Monday, November 29, 2021
HomeStatesChhattisgarhयूनिसेफ दे रहा बच्चों को स्कूल भेजने का मैसेज: मॉल में खाली...

यूनिसेफ दे रहा बच्चों को स्कूल भेजने का मैसेज: मॉल में खाली क्लासरूम का सेटअप लगाकर पैरेंट्स को समझाया- बच्चों से दूर होगा ये सूनापन

रायपुर4 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

रायपुर के मॉल में यूनिसेफ की सूनी क्लास रूम।

यूनिसेफ अब कोरोना संक्रमण के मामलों के घटने के बाद पैरेंट्स को स्कूल को लेकर अवेयर कर रहा है। युनाइटेड नेशंस का ये संगठन रायपुर में भी इस अभियान को चला रहा है। इसे लेकर रायुपर के मेग्नोटो मॉल में एक सेटअप तैयार किया गया। इसमें बेंच थीं, स्कूल बैग थे और किताबें भी। मगर ये क्लास रूम बच्चों के बिना सूनी थी। यूनिसेफ ने रायपुर में इस सूने क्लास रूम को दिखाकर पैरेंट्स से बच्चों को स्कूल भेजने की अपील की।

यूनिसेफ छत्तीसगढ़ के जॉब जकारिया ने बताया कि स्कूल के इस सूने क्लास रूम को दिखाकर हम पैरेंट्स से अपील कर रहे हैं कि ये सूनापन सिर्फ बच्चे ही दूर कर सकते हैं। कोविड प्रोटोकॉल को समझकर पैरेंट्स से बच्चों को स्कूल भेजने की अपील हम कर रहे हैं। प्रदेश में सभी स्कूल पूरी तरह से शुरू किए जा चुके हैं। सरकार और प्राइवेट स्कूल दोनों ही कक्षाओं में कोविड प्रोटोकॉल की जिम्मेदारी निभा रहे हैं। ऐसे में सीखने और पढ़ने की थम चुकी कड़ी को दोबारा स्कूल जाकर बच्चे शुरू कर सकते हैं।

सीखने की ललक कम न हो
यूनिसेफ ने पैरेंट्स को बताया कि लंबे वक्त से बच्चे कोविड की वजह से स्कूल नहीं जा पाए। ऐसे में जरूरी है कि अब उन्हें स्कूल भेजा जाए। स्कूल में एक डिस्पलिन माहौल में बच्चों को सीखने जानने का मौका मिलता है। इस तरह जागरुकता अभियान यूनिसेफ ग्रामीण इलाकों में भी चला रहा है ताकि पैरेंट्स बच्चों को स्कूल भेजें। युनिसेफ छत्तीसगढ़ के बहुत से स्कूल में फन लर्निंग के कॉन्सेप्ट भी पहुंचा रहा है ताकि बच्चों काे स्कूल जाने में मजा आए।

खबरें और भी हैं…

छत्तीसगढ़ | दैनिक भास्कर

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments