Sunday, December 5, 2021
HomeStatesHaryanaराजस्व रिकार्ड का डिजिटलीकरण: सीएम मनोहर बोले- हरियाणा को कागजों की गठरियों...

राजस्व रिकार्ड का डिजिटलीकरण: सीएम मनोहर बोले- हरियाणा को कागजों की गठरियों से मिला छुटकारा, तकनीक के साथ हुआ नया सवेरा

करनाल2 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

वीसी को संबोधित करते हुए सीएम मनोहर लाल।

सीएम मनोहर लाल ने कहा है कि प्रदेश में राजस्व रिकार्ड को डिजिटल करना बड़ा क्रांतिकारी कदम है। कागज की गठरियों से पीछा छूट गया है और लोगों के लिए यह नया सवेरा है। सीएम ने चंडीगढ़ से वीडियो कॉन्फ्रेंस द्वारा डीसी और अधिकारियों को संबोधित करते हुए कहा कि सरकार की उत्कृष्ट व्यवस्था को अन्य राज्य भी अपना रहे हैं। राजस्व रिकार्ड अब पूरी तरह से सुरक्षित रहेगा।

आधुनिक राजस्व रिकार्ड रूम को देखते हुए अधिकारी।

आधुनिक राजस्व रिकार्ड रूम को देखते हुए अधिकारी।

उप-मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने बताया कि प्रदेश में अब तक करीब 18 करोड़ 70 लाख कागजात स्कैन किए जा चुके हैं। ऑनलाइन व्यवस्था से पारदर्शिता बढ़ेगी, साथ ही लोगों को अपने कागजात लेने में किसी प्रकार की परेशानी नही होगी। सरकार का कदम पूरी तरह से जनहितैषी है।

ये रिकार्ड हुआ डिजिटाइजेशन

डीसी प्रदीप दहिया ने बताया कि कैथल में 33 लाख से अधिक दस्तावेजों को स्केन करके ऑनलाइन किया गया है। मैनुअल रिकार्ड को स्टील की पेटियों में सुरक्षित रखा जाएगा। वर्ष 1956 से जिला की 278 जमाबंदियों, जिसके लगभग 59 लाख दस्तावेज व वर्ष 1956 से फील्ड बुक, जिसके अंदर लगभग 5 लाख दस्तावेज तथा वर्ष 2012 से 12 लाख पेजों का डिजिटाइजेशन किया गया है।

आधुनिकीकरण की जानकारी लेते हुए अधिकारी।

आधुनिकीकरण की जानकारी लेते हुए अधिकारी।

एक क्लिक पर मिलेगा राजस्व रिकार्ड

वित्तायुक्त संजीव कौशल ने कहा कि संबंधित कर्मियों की मेहनत और लग्र के साथ किए गए राजस्व रिकार्ड संबंधित कार्यों से व्यवस्था अपेक्षाकृत अधिक पारदर्शी हुई है। जिला स्तर पर ऑनलाइन व्यवस्था से बदलाव आएगा। एक क्लिक से ही राजस्व रिकार्ड की प्रतियां उपलब्ध हो जाएगी।

खबरें और भी हैं…

हरियाणा | दैनिक भास्कर

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments