हिमाचल में बढ़ा हिमस्खलन का खतरा: कुल्लू के दारचा में पहाड़ों से खिसकी बर्फ, नुकसान की सूचना नहीं; ,एहतियातन अटल टनल रोहतांग बंद

0
35

कुल्लू14 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

हिमाचल में अब हिमस्खलन का खतरा मंडराने लगा है। कुल्लू की दारचा घाटी के पास से इसकी शुरुआत हो गई है। डिफेंस जोइओ रिसर्च एस्टेब्लिशमेंट ने एव लॉन्च बुलेटिन जारी करके लोगों से सावधान रहने की अपील की है। दारचा में हुए हिमस्खलन से नुकसान की फिलहाल कोई सूचना नहीं है।

हिमाचल के जनजातीय जिला लाहौल स्पीति में पहाड़ों पर जमी बर्फ के गिरने का खतरा लगातार बढ़ रहा है। घाटी के अब जहां दारचा के पास एक हिमस्खलन हुआ है, वहीं इससे पहले चंद्रा घाटी में हिमस्खलन हो चुका है। पहाड़ बर्फ से लकदक हैं। मौसम साफ बना हुआ है। सूर्य की तीखी किरणों से बर्फ पिघल रही है। इसके पहाड़ों से नीचे सरकने से नुकसान की आशंका भी बनी हुई है।

कुल्लू की दारचा घाटी में हिमस्खलन।

कुल्लू की दारचा घाटी में हिमस्खलन।

हिमस्खलन का खतरा यहां पर

वर्तमान में कोठी, रोहतांग, कोखसर, सिसु, तांदी, तांदी-केलांग-दारचा, अटल रोहतांग टनल नार्थ एंड साउथ पोर्टल, जिंगजिंगबार, बारालाचा, सरचू, पंग, ला लुंग ला के अलावा मनाली के सोलंगनाला से अटल टनल के छोर तक हिमस्खलन का खतरा बना हुआ है। इसके अलावा लाहौल स्पीति ज़िला के स्पीति और किन्नौर ज़िला में भी हिमस्खलन की चेतावनी दी गयी है। जलोडी मार्ग में भी बड़ा नाला और अन्य जगह भी हिमस्खलन का अंदेशा है।

अटल टनल मार्ग अभी बंद

बर्फबारी से यातायात के लिए बंद हुआ अटल टनल मार्ग अभी तक यातायात के लिए बहाल नहीं हो पाया है। हालांकि लाहुल में सिसु से लेकर अटल टनल तक मार्ग से बर्फ को हटा दिया है। जबकि मनाली की तरफ से सोलंगनाला से लेकर टनल के कैंपस तक भी बर्फ हटा दी गयी है। लेकिन कैंपस से लेकर टनल के छोर तक अभी बर्फ हटाने का कार्य बीआरओ के जवान जारी रखे हुए हैं। इसके चलते अभी तक अटल टनल मार्ग अभी वाहनों के लिए बहाल नहीं हो पाया है। एसपी लाहुल मानव वर्मा ने बताया कि मार्ग को बहाल करने का कार्य जारी है और जल्द ही मार्ग यातायात के लिए खोल दिया जाएगा।

खबरें और भी हैं…

देश | दैनिक भास्कर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here