Monday, November 29, 2021
HomeEntertainmentसरोज खान की बर्थ एनिवर्सरी: 13 साल की उम्र में 30 साल...

सरोज खान की बर्थ एनिवर्सरी: 13 साल की उम्र में 30 साल बड़े 4 चार बच्चों के पिता से कर ली थी शादी, 2000 गानों पर सिखाया था डांस

19 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

बॉलीवुड की जानी-मानी कोरियोग्राफर सरोज खान की आज 73 वीं बर्थ एनिवर्सरी है। किशनचंद संधु और नोनी ​सिंह के घर जन्मी सरोज का असली नाम निर्मला नागपाल था। उनका जन्म 22 नवंबर, 1948 को हुआ था। पार्टीशन के बाद सरोज का परिवार पाकिस्तान से भारत आ गया था। सरोज ने करियर की शुरुआत महज 3 साल की उम्र में बतौर चाइल्ड आर्टिस्ट फिल्म ‘नजराना’ से की थी।

दो हजार गानों में दिखे सरोज के डांस स्टेप्स

40 साल के करियर में सरोज खान ने करीब दो हजार गाने कोरियोग्राफ किए। उन्होंने तीन बार नेशनल अवॉर्ड भी जीता। सरोज खान ने नच बलिए’, ‘उस्तादों के उस्ताद’, ‘नचले वे विद सरोज खान’, ‘बूगी-वूगी’, ‘झलक दिखला जा’ जैसे कई रियलिटी शो में बतौर जज बनकर नई प्रतिभाओं को सामने लाने में अपनी योगदान दिया।

13 की उम्र में जब अचानक हो गई सरोज की शादी

सरोज खान ने 13 साल की उम्र में इस्लाम कबूल कर 43 साल के डांस मास्टर बी सोहनलाल से शादी की थी। सरोज की उम्र से लगभग 30 साल बड़े सोहनलाल की यह दूसरी शादी थी। वे पहले ही चार बच्चों के पिता थे। एक इंटरव्यू में सरोज ने बताया था कि 13 साल की उम्र में वे स्कूल जाया करती थीं और शादी के मायने नहीं जानती थी। एक दिन उनके डांस मास्टर सोहनलाल ने उनके गले में काला धागा बांध दिया था, ऐसा करने पर सरोज को लगा कि उनकी शादी हो गई।

पति ने छिपाई पहले से शादीशुदा होने की बात

स्कूल जाने की उम्र में सरोज ने सोहनलाल से शादी कर ली थी। उस वक्त वे नहीं जानती थीं कि सोहनलाल पहले से शादीशुदा और 4 बच्चों के पिता हैं। सरोज को उनकी पहली पत्नी की जानकारी 1963 में हुई, जब उनके बेटे राजू खान का जन्म हुआ। 1965 में उनकी दूसरे बच्चे का जन्म हुआ, जो 8 महीनों बाद ही गुजर गया। जब सोहनलाल ने सरोज के दोनों बच्चों को अपना नाम देने से इनकार किया, तो इनकी राहें अलग हो गई। कुछ सालों बाद सोहनलाल को हार्ट अटैक आया, तब सरोज उनके करीब आईं। इस दौरान सरोज ने बेटी कुकु को जन्म दिया। बेटी के जन्म के बाद सोहनलाल, सरोज की जिंदगी से कहीं गायब हो गए थे और सरोज ने दोनों बच्चों की परवरिश अकेले की।

पहली फिल्म ‘गीता मेरा नाम’ थी

1974 में आई ‘गीता मेरा नाम’ पहली फिल्म थी, जिसमें सरोज खान ने कोरियोग्राफ किया था। इस फिल्म में साधना लीड रोल में थीं। उनका फिल्म ‘मिस्टर इंडिया’ में श्रीदेवी का हवा-हवाई (1987) और 1988 में आई ‘तेजाब’ में माधुरी पर फिल्माया एक दो तीन डांस नंबर बेहद हिट रहा। 1992 में आई फिल्म ‘बेटा’ का गीत धक-धक करने लगा और 2002 की ‘देवदास’ का माधुरी-ऐश्वर्या वाला डोला रे डोला उनके सबसे हिट डांस नंबर हैं।

साधना से लेकर करीना तक सबको सिखाया डांस

बॉलीवुड की तमाम बड़ी एक्ट्रेस उनके निर्देशन में थिरकती नजर आईं। सरोज खान ने साधना, वैजयंतीमाला, कुमकुम, हेलन, शर्मिला टैगोर, माला सिन्हा, वहीदा रहमान, जीनत अमन से लेकर रेखा, श्रीदेवी, माधुरी दीक्षित, करिश्मा, उर्मिला टैगोर, ऐश्वर्या राय, करीना कपूर और सनी लियोनी जैसी एक्ट्रेसेस को डांस सिखाया। माधुरी उनकी फेवरेट स्टार थीं। साउथ की कई एक्ट्रेस भी उन्होंने डांस स्टेप्स सिखाए।

आखिरी फिल्म माधुरी दीक्षित के साथ

सरोज खान ने आखिरी गाना अप्रैल 2019 में आई करण जौहर की मल्टीस्टारर फिल्म ‘कलंक’ के लिए कोरियोग्राफ किया था। इसके बोल थे ‘तबाह हो गए’। इस गाने में भी उनकी फेवरेट एक्ट्रेस माधुरी दीक्षित नजर आईं थीं। 3 जुलाई, 2020 को उनका निधन हो गया था।

खबरें और भी हैं…

बॉलीवुड | दैनिक भास्कर

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments