CM चरणजीत चन्नी का विशेष INTERVIEW: बोले- मेरे 111 दिन के काम से कांग्रेस की छवि सुधरी, सीएम का फैसला हाईकमान ही करेगा

0
18

चंडीगढ़2 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

कांग्रेस की परंपरा नहीं रही है कि वह चुनाव से पहले सीएम चेहरे का एलान करे। जो भी इस पर बयानबाजी कर रहा है, सही नहीं है। कांग्रेस परफॉर्मेंस के आधार पर ही सीएम का चयन करती आई है। अंतिम फैसला हाईकमान ही लेता है। कांग्रेस अब तक अपने किए कामों को लेकर चुनाव में उतरेगी और जनता का समर्थन मांगेगी। 111 दिन में जो काम हमारी सरकार ने किए हैं, उससे पार्टी की छवि सधुरी है। अगर जनता को लगता है कि बेहतर काम किए हैं तो हमें वोट डालें। मैंने कभी सीएम चेहरा घोषित करने की बात नहीं कही। यह बात सीएम चरणजीत सिंह चन्नी ने भास्कर के विशेष संवाददाता सुखबीर सिंह बाजवा से कही।

प्रश्न : किन मुद्दों को लेकर चुनाव मैदान में उतरेंगे?

CM चन्नी : अपने काम को लेकर चुनाव में उतरुंगा। 111 दिन में राज्य के हर वर्ग तक पहुंचने की कोशिश की है। हर वर्ग की समस्याओं को उनके बीच जाकर सुना है। हल करने की कोशिश की है। पार्टी को लेकर लोगों में जो नाराजगी थी, वो भी कम हुई है। जनता का भरपूर समर्थन मिला है। मैं मानता हूं कि कांग्रेस की छवि में सुधार हुआ है। कांग्रेस पर लोग विश्वास करने लगे हैं। मैं लोगों से यही कहता हूं कि मेरे काम को देखकर वोट दें।

प्रश्न : पार्टी आपको दो विधानसभा क्षेत्रों से चुनाव लड़ाना चाहती है। इस पर आप क्या कहेंगे?

CM चन्नी : मैं चमकौर साहिब विधानसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ता रहा हूं और वहीं से चुनाव लड़ने का इच्छुक हूं। इस संबंध में पार्टी हाईकमान को अवगत करवा दिया है। फिलहाल किसी दूसरे विधानसभा क्षेत्र में चुनाव लड़ने का इरादा नहीं है, बाकी हाईकमान का हर निर्णय मुझे मंजूर होगा।

प्रश्न : कोरोना रिव्यू मीटिंग के दौरान आपने पीएम की सुरक्षा में हुई चूक को लेकर उनसे माफी मांगी है। यह खबर सुर्खियों में हैं, इसमें कितनी सच्चाई है?

CM चन्नी : मैंने उनसे बातचीत में ‘माफी’ नहीं ‘खेद’ शब्द का प्रयोग किया था। खेद जताने का मतलब माफी मांगना नहीं होता। यह ठीक है कि जो हुआ वो नहीं होना चाहिए था। लेकिन यह कहना कि इसके लिए पंजाब सरकार ही जिम्मेदार है, उचित नहीं है। इस मामले की जांच चल रही है। पंजाब के अधिकारी, कर्मचारी अगर दोषी पाए गए तो उन पर सख्त कार्रवाई निश्चित है।

प्रश्न : विपक्ष का आरोप है कि पीएम की सुरक्षा में चूक में जो कुछ हुआ वह एक साजिश के तहत हुआ। इस पर आप क्या कहना चाहेंगे?

CM चन्नी : ‘कांग्रेस, पंजाब सरकार ते साजिश दे आरोप लाण वाले पैहलां आपणी मंजी थले सोटा फेर लैण’। साजिश के आरोप वो लगा रहा है जिस पर ड्रग्स तस्करी के संगीन केस दर्ज हैं। जो खुद छिपकर भागता रहा वो बड़ी-बड़ी बातें कर रहा है। आरोप लगाने वाले पहले अपने भीतर झांकें।

प्रश्न : आप आरोप लगा रही है कि पंजाब में भाजपा, कांग्रेस के कारण किसान राजनीति में आए। सब इनकी आपस में मिलीभगत है। क्या कहेंगे?

CM चन्नी : निराधार आरोप हैं। केजरीवाल और भगवंत मान को किसानों से माफी मांगनी चाहिए। उनकी सरहद पर किसान सालभर बैठे रहे। तब किसी ने उनकी सधु नहीं ली। अब राजनीति का आरोप लगा रहे हैं। किसान हमारे भाई हैं। चुनाव लड़ना चाहते हैं तो लड़ें। राघव छोटी सोच वाली बातें करते हैं। उनको क्या पता किसान कौन होते हैं। किसानों पर आरोप लगाना गलत है।

प्रश्न : आप आरोप लगा रही है कि वादा करके युवाओं को रोजगार नहीं दिया। दिल्ली में आप ने 10 लाख लोगों को रोजगार दे दिया है?

CM चन्नी : मेरे पास दस्तावेज आ चुके हैं। आप प्रमुख के दावे बिल्कुल झूठे हैं। उन्होंने अपने 7 साल के कार्यकाल में 10 लाख नहीं बल्कि केवल 400 लोगों को रोजगार मुहैया करवाया है। झूठे दावों का क्या है, हवा हवाई बातें तो कोई भी कर सकता है।

प्रश्न : आरोप हैं कि आपने खुद के विस क्षेत्र में ही काम नहीं किया तो पंजाब में क्या किया होगा?

CM चन्नी : आरोप लगाने वाले झूठे हैं। विकास की बात जनता जानती है। आप नेता को ‘न मंज्जा मिला, न बंदा’। वो बैठने के लिए अपनी मंज्जी साथ लेकर आए और बोलने के लिए भी अपना बंदा। इससे उनकी सच्चाई पता चल जाती है।

प्रश्न : सुखबीर बादल का कहना है कि आप वादे करते हो, काम नहीं। यही काम पहले कैप्टन करते रहे और अब चन्नी। इस पर क्या कहना है आपको?

CM चन्नी : जनता को पता है कि अकाली-भाजपा की 10 साल की सरकार में माफिया कौन लेकर आया? बादल परिवार ने सिर्फ अपना विकास किया। जनता को माफिया के आगे बेच दिया। रेत, शराब माफिया को जन्म देने वाला अकाली दल है। जहां तक कैप्टन की बात कर रहे हैं, वो बादलों के साथ मिलकर राज्य की जनता को मूर्ख बनाते रहे, इसी लिए वे अपने फार्म में आराम कर रहे हैं। क्योंकि वे फार्म हाउस से सरकार चलाते थे। अकाली दल के साथ मिलकर। अब जनता ने उनको फार्म हाउस में ही बैठा दिया है। बाकी गलतफहमी आगामी चुनाव में निकल जाएगी।

खबरें और भी हैं…

चंडीगढ़ | दैनिक भास्कर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here