Monday, November 29, 2021
HomeBusinessसबसे बड़ा IPO सुपर फ्लॉप: दो दिनों में पेटीएम का शेयर 39%...

सबसे बड़ा IPO सुपर फ्लॉप: दो दिनों में पेटीएम का शेयर 39% टूटा, आगे और गिरावट की आशंका

  • Hindi News
  • Business
  • Paytm Stock Fell 39% In Two Days, Fears Of Further Decline, Paytm Share Price, Paytm Share

मुंबई13 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

सबसे बड़े IPO पेटीएम की सबसे खराब हालत है। लिस्टिंग के दूसरे दिन भी इसके शेयर की कीमतों में गिरावट जारी रही। पहले दिन 27% टूटने के बाद सोमवार को 16% टूट गया। यानी दो दिनों में यह शेयर अपने इश्यू प्राइस की तुलना में 39% टूट गया है। फिलहाल यह शेयर 1,283 रुपए पर कारोबार कर रहा है।

मार्केट कैप 82 हजार करोड़ रुपए

इसका मार्केट कैप 82 हजार करोड़ रुपए हो गया है। यानी यह अगर अपने IPO के प्राइस पर लिस्ट होता तब इसका मार्केट कैप 1.48 लाख करोड़ रुपए होता। हालांकि इसका मार्केट कैप गुरुवार को 1.27 लाख करोड़ रुपए तक गया था। तब से देखें तो अब तक दो दिनों में इसमें 42 हजार करोड़ रुपए की कमी आई है।

पहले दिन लोअर सर्किट पर बंद हुआ था शेयर

पहले दिन यानी गुरुवार को लिस्टिंग के बाद यह शेयर 20% के लोअर सर्किट के साथ बंद हुआ था। लोअर सर्किट मतलब, एक दिन में उससे ज्यादा गिरावट शेयर के भाव में नहीं हो सकती है। सोमवार को भी यही हालत है। करीबन 16% तक शेयर टूट चुका है। यह 1,314 रुपए पर पहुंच गया है। लोअर सर्किट का इसका भाव 1,251 रुपए का है। जानकार मान रहे हैं कि यह इस भाव तक शाम तक जा सकता है।

1200 रुपए तक जा सकता है शेयर

ब्रोकरेज हाउस मैक्वायरी ने कहा है कि पेटीएम के स्टॉक में यहां से 44% की गिरावट आ सकती है। यह शेयर 1,200 रुपए तक जा सकता है। इसका मतलब यह हुआ की निवेशकों को आगे भी इसमें घाटा मिलने की संभावना है। हालांकि यह शेयर आज 1,283 रुए तक चला गया। इसने कहा है कि कंपनी को फायदा में आना उसके लिए बहुत बड़ी चुनौती है। साथ ही रेगुलेशन और कंपटीशन भी इसके लिए चिंता का विषय है।

काफी ज्यादा वैल्यूएशन

पेटीएम का वैल्यूएशन काफी महंगा है। इसने कहा है कि रिजर्व बैंक जल्द ही फिनटेक के लिए बाय नाऊ, पे लेटर पर रेगुलेशन ला सकता है। इस ब्रोकरेज हाउस ने कहा कि अपनी स्थापना से लेकर अब तक पेटीएम ने 19 हजार करोड़ रुपए की रकम जुटाई। यह सभी रकम घाटे में इस समय है। पेटीएम की तर्ज पर अगर इसके सेक्टर की ग्लोबल कंपनियों की तुलना करें तो पेटीएम अपनी बिक्री के अनुपात में 33.53 गुना महंगे पर है। जबकि आफ्टरपे 35.87 गुना, अफर्म 23.31 गुना, पेपल 9.25 गुना, मास्टरकार्ड 18.93 गुना और वीजा का शेयर 16.22 गुना पर कारोबार कर रहा है।

मार्केट कैप में सबसे पीछे

मार्केट कैप में पेटीएम सबसे पीछे है। वीजा का मार्केट कैप 438 अरब डॉलर, मास्टरकार्ड का 334 अरब डॉलर, पेपल का 227 अरब डॉलर, अफर्म का 38 अरब डॉलर और पेटीएम का 13 अरब डॉलर मार्केट कैप है। यहां तक कि घरेलू बाजार में लिस्टेड स्टार्टअप नायका और जोमैटो की तुलना में भी इसका मार्केट कैप काफी कम है।

अब तक का सबसे बड़ा IPO

पेटीएम का 18,300 करोड़ रुपए का इनिशियल पब्लिक ऑफर (IPO) देश का अब तक का सबसे बड़ा IPO है। कंपनी ने नए इक्विटी शेयर जारी करके 8,300 करोड़ रुपए जुटाए और मौजूदा शेयरधारकों और प्रमोटरों ने 10,000 करोड़ रुपए के शेयर बेचे। पेटीएम का IPO 1.89 गुना सब्सक्राइब हुआ था। कंपनी को 4.83 करोड़ शेयरों के मुकाबले 9.14 करोड़ शेयरों की बोलियां मिली थीं। रिटेल निवेशकों का कोटा 1.66 गुना भरा था।

घरेलू निवेशक खरीदने से बच रहे हैं

जानकारी के मुताबिक, घरेलू संस्थागत निवेशक इस शेयर को खरीदने से बच रहे हैं। उनका मानना है कि शेयर काफी महंगे वैल्यूएशन पर है। इस समय इसका वैल्यूएशन 12 अरब डॉलर से भी नीचे आ गया है। जबकि कंपनी इसे 20 अरब डॉलर का वैल्यूएशन मान रही थी। ज्यादातर निवेशक अब घाटे में ही इस शेयर को बेच रहे हैं। ब्रोकरेज हाउसों का मानना है कि जो लोग कम समय के लिए इसमें हैं वे निकल जाएँ। जिनको लंबे समय तक रहना है, वे इसमें रह सकते हैँ।

खबरें और भी हैं…

बिजनेस | दैनिक भास्कर

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments