सुरत में डॉक्टर ने किया सुसाइड: पीजी-नीट की मेरिट लिस्ट में नाम नहीं आया तो डॉक्टर ने दे दी जान, एमबीबीएस कर प्रैक्टिस कर रहा था

0
18

  • Hindi News
  • Local
  • Gujarat
  • If The Name Did Not Appear In The Merit List Of PG NEET, The Doctor Gave His Life, Was Practicing MBBS

सूरत38 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

डॉ. श्रेयांस मोदी की फाइल फोटो।

पीजी नीट की सूची में नाम नहीं होने से अडाजण क्षेत्र में एक युवक ने सोमवार को फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। अपना जीवन खत्म करने वाले डॉ. श्रेयांश दीपक मोदी एमबीबीएस कर चुके थे और एमडी के लिए पीजी-नीट की परीक्षा दी थी।

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार अडाजण के सुरभि हॉस्पिटल में काम करने वाले डॉ. श्रेयांश दीपक मोदी ने सहारा दरवाजा के स्मीमेर हॉस्पिटल में एमबीबीएस की पढ़ाई पूरी करने के बाद एमडी की पढ़ाई के लिए पीजी नीट की परीक्षा दी थी। इसका परिणाम आया, लेकिन सूची में श्रेयांश का नाम नहीं था। इससे वह दुखी था।

सोमवार की शाम श्रेयांश ने घर में पंखा से दुपट्टा बांधकर फांसी लगा ली। परिजन उसे बचाने के लिए हॉस्पिटल ले गए, लेकिन वहां मृत घोषित कर दिया। श्रेयांस के पिता हीरा व्यवसाय से जुड़े हैं। पीजी-नीट की परीक्षा का रिजल्ट सोमवार को घोषित किया गया था। अडाजन पुलिस मामले की जांच कर रही है।

435 अंक होने के बावजूद नाम मेरिट लिस्ट में नहीं आया
श्रेयस की मां ने बताया कि मेरे बेटे के पीजी, नीट की परीक्षा में 435 अंक होने के बावजूद उसका नाम मेरिट में नहीं आया था। इससे वह इतना आहत हुआ कि अपनी जान दे दी। बेटे ने शाम 5:50 बजे मेरिट लिस्ट देखी और 10 मिनट बाद ही कमरे में जाकर आत्महत्या कर ली।

खबरें और भी हैं…

गुजरात | दैनिक भास्कर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here