Monday, November 29, 2021
HomeStatesHaryanaसेठ छाज्जू राम की जयंती कार्यक्रम पर विवाद: सजायाफ्ता अजय सिंह चौटाला...

सेठ छाज्जू राम की जयंती कार्यक्रम पर विवाद: सजायाफ्ता अजय सिंह चौटाला को मुख्यातिथि बनाने पर जाट एजुकेशन सोसायटी को ऐतराज, मीटिंग आज

हिसारएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

सेठ छाज्जूराम की जयंती पर होने वाले कार्यक्रम को लेकर विवाद हो गया है। जाट शिक्षण संस्थान में आयोजित होने वाले इस कार्यक्रम को लेकर पुरानी और नई जाट एजुकेशन सोसायटी आमने-सामने हो गई हैं। पुरानी कमेटी ने इस कार्यक्रम के लिए जजपा नेता अजय सिंह चौटाला को मुख्यातिथि बनाया है वहीं नई कमेटी के सदस्य इस बात का विरोध कर रहे हैं। नई सोसायटी के सदस्यों के अनुसार एक सजायाफ्ता कैदी महान सेठ छाज्जूराम की जंयती पर मुख्यातिथि कैसे हो सकता है। इसी विरोध के चलते नई सोसायटी के सदस्यों ने आज 12 बजे मीटिंग बुलाई है जिसमें आगामी फैसला लिया जाएगा।

पुरानी कमेटी द्वारा जारी कार्यक्रम कार्ड

पुरानी कमेटी द्वारा जारी कार्यक्रम कार्ड

एक साल पहले चुनी गई थी नई कमेटी, पदाधिकारियों का नहीं हुआ चुनाव

हिसार में बने जाट कॉलेज, छाज्जूराम बीएड कॉलेज, जाट स्कूल व सीआर स्कूल के संचालन के लिए जाट एजुकेशन सोसायटी बनाई हुई है। इस सोसायटी में करीबन 15 हजार मेंबर हैं जिनमें तीन साल के बाद डेलीगेशन के लिए चुनाव होता है। इस बार एक साल पहले चुनाव से 296 डेलीगेशन चुने जा चुके हैं लेकिन प्रधान, उपप्रधान पदों पर चुनाव नहीं हुआ है। चुनाव हो जाने के बावजूद पुरानी कमेटी के प्रधान सतपाल पालू व पुरानी कमेटी ने ही इस कार्यक्रम के आयोजन के लिए अजय चौटाला व मंत्री अनूप धाणक को कार्यक्रम के लिए मुख्यातिथि बनाया है।

विरोध कर रहे पूर्व मंत्री कंवल सिंह व डेलीगेशन सदस्य डॉ रमेश पूनिया के अनुसार अजय चौटाला एक सजायाफ्ता कैदी है। अजय चौटाला पैरोल पर बाहर है और अभी तक सजा भी पूरी नहीं हुई है। छाज्जूराम जैसे महान आदमी की जयंती पर शिक्षण संस्थान में कैदी को मुख्यातिथि बनाना उनका अपमान है। जबकि पुरानी कमेटी कानूनन भी संस्थान में इस तरह के कार्यक्रम नहीं करवा सकती है। इसी वजय से आज मीटिंग बुलाई गई है जिसमें आगामी फैसला लिया जाएगा।

सोसायटी के पूर्व प्रधान सतपाल पालू के अनुसार उनकी कमेटी इससे पहले भी अजय चौटाला को कार्यक्रमों में बुलाती रही है। सजा किसी की भी हो सकती है। कुछ लोग राजनीतिक कारण से अजय चौटाला का विरोध कर रहे हैं।

खबरें और भी हैं…

हरियाणा | दैनिक भास्कर

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments