Monday, November 29, 2021
HomeStatesChandigarhश्री गुरु ग्रंथ साहिब की चोरी और बेअदबी मामला: डेरा सच्चा सौदा...

श्री गुरु ग्रंथ साहिब की चोरी और बेअदबी मामला: डेरा सच्चा सौदा की चेयरपर्सन और प्रबंधक से लुधियाना IG कार्यालय में होगी पूछताछ

लुधियानाएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

बुर्ज जवाहर सिंह वाला से पवित्र श्री गुरु ग्रंथ साहिब चोरी होने और बेअदबी की साजिश रचने के मामले की जांच कर रही स्पेटशल जांच टीम (SIT) ने डेरा सच्चा सौदा की चेयरपर्सन विपासना इंसां और प्रबंधक डा पीआर नैन को सम्मन किया है। लुधियाना रेंज के IG एसपीएस परमार इस SIT के मुखी हैं और उनके लुधियाना कार्यालय में इनसे सवाल जवाब किए जाएंगे। यह पूछताछ SIT द्वारा सुनारिया जेल में जाकर डेरा सच्चा सौदा प्रमुख से हुए सवाल जवाब के दो सप्ताह बाद की जा रही है।

डेरा सच्चा सौदा की चेयरपर्सन विपासना इंसां

डेरा सच्चा सौदा की चेयरपर्सन विपासना इंसां

SIT के आईजी और प्रमुख सुरिंदर पाल सिंह परमार ने कहा, “एसआईटी ने शुक्रवार के लिए लुधियाना में चेयरपर्सन विपासना इंसां और वरिष्ठ उपाध्यक्ष डॉ पीआर नैन को तलब किया था।” सुनारिया जेल में 9 नवंबर को हुई पूछताछ के दौरान, डेरा प्रमुख ने बेअदबी की घटनाओं में किसी भी तरह की संलिप्तता से इनकार किया था, उनका दावा था कि डेरा में कामकाज या निर्णय लेने में उनकी कोई भूमिका नहीं थी। उनकी भूमिका “सत्संग” करने और डेरा अनुयायियों को उपदेश देने तक सीमित थी। इसी लिए बेअदबी की घटनाओं में आगे की जांच के लिए SIT ने चेयरपर्सन और प्रबंधक को सम्मन किया है। आरोप है कि सिरसा के डेरा सच्चा सौदा मुख्यालय में बेअदबी की घटनाओं की साजिश रची गई और डेरा सदस्यों द्वारा कथित तौर पर इसे अंजाम दिया गया। इसके आधार पर डेरा प्रमुख को जुलाई 2020 में बेअदबी की घटनाओं में मुख्य आरोपी बनाया गया था।

डेरा सच्चा सौदा प्रमुख के बेहद करीबी और प्रबंधक पीआर नयन

डेरा सच्चा सौदा प्रमुख के बेहद करीबी और प्रबंधक पीआर नयन

हत्या और दुष्कर्म की सजा काट रहे डेरा प्रमुख से पूछताछ कर चुकी है SIT
इसी माह की शुरुयात में SIT प्रमुख एसपीएस परमार, SSP मुखविंदर भुल्लर सुनारिया जेल में हत्या और दुष्कर्म के मामलों की सजा काट रहे डेरा सच्चा सौदा प्रमुख संत गुरमीत राम रहीम से पूछताछ की थी। इस दौरान डेरा प्रमुख ने पुलिस को संतोशजनक सवालों के जवाब नहीं दिए थे। उसके द्वारा यह कहने कि डेरे में काम काज के फैसले प्रबंधक कमेटी द्वारा लिए जाते थे, इस लिए डेरे की प्रबंधक कमेटी को जांच के लिए बुलाया गया है।

6 साल पुराना गुरु ग्रंथ साहिब चोरी का मामला
पंजाब पुलिस की SIT 6 साल पहले दर्ज हुए बेअदबी के एक मामले में डेरा प्रमुख से पूछताछ करना चाहती है। यह मामला 1 जुलाई 2015 का है, जब फरीदकोट जिले में बरगाड़ी से 5 किलोमीटर दूर स्थित गांव बुर्ज जवाहर सिंहवाला के गुरुद्वारे से गुरु ग्रंथ साहिब का पावन स्वरूप चोरी हो गया था। 24 सितंबर 2015 को बरगाड़ी में गुरुद्वारे के पास हाथ से लिखे दो पोस्टर लगे मिले। आरोप है कि पंजाबी भाषा में लिखे इन पोस्टरों में अभद्र भाषा इस्तेमाल की गई और पावन स्वरूपों की चोरी में डेरा सच्चा सौदा का हाथ होने की बात भी लिखी गई। 12 अक्टूबर 2015 को बुर्ज जवाहर सिंहवाला की गलियों में पावन स्वरूप के अंग बिखरे मिले। 14 अक्टूबर को फरीदकोट के गांव बहबलकलां में धरना दे रही संगत को हटाने के दौरान पुलिस द्वारा की गई फायरिंग में दो लोगों की मौत हो गई। उसी दिन कोटकपूरा में भी धरना लगाकर बैठे सिख समुदाय के लोगों पर पुलिस ने लाठीचार्ज और फायरिंग की।

अब तक 5 की गिरफ्तारी
बुर्ज जवाहर सिंहवाला से पावन स्वरूप चोरी होने और बहबलकलां व कोटकपूरा में हुए गोलीकांड को लेकर पुलिस ने साल 2015 में 3 अलग-अलग एफआईआर दर्ज की गई। इनमें पांच डेरा प्रेमियों रणदीप सिंह उर्फ नीला, रणजीत सिंह, बलजीत सिंह, निशान सिंह और नरिंदर कुमार शर्मा को गिरफ्तार किया गया, जो अब जमानत पर चल रहे हैं। डेरा सच्चा सौदा की नेशनल कमेटी के 3 मेंबर संदीप बरेटा, प्रदीप कलेर और हर्ष धूरी के खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी किए गए। इन तीनों का आज तक कोई सुराग नहीं लगा। 6 जुलाई 2019 को डेरा प्रमुख को बुर्ज जवाहर सिंहवाला से पावन स्वरूप चोरी होने के मामले में बाजाखाना थाने में दर्ज एफआईआर नंबर-62 में नामजद कर लिया गया और अब इसी केस में डेरा प्रमुख को पूछताछ के लिए प्रोडक्शन वारंट लिया गया है।
CBI समेत 3 SIT कर चुकी जांच
साल 2015 में बेअदबी का मामला गरमा गया और 2017 के पंजाब विधानसभा के चुनाव में यह सबसे बड़ा मुद्दा बना। अब तक इस मामले की जांच CBI के अलावा पंजाब पुलिस की तीन अलग-अलग SIT कर चुकी हैं, लेकिन बेअदबी करने वाले असल दोषियों के नाम सामने नहीं आ पाए हैं। अब पंजाब सरकार की SIT ने इस मामले में पहली बार पूछताछ के लिए राम रहीम का प्रोडक्शन वारंट मांगा था।

खबरें और भी हैं…

चंडीगढ़ | दैनिक भास्कर

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments