Wednesday, December 8, 2021
HomeStatesUttar Pradeshसरगना उगला राज तो 2 और पकड़े गए: वाराणसी में NEET परीक्षा...

सरगना उगला राज तो 2 और पकड़े गए: वाराणसी में NEET परीक्षा में PK ने कराया था धांधली का प्रयास, अब तक 3 राज्यों के 11 आरोपी गिरफ्तार

वाराणसी26 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

गिरफ्तार आरोपी कन्हैया लाल सिंह (बाएं) और क्रांति कौशल (दाएं)।

वाराणसी में मेडिकल प्रवेश परीक्षा (NEET-UG) में धांधली के प्रयास के आरोप में गिरफ्तार सॉल्वर गैंग के सरगना नीलेश सिंह उर्फ प्रेम कुमार उर्फ PK की मदद से सोमवार की सुबह उसके 2 और सहयोगी गिरफ्तार किए गए। गिरफ्त में आए दोनों आरोपियों की शिनाख्त चंदौली जिले के बबुरी थाना के नरहरपुर मवैया के मूल निवासी व वाराणसी के सुसुवाही में रहने वाले क्रांति कौशल और मिर्जापुर की चुनार कोतवाली के बरेठा के निवासी कन्हैया लाल सिंह के तौर पर हुई है। यह दोनों PK की मदद से अपनी अलग गैंग संचालित करते थे।

कन्हैया लाल सिंह चंदौली जिले में लघु सिंचाई विभाग में बोरिंग टेक्नीशियन के पद पर कार्यरत है और क्रांति कौशल सुंदरपुर में साइबर कैफे चलाता है। दोनों के पास से 5 महिला अभ्यर्थियों के ओरिजिनल अंक पत्र, प्रमाण पत्र, फर्जी आधार कार्ड, काफी संख्या में विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं के अभ्यर्थियों के एडमिट कार्ड और एक टाटा सफारी बरामद की गई है।

नीलेश सिंह उर्फ PK, सॉल्वर गैंग का सरगना।

नीलेश सिंह उर्फ PK, सॉल्वर गैंग का सरगना।

5 साल से PK के संपर्क में थे, बनाए थे गैंग

सॉल्वर गैंग का सरगना PK बीती 18 नवंबर को अपने जीजा रितेश कुमार सिंह के साथ गिरफ्तार किया गया था। अदालत की अनुमति से PK 20 से 26 नवंबर तक पुलिस कस्टडी रिमांड पर है। पुलिस कमिश्नर ए. सतीश गणेश ने बताया कि पुलिस कस्टडी रिमांड पर लिए गए PK ने पूछताछ के दौरान वाराणसी से संबंधित अपने सहयोगियों के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी दी। PK से मिली जानकारी के आधार पर ही कन्हैया लाल सिंह और क्रांति कौशल गिरफ्तार किए गए हैं। दोनों आरोपियों ने बताया कि वह करीब 5 साल से PK के संपर्क में थे।

मेडिकल प्रवेश परीक्षा के अलावा दोनों उत्तर प्रदेश में सहायक शिक्षक, यूपीटेट, यूपी एसआई, एएनएम, एसएससी जैसी अन्य कई परीक्षाओं के अभ्यर्थियों को सॉल्वरों के माध्यम से पास कराने के लिए दिल्ली लखनऊ एवं कानपुर के अपने अलग-अलग साथियों के साथ एक समानांतर गैंग चला रहे थे। दोनों के खिलाफ सारनाथ थाने में मुकदमा दर्ज किया गया है और आज उन्हें अदालत में पेश किया जाएगा।

ए. सतीश गणेश, पुलिस कमिश्नर, वाराणसी।

ए. सतीश गणेश, पुलिस कमिश्नर, वाराणसी।

12 सितंबर से जारी है आरोपियों की गिरफ्तारी

NEET-UG परीक्षा में धांधली की साजिश का भंडाफोड़ 12 सितंबर 2021 को हुआ था। क्राइम ब्रांच ने सारनाथ क्षेत्र स्थित एक स्कूल में त्रिपुरा की हिना बिश्वास की जगह परीक्षा दे रही बीएचयू की बीडीएस की छात्रा जुली कुमारी को गिरफ्तार किया था। तब से लेकर अब तक बिहार, त्रिपुरा और उत्तर प्रदेश के 11 आरोपी गिरफ्तार किए जा चुके हैं। पुलिस कमिश्नर ए. सतीश गणेश ने दैनिक भास्कर से कहा कि अभी 26 नवंबर की दोपहर तक PK से पूछताछ जारी रहेगी। तब तक कई अन्य अहम जानकारियां पुलिस के हाथ लगेंगी।

PK से पूछताछ के लिए लगाई गई 5 सदस्यीय टीम को कहा गया है कि हमें इस गैंग के नेटवर्क को पूरी तरह से ध्वस्त कर एक-एक आरोपी को पकड़ना है। इसके साथ ही इस प्रकरण में वांछित हिना बिश्वास सहित अन्य आरोपी भी जल्द ही पुलिस की गिरफ्त में होंगे।

वाराणसी…सॉल्वर गैंग का सरगना 7 दिन की रिमांड पर: PK ने NEET में की थी धांधली की कोशिश, 5 सदस्यीय टीम करेगी पूछताछ

खबरें और भी हैं…

उत्तरप्रदेश | दैनिक भास्कर

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments