सिमडेगा में युवक को जिंदा जलाने वाले 4 और गिरफ्तार: कांड में शामिल लोगों की तलाश में पुलिस कर रही छापेमारी, अब तक 7 पकड़ाए

0
32

सिमडेगा31 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

पुलिस के हत्थे चढ़ आरोपी।

सिमडेगा के कोलेबिरा थाना क्षेत्र के बेसराजारा गांव में युवक संजू प्रधाल को जिंदा जलाने के मामले में आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस लगातार छापेमारी कर रही है। शनिवार को सदर थाना और ठेठईटांगर पुलिस ने संयुक्त रूप से छापेमारी अभियान में 4 और आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। इसमें सूरत डांग,लोबन डांग, सूरसेन मुंडू और रेयाजन जोजो शामिल हैं। इससे पहले इन मामले में 3 लोगों को गिरफ्तार किया गया था। अब तक इस मामले में कुल 7 लोगों की गिरफ्तारी हो चुकी है।

सदर थाना प्रभारी इंस्पेक्टर दयानंद कुमार के नेतृत्व में चलाए जा रहे छापामारी अभियान में नामजद अभियुक्तों को अलग-अलग जगहों से पकड़ा गया है। सभी गिरफ्तार आरोपी ठेठईटांगर थाना क्षेत्र के बम्बलकेरा गांव के रहने वाले हैं। पुलिस अधीक्षक डा. शम्स तब्रेज ने कहा कि सभी आरोपी की गिरफ्तारी होने तक कार्रवाई जारी रहेगी। ज्ञात हो कि गत 4 नवंबर को साखू का पेड़ काटकर लकड़ी की चोरी करने के आरोप में पहले ग्रामीणों ने युवक को जमकर पीटा फिर जिंदा आग लगाकर जला दिया।

परिजनों से मिलने पहुंचे रघुवर दास।

परिजनों से मिलने पहुंचे रघुवर दास।

पूर्व मुख्यमंत्री पहुंचे पीड़ित परिवार से मिलने

झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास शनिवार को सिमडेगा के बेसराजारा पंहुचे। उन्होंने भीड़ की हिंसा में मरने वाले युवक संजू प्रधान के परिजनों से मिलकर घटना की जानकारी ली। उन्होंने पीड़ित परिवार को 1 लाख रुपये का चेक सौंपा। कहा कि इस वर्तमान हेमंत सोरेन सरकार में आदिवासियों व दलित समाज के लोगों पर अत्याचार हो रहा है।

खबरें और भी हैं…

झारखंड | दैनिक भास्कर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here