Monday, November 29, 2021
HomeStatesUttar PradeshIAS के घर चाकरी कर रहा जेल का सिपाही: विशेष सचिव ने...

IAS के घर चाकरी कर रहा जेल का सिपाही: विशेष सचिव ने चहेते सिपाही को महामंत्री बनाने के लिए जारी कर दिया कार्यकारिणी के चुनाव का आदेश

लखनऊएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

जेलर से लेकर सिपाही तक की कमी के चलते जेलों की सुरक्षा पुख्ता नही हो पा रही। दूसरी ओर जेल के सिपाही शासन के अधिकारियों के घर चाकरी कर रहे हैं। ऐसा ही मामला कारागार मुख्यालय में चर्चा का विषय बना हुआ है। कानपुर देहात जेल का सिपाही पांच साल से शासन में सम्बद्ध होकर विशेष सचिव के घर का कामकाज कर रहा है।

कानपुर देहात जेल का सिपाही गौरव दीक्षित पांच साल से शासन में सम्बद्ध है। यहाँ उसकी ड्यूटी कारगर विभाग के विशेष सचिव आरपी पांडेय के घर पर लग रही है। विभाग के अफसरों का कहना है कि जेल का स्टाफ जरूरत पड़ने पर किसी दूसरी जेल से या मुख्यालय से ही सम्बद्ध किया जा सकता है। शासन में संबद्धता नियम के खिलाफ है। विभागीय सूत्रों का कहना है कि गौरव दीक्षित पांच साल से विशेष सचिव के घर का कामकाज कर रहा है। जबकि उसका वेतन कानपुर देहात जेल से ही निर्गत हो रहा है।

विरोध हुआ तो एसोसिएशन पर कब्जे की रणनीति बनाई

जेल विभाग के अधिकारियों का कहना है कि सिपाही गौरव दीक्षित की सम्बद्धता का विरोध हुआ तो विशेष सचिव ने उसे नेता बनाकर पूरे एसोसिएशन पर कब्जा जमाने की तैयारी कर ली। जेल एसोशिएशन की कार्यकारिणी में जेलर से लेकर चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी तक शामिल होते हैं। हर दो साल बाद इसका चुनाव होता है जिसमे शासन का कोई हस्तक्षेप नही होता। बायलॉज के मुताबिक चुनाव के लिए केवल आईजी जेल का औपचारिक अनुमोदन लेना होता है। 2016 के बाद से नई कार्यकारिणी का चुनाव नही हो पाया है। एक अक्टूबर को आरपी पांडेय ने नियम के खिलाफ जाकर जल्द चुनाव कराने का आदेश जारी कर दिया। जबकि उन्हें ऐसा करने का अधिकार ही नही है। सूत्रों का कहना है कि वह गौरव दीक्षित को महामंत्री बनाना चाहते हैं ताकि पूरा एसोसिएशन उनके कब्जे में रहे और गौरव की स्मम्बद्धता भी बरकरार रहे। इस बारे में विशेष सचिव आरपी पांडेय से बात करने का प्रयास किया गया लेकिन उनका फोन रिसीव नही हुआ। कार्यालय के लैंडलाइन पर स्टाफ अफसर ने बताया कि उनसे बात नही हो सकती है।

खबरें और भी हैं…

उत्तरप्रदेश | दैनिक भास्कर

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments