हिमाचल: 50 फीसदी कर्मचारी ही आएंगे कार्यालय, पांच दिन ही खुलेंगे सरकारी दफ्तर

0
27

अमर उजाला ब्यूरो, शिमला
Published by: अरविन्द ठाकुर
Updated Sun, 09 Jan 2022 05:40 PM IST

सार

हिमाचल प्रदेश में 50 फीसदी सरकारी कर्मचारी ही कार्यालय आएंगे। सरकारी दफ्तर पांच दिन ही खुलेंगे। राज्य आपदा प्रबंधन ने इस संबंध में आदेश जारी कर दिए हैं। सोमवार से प्रदेश में पांच दिन का कार्य दिवस घोषित किया गया है।

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर (फाइल फोटो)
– फोटो : अमर उजाला

ख़बर सुनें

ख़बर सुनें

हिमाचल प्रदेश में 50 फीसदी सरकारी कर्मचारी ही कार्यालय आएंगे। सरकारी दफ्तर पांच दिन ही खुलेंगे। राज्य आपदा प्रबंधन ने इस संबंध में आदेश जारी कर दिए हैं। सोमवार से प्रदेश में पांच दिन का कार्य दिवस घोषित किया गया है। कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए सरकार ने यह फैसला लिया है।

यह आदेश तत्काल प्रभाव से लागू हो गए हैं। सोमवार से यह व्यवस्था रहेगी। इंडोर होने वाले मनोरंजन, सांस्कृतिक और राजनीति कार्यक्रमों में अधिकतम सौ लोगों को आने की अनुमति होगी। आउटडोर होने वाले कार्यक्रमों में अधिकतम 300 लोगों को आने की अनुमति होगी।

प्रदेश में कोरोना संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। सक्रिय मामले तीन हजार के करीब पहुंच गए हैं। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने भी 15 जनवरी तक अपने सभी तय कार्यक्रम रद कर दिए हैं। प्रदेश में अभी नाइट कर्फ्यू लागू है। कोरोना संक्रमण के मामले इसी तरह से बढ़ते रहे तो सख्ती और बढ़ाने पर विचार किया जा सकता है।

कोरोना मामले बढ़ने पर सीएम के कार्यक्रम रद्द
हिमाचल प्रदेश में कोविड-19 के मामलों में वृद्धि के कारण मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के निर्धारित सभी कार्यक्रम इस महीने की 15 तारीख तक स्थगित किए गए हैं। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री का 10 जनवरी को सुलह निर्वाचन क्षेत्र के लिए, 11 जनवरी को बड़सर, हमीरपुर और 12 जनवरी को नादौन निर्वाचन क्षेत्रों में होने वाले कार्यक्रम भी रद्द कर दिए हैं। इन सभी कार्यक्रमों को शीघ्र पुन: निर्धारित किया जाएगा।

मुख्यमंत्री ने रविवार को इसकी जानकारी खुद ट्वीट करके दी है। मुख्यमंत्री ने कहा है कि कोविड-19 के बढ़ते मामलों के दृष्टिगत उनके सभी सार्वजनिक कार्यक्रम रद्द किए गए हैं। उन्होंने प्रदेश के सभी लोगों से अपील की है कि वे कोविड-19 से संबंधित गाइडलाइंस का पालन करते रहें।

विस्तार

हिमाचल प्रदेश में 50 फीसदी सरकारी कर्मचारी ही कार्यालय आएंगे। सरकारी दफ्तर पांच दिन ही खुलेंगे। राज्य आपदा प्रबंधन ने इस संबंध में आदेश जारी कर दिए हैं। सोमवार से प्रदेश में पांच दिन का कार्य दिवस घोषित किया गया है। कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए सरकार ने यह फैसला लिया है।

यह आदेश तत्काल प्रभाव से लागू हो गए हैं। सोमवार से यह व्यवस्था रहेगी। इंडोर होने वाले मनोरंजन, सांस्कृतिक और राजनीति कार्यक्रमों में अधिकतम सौ लोगों को आने की अनुमति होगी। आउटडोर होने वाले कार्यक्रमों में अधिकतम 300 लोगों को आने की अनुमति होगी।

प्रदेश में कोरोना संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। सक्रिय मामले तीन हजार के करीब पहुंच गए हैं। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने भी 15 जनवरी तक अपने सभी तय कार्यक्रम रद कर दिए हैं। प्रदेश में अभी नाइट कर्फ्यू लागू है। कोरोना संक्रमण के मामले इसी तरह से बढ़ते रहे तो सख्ती और बढ़ाने पर विचार किया जा सकता है।

कोरोना मामले बढ़ने पर सीएम के कार्यक्रम रद्द

हिमाचल प्रदेश में कोविड-19 के मामलों में वृद्धि के कारण मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के निर्धारित सभी कार्यक्रम इस महीने की 15 तारीख तक स्थगित किए गए हैं। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री का 10 जनवरी को सुलह निर्वाचन क्षेत्र के लिए, 11 जनवरी को बड़सर, हमीरपुर और 12 जनवरी को नादौन निर्वाचन क्षेत्रों में होने वाले कार्यक्रम भी रद्द कर दिए हैं। इन सभी कार्यक्रमों को शीघ्र पुन: निर्धारित किया जाएगा।

मुख्यमंत्री ने रविवार को इसकी जानकारी खुद ट्वीट करके दी है। मुख्यमंत्री ने कहा है कि कोविड-19 के बढ़ते मामलों के दृष्टिगत उनके सभी सार्वजनिक कार्यक्रम रद्द किए गए हैं। उन्होंने प्रदेश के सभी लोगों से अपील की है कि वे कोविड-19 से संबंधित गाइडलाइंस का पालन करते रहें।

Latest And Breaking Hindi News Headlines, News In Hindi | अमर उजाला हिंदी न्यूज़ | – Amar Ujala

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here