50 डिफाॅल्टर दुकानदारों को दिए नोटिस: निगम ने किराया न चुकाने वाले 50 डिफाॅल्टर दुकानदारों को दिए नोटिस, 7 दिन में न चुकाने पर सील होंगी दुकानें

0
20

  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Karnal
  • Corporation Has Given Notice To 50 Defaulter Shopkeepers Who Do Not Pay Rent, Shops Will Be Sealed If They Do Not Pay In 7 Days

करनाल3 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
  • वर्षों से नगर निगम की दुकानों का किराया न चुकाने वाले दुकानदारों के खिलाफ एक्शन मोड में प्रशासन

नगर निगम वर्षों से नगर निगम की दुकानों का किराया न चुकाने वाले डिफाल्टरों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करेगा। ऐसी दुकानदारों की दुकानों को सील किया जाएगा। नगर निगम ने 50 किराया डिफाल्टर दुकानदारों को नोटिस जारी किए है, जिनकी तरफ तकरीबन 60 लाख रुपए किराया बनता है। निगम आयुक्त डॉ. मनोज कुमार ने बताया कि जिन दुकानदारों को नोटिस दिए गए हैं, उनमें से 7 दुकानदारों ने नगर निगम में आकर दुकानों का किराया चुका दिया, लेकिन 43 ने अभी किराया चुकाने को लेकर कोई दिलचस्पी नहीं दिखाई। अब साप्ताहिक नोटिस के बाद इनकी दुकानें सील करने की कार्रवाई की जाएगी। इसके लिए तैयारी कर ली गई है और उपायुक्त करनाल को ड्यूटी मजिस्ट्रेट के लिए अनुरोध पत्र भेज दिया गया है।

निगमायुक्त ने आगे बताया कि नगर निगम एक स्थानीय निकाय है। दुकानों का किराया, प्रॉपर्टी टैक्स और विकास शुल्क जैसे स्रोतों से निगम की आय होती है, जो ज्यादातर शहर के विकास पर ही खर्च होती है। ऐसे में जो दुकानदार अपनी दुकानों का वाजिब किराया समय पर नहीं चुकाते और सालों तक न चुकाकर डिफाल्टर हो जाते हैं, उनके खिलाफ नगर निगम सख्त कार्रवाई करने जा रहा है। उन्होंने बताया कि किराए की बात करें, तो 50 दुकानदारों की तरफ करीब 80 लाख रेंट की रकम बकाया है, जिन 7 लोगों ने नोटिस के बाद नगर निगम में रेंट जमा करवाया, वह करीब 15 लाख रुपए है।

उन्होंने बताया कि 43 डिफाल्टरों ने यदि एक सप्ताह में किराया चुकाने को लेकर रूचि नहीं दिखाई, तो आगामी 20 जनवरी को रिकवरी ऑफ एरियर ऑफ लैंड रिवेन्यू यानि भू-राजस्व के अधीन क्षेत्र की वसूली के तहत दुकानें सील करने जैसी कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। यही नहीं सील करने के बाद भी यदि संबंधित दुकानदार किराया नहीं चुकाता तो, दुकान खाली करवाकर उसकी पुन: बोली लगाई जाएगी।
डिफाॅल्टर हो चुकी दुकानों के ये हैं नम्बर

निगमायुक्त ने बताया कि जो दुकानदार दुकानों का रेंट समय पर जमा करवाने के कारण डिफाल्टर हो चुके हैं, उनके नंबर इस प्रकार हैं। राम नगर एरिया की एमसीकेआर 211 व 213, प्रेम नगर में दुकान नंबर एमसीकेआर 306व 307, बस स्टैंड एरिया के एमसीकेआर 263, 274 व 285, मेरठ रोड की दुकान नंबर एमसीकेआर 292, 296, 297 व 299, बांसो गेट की दुकान नंबर एमसीकेआर 314, 315, 316, 317 व 321, डॉ. ज्ञान भूषण एरिया की दुकान नंबर एमसीकेआर 398 व 418, कर्ण पार्क की दुकान नंबर एमसीकेआर 470, महिला आश्रम की दुकान नंबर एमसीकेआर 474, ऑपोजिट बस स्टैंड की दुकान नंबर एमसीकेआर 482, कलंदरी गेट की दुकान नंबर एमसीकेआर 518, कर्ण ताल मार्केट की दुकान नंबर एमसीकेआर 546, 547, 548, 550, 551 तथा 553, कंबाेपुरा की दुकान नंबर एमसीकेआर 567, 576, 578, 580, 581 व 584, पंजाब नेशनल बैंक (गीतांजलि) की दुकान नंबर एमसीकेआर 608, हरदेव सिंह मार्केट बांसो गेट की दुकान नंबर एमसीकेआर 609, 613, 614, 615 व 617 तथा बांसो गेट नजदीक राजकीय स्कूल की दुकान नंबर एमसीकेआर 634 व 636 शामिल हैं।

खबरें और भी हैं…

हरियाणा | दैनिक भास्कर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here