वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट जांच की 11 PHOTOS: हरियाणा में दिखी सख्ती; DC भी चैकिंग के बाद गए अंदर, नहीं दिखाने वालों को मौके पर लगाई वैक्सीन

0
39

  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Karnal
  • Strictness Seen In Haryana; DC Also Went Inside After Checking, Vaccine Was Applied On The Spot To Those Who Did Not Show

करनाल/हिसार22 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

देश में कोरोना महामारी फिर से पांव पसारने लगी है। इसके मद्देनजर हरियाणा सरकार ने प्रदेश के सरकारी दफ्तरों में वैक्सीनेशन के बिना एंट्री बैन कर दी है। आम आदमी हो या डीसी, एसपी, डीएसपी सभी के लिए कार्यालयों में वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट अनिवार्य कर दिया गया है। इसका मतलब यह है कि अब किसी को भी वैक्सीनेशन का सर्टिफिकेट दिखाए बिना सरकारी कार्यालय में एंट्री नहीं मिलेगी। आदेशानुसार, सार्वजनिक स्थानों पर केवल उन्हीं लोगों को प्रवेश करने दिया जाएगा, जिनके कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज लगी है या फिर पहली डोज लगने के बाद दूसरी डोज का समय शेष है। नियमों की पालना न करने वालों को 500 रुपए से लेकर 5 हजार रुपए तक का चालान है। यदि संस्थाएं इन आदेशों की पालना नहीं करती तो उन पर 5 हजार रुपए का चालान है। इसके अतिरिक्त होटल, बसें, रेलवे या बाजारों में उनके घूमने पर भी प्रतिबंध है। यह आदेश एक जनवरी से लागू हुआ था। परंतु दो दिन छुट्‌टी होने के कारण सरकारी कार्यालय बंद थे। इसलिए 3 जनवरी से आदेश लागू हुए और इस आदेश का पालन भी किया गया। तस्वीरों में देखिए स्थिति…

करनाल सचिवालय में एंट्री के दौरान डीसी निशांत यादव ने भी कोरोना वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट दिखाया। उसके बाद ही वह अंदर गए। डीसी का कहना है कि जब हम खुद एहतियात बरतेंगे, तभी लोगों से भी सतर्क रहने की अपील कर पाएंगे।

करनाल सचिवालय में एंट्री के दौरान डीसी निशांत यादव ने भी कोरोना वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट दिखाया। उसके बाद ही वह अंदर गए। डीसी का कहना है कि जब हम खुद एहतियात बरतेंगे, तभी लोगों से भी सतर्क रहने की अपील कर पाएंगे।

हिसार में सचिवालय एंट्री से पहले सांसद बृजेन्द्र सिंह ने भी अपना कोरोना वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट चेक कराया। सांसद का कहना है कि सरकारी आदेशों का पालन पहले हमें खुद करना होगा, तभी जनता के सामने उदाहरण पेश कर पाएंगे।

हिसार में सचिवालय एंट्री से पहले सांसद बृजेन्द्र सिंह ने भी अपना कोरोना वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट चेक कराया। सांसद का कहना है कि सरकारी आदेशों का पालन पहले हमें खुद करना होगा, तभी जनता के सामने उदाहरण पेश कर पाएंगे।

रेवाड़ी जिला सचिवालय में पुलिसकर्मियों ने वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट चेक करने के बाद ही लोगों को अंदर जाने दिया। शहर में विभिन्न चौक-चौराहों पर ने बगैर मास्क घर से बाहर निकले लोगों के चालान किए।

रेवाड़ी जिला सचिवालय में पुलिसकर्मियों ने वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट चेक करने के बाद ही लोगों को अंदर जाने दिया। शहर में विभिन्न चौक-चौराहों पर ने बगैर मास्क घर से बाहर निकले लोगों के चालान किए।

करनाल में सरकारी कार्यालयों में उन्हीं लोगों को एंट्री दी गई, जिनके पास दोनों डोज लगे होने का सर्टिफिकेट था। जिला सचिवालय के अलावा नगर निगम कार्यालय, अस्पताल समेत सभी कार्यालयों के बाहर कर्मचारी तैनात रहे।

करनाल में सरकारी कार्यालयों में उन्हीं लोगों को एंट्री दी गई, जिनके पास दोनों डोज लगे होने का सर्टिफिकेट था। जिला सचिवालय के अलावा नगर निगम कार्यालय, अस्पताल समेत सभी कार्यालयों के बाहर कर्मचारी तैनात रहे।

हिसार सचिवालय खुलते ही लोगों की लंबी लाइन लग गई थी। क्योंकि उन्हीं लोगों को अंदर जाने दिया जा रहा था, जिनके पास कोरोना वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट था या जिन्होंने वैक्सीन की एक डोज लगवा रखी थी। जिनके पास नहीं था, उन्हें मौके पर ही वैक्सीन लगाई जा रही है।

हिसार सचिवालय खुलते ही लोगों की लंबी लाइन लग गई थी। क्योंकि उन्हीं लोगों को अंदर जाने दिया जा रहा था, जिनके पास कोरोना वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट था या जिन्होंने वैक्सीन की एक डोज लगवा रखी थी। जिनके पास नहीं था, उन्हें मौके पर ही वैक्सीन लगाई जा रही है।

रेवाड़ी में बस स्टैंड में एंट्री के वक्त भी कोरोना वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट की जांच की गई। क्योंकि सरकार का आदेश है कि बसों में उन्हीं को सफर करने दिया जाए, जिन्होंने वैक्सीन लगवा रखी है। अगर ऐसा नहीं है तो मौके पर ही वैक्सीन लगाई जाए।

रेवाड़ी में बस स्टैंड में एंट्री के वक्त भी कोरोना वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट की जांच की गई। क्योंकि सरकार का आदेश है कि बसों में उन्हीं को सफर करने दिया जाए, जिन्होंने वैक्सीन लगवा रखी है। अगर ऐसा नहीं है तो मौके पर ही वैक्सीन लगाई जाए।

करनाल सचिवालय में जहां वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट चेक हो रहे थे। वहां वैक्सीन लगवाने वालों की लंबी लाइन भी लगी दिखी। क्योंकि सरकार ने मौके पर ही वैक्सीन लगाने की व्यवस्था करने के आदेश भी स्वास्थ्य विभाग को दिए हैं।

करनाल सचिवालय में जहां वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट चेक हो रहे थे। वहां वैक्सीन लगवाने वालों की लंबी लाइन भी लगी दिखी। क्योंकि सरकार ने मौके पर ही वैक्सीन लगाने की व्यवस्था करने के आदेश भी स्वास्थ्य विभाग को दिए हैं।

रोहतक में बस स्टैंड में एंट्री के वक्त कोरोना वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट की जांच की गई। इसके लिए बकायदा पुलिसकर्मियों की ड्यूटी लगाई गई है, जो सर्टिफिकेट जांचने के बाद ही लोगों को अंदर जाने दे रहे हैं। किसी भी तरह की कोताही बरतने की गुंजाइश नहीं है।

रोहतक में बस स्टैंड में एंट्री के वक्त कोरोना वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट की जांच की गई। इसके लिए बकायदा पुलिसकर्मियों की ड्यूटी लगाई गई है, जो सर्टिफिकेट जांचने के बाद ही लोगों को अंदर जाने दे रहे हैं। किसी भी तरह की कोताही बरतने की गुंजाइश नहीं है।

फतेहाबाद में सचिवालय के एंट्री गेट पर ही पुलिस ने नाका लगा दिया और आने-जाने वाले लोगों के मास्क न होने के चालान काटे गए। साथ ही लोगों के दोनों डोज के सर्टिफिकेट भी यहां चेक किए गए। बहुत से लोग बिना मास्क आते दिखे, जिन्हें परेशानी का सामना करना पड़ा और जुर्माना भी भरना पड़ा।

फतेहाबाद में सचिवालय के एंट्री गेट पर ही पुलिस ने नाका लगा दिया और आने-जाने वाले लोगों के मास्क न होने के चालान काटे गए। साथ ही लोगों के दोनों डोज के सर्टिफिकेट भी यहां चेक किए गए। बहुत से लोग बिना मास्क आते दिखे, जिन्हें परेशानी का सामना करना पड़ा और जुर्माना भी भरना पड़ा।

सिरसा में लघु सचिवालय के बाहर कोरोना वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट की पुलिसकर्मियों ने जांच की। पुलिस द्वारा लोगों को हिदायत जारी की गई है कि मास्क पहनकर रखें, ताकि केवल चालान से ही नहीं कोरोना से बचा जा सके।

सिरसा में लघु सचिवालय के बाहर कोरोना वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट की पुलिसकर्मियों ने जांच की। पुलिस द्वारा लोगों को हिदायत जारी की गई है कि मास्क पहनकर रखें, ताकि केवल चालान से ही नहीं कोरोना से बचा जा सके।

पानीपत लघु सचिवालय में मास्क लगाए हुए और तापमान चेक करने के बाद ही लोगों को प्रवेश करने दिया जा रहा है। प्रवेश करने के बाद भी कोरोना वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट चेक करके ही आगे जाने दिया जा रहा है।

पानीपत लघु सचिवालय में मास्क लगाए हुए और तापमान चेक करने के बाद ही लोगों को प्रवेश करने दिया जा रहा है। प्रवेश करने के बाद भी कोरोना वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट चेक करके ही आगे जाने दिया जा रहा है।

खबरें और भी हैं…

हरियाणा | दैनिक भास्कर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here