Wednesday, December 8, 2021
HomeStatesJharkhandलापरवाही का निगम: कचरा प्राेसेसिंग, एफएसटीपी और सीएंडडी प्लांट नहीं बने, नतीजा...

लापरवाही का निगम: कचरा प्राेसेसिंग, एफएसटीपी और सीएंडडी प्लांट नहीं बने, नतीजा रैंकिंग 33…जहां के तहां

धनबाद10 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
  • देश के टॉप-20 में अपनी जगह बनाने की उम्मीद पर फिरा पानी

स्वच्छता सर्वेक्षण में धनबाद की स्थिति यथावत रही। रैकिंग में न ताे बढ़ाेतरी हुई और न ही गिरावट अाई। वर्ष 2020 के स्वच्छता सर्वेक्षण में अपना शहर 33वें पायदान पर था और इस साल भी इसी स्थान पर ही रह गया। उम्मीद थी कि इस बार अपना शहर टाॅप-20 में जगह बनाने में सफल रहेगा, लेकिन निगम अपनी कुछ कमियाें को दूर नहीं कर पाया। टाॅप 20 में नहीं आने का सबसे बड़ा कारण कचरा प्राेसेसिंग प्लांट का चालू नहीं हाेना है। कचरा प्राेसेसिंग प्लांट होता तो धनबाद को 1200 अंक मिलते। इस बार के सर्वेक्षण में कुल 4385 शहरी निकाय शामिल थे। इस बार भी सर्वेक्षण 6000 अंकाे का था। धनबाद काे 3462.76 अंक मिले हैं, जाे पिछले साल से 236 अंक अधिक है। पिछले साल का सर्वेक्षण भी 6000 अंकाें का ही था और इसमें धनबाद काे 3226 अंक मिले थे।

पब्लिक फीडबैक से बची इज्जत 1.75 लाख लोगों ने दी अपनी राय
अपने शहर की इज्जत इस बार भी यहां के लाेगाें के कारण ही बची। पब्लिक फीडबैक की कैटेगरी में इस साल धनबाद काे 1800 में 1393.77 अंक मिले हैं, जाे पिछले साल से अधिक है। पब्लिक फीडबैक में इस बार 1.75 लाख लोगों ने राय दी।

कचरा प्रोसेसिंग के लिए जहां जमीन देखी, वहीं हुआ बवाल
निगम बनने के दस साल बाद भी कचरा प्राेसेसिंग प्लांट के लिए एक जमीन नहीं मिल सकी। प्लांट के लिए अब बलियापुर के रघुनाथपुर में जमीन मिली है, लेकिन यहां भी ग्रामीण विराेध कर रहे हैं।

खबरें और भी हैं…

झारखंड | दैनिक भास्कर

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments