Breaking News
DreamHost

रेफ्रिजरेंट्स के साथ AC के आयात पर केंद्र सरकार ने लगाया बैन, नोटिफिकेशन जारी

News 18

केंद्र सरकार ने गुरुवार को तत्काल प्रभाव से रेफ्रिजरेंट्स (Refrigerants) के साथ एयर कंडीशनर (AC) के आयात पर बैन लगा दिया है. इसके लिए अधिसूचना जारी कर दी गई है.

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    October 15, 2020, 11:41 PM IST

नई दिल्ली. केंद्र सरकार ने गुरुवार को तत्काल प्रभाव से रेफ्रिजरेंट्स (Refrigerants) के साथ एयर कंडीशनर (AC) के आयात पर बैन लगा दिया है. इसके लिए अधिसूचना जारी कर दी गई है. घरेलू मैन्युफैक्चरिंग को बढ़ावा देने और गैर-जरूरी सामान के आयात में कमी लाने के इरादे से यह कदम उठाया गया है.

विदेश व्यापार महानिदेशालय (Directorate General of Foreign Trade) ने एक अधिसूचना में कहा, ”रेफ्रिजरेंट्स के साथ एयर कंडीशनर के आयात को लेकर नीति संशोधित की गई है. इसके तहत इसे मुक्त श्रेणी से हटाकर प्रतिबंधात्मक सूची में डाला गया है.”

सरकार घरेलू मैन्युफैक्चरिंग को बढ़ावा देने और गैर-जरूरी सामानों के आयात में कमी लाने के लिए कदम उठा रही है. इससे पहले, जून में सरकार ने कार, बसों और मोटरसाइकिल में उपयोग होने वाले नए न्यूमैटिक टायर के आयात पर पाबंदी लगाई थी. अल्कोहल बेस्ड हैंड सैनिटाइजर का किया जा सकेगा निर्यात
अब अल्कोहल बेस्ड हैंड सैनिटाइजर का निर्यात किया जा सकेगा. कोरोना महामारी में भारत सहित पूरी दुनिया में हैंड सैनिटाइजर की मांग में काफी बढ़ोत्तरी देखने को मिली है. दूसरी तरफ भारतीय सैनिटाइजर कंपनियां अपने उत्पाद दुनिया के बाजारों में बेचना चाहती है. इन्ही तथ्यों को देखते हुए केंद्र सरकार ने यह अहम फैसला लिया.

इससे पहले भारत में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए केंद्र सरकार ने इसके निर्यात पर रोक लगा दी थी. लेकिन मांग से अधिक उत्पादन होने की स्थिति में आते ही केंद्र सरकार ने इन नियमों में ढील देने का फैसला किया है. वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय ने अपने 1 जून 2020 के नोटिफिकेशन में संशोधन करते हुए फैसला लिया है कि डिस्पेंसर पंप के साथ कंटेनर में अल्कोहल आधारित हैंड सैनिटाइजर का निर्यात किया जा सकेगा. गुरुवार को जारी किए गए नोटिफिकेशन में कहा गया है कि यह संशोधन तत्काल प्रभाव से लागू होगा.

(अनिल कुमार और भाषा इनपुट)

Latest News मनी News18 हिंदी

Free WhoisGuard with Every Domain Purchase at Namecheap

About rnewsworld

Check Also

M-cap के हिसाब से जानिए इंडिया के टॉप-10 बैंक में कौन है आगे, चेक करें लिस्ट

ACE Equity की ओर से जारी किए गए आंकड़ों के मुताबिक, प्राइवेट सेक्टर के इस …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Bulletproof your Domain for $4.88 a year!