसान के बारे में तो मीडिया बताता है।

खबरें और भी हैं…

विदेश | दैनिक भास्कर

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments