Monday, November 29, 2021
HomeStatesBiharमुजफ्फरपुर सदर अस्पताल में रजिस्ट्रेशन कराने की नई व्यवस्था लागू: 2 रुपये...

मुजफ्फरपुर सदर अस्पताल में रजिस्ट्रेशन कराने की नई व्यवस्था लागू: 2 रुपये का पर्ची कटाने के लिए नहीं देने पर अतिरिक्त रुपये, काउंटर पर लगेंगे क्यू आर कोड

मुजफ्फरपुर16 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

मुजफ्फरपुर सदर अस्पताल ।

मुजफ्फरपुर जिले के सदर अस्पताल में मरीजों को रेजिस्ट्रेशन कराने के लिए अब अतिरिक्त रुपये देने की जरूरत नही पड़ेगी। दरअसल, ओपीडी में इलाज कराने आए मरीजों के लिए जल्द ही रजिस्ट्रेशन काउंटर पर क्यू आर कोड लग सकती है। इस व्यवस्था से मरीजों को दाे रूपया के सिक्का से निजात मिल जाएगा। अस्पताल प्रशासन ने इसकी तैयारी शुरू कर दी है। इसके तहत मरीजों काे दाे रूपया नहीं रहने पर उससे अधिक देने की जरूरत नहीं पड़ेगी। मरीज या उसके परिजन अपने मोबाइल से क्यू आर कोड काे स्कैन कर दाे रूपया पेमेंट करेंगें। इससे अधिक रुपये देने की जरूरत नही पड़ेगी।

छुट्टा नहीं होने का खेल हो जाएगा बंद:

यह व्यवस्था शुरू हाेने के बाद छुट्टा नही होने का खेल बंद हो जाएगा। मरीज या उसके परिजन रजिस्ट्रेशन पर दाे रूपये के बदले एक रुपये भी अतिरिक्त नहीं देंगे। सदर अस्पताल के ओपीडी में औसतन हर दिन करीब 500 से अधिक मरीज आते है। इन में अधिकतर के पास दाे रूपया का सिक्का नहीं हाेता है, ताे वह पांच रूपया देते है। काउंटर पर बैठे कर्मी छुट्टा नहीं हाेने का हवाला देते हुए पैसा रख लेते है। बीते दिनों सदर अस्पताल के ओपीडी में 497 मरीजों ने अपना रजिस्ट्रेशन कराया था। इसकी शिकायत मिलने के बाद डीपीएम भागवान प्रसाद वर्मा ने सिविल सर्जन काे एक प्रस्ताव भेजा है। उस में उन्होंने कहा है कि रजिस्ट्रेशन काउंटर पर क्यू आर कोड लगया जाए ताकि मरीजों काे दाे रूपया के बदले जाे पांच रूपया लगता है, इस पर रोक लग सकें।

स्मार्टफोन नही है जिनके पास उनके लिए चुनौती :

बताया गया कि जिनके पास स्मार्टफोन होगा वैसे लोग आसानी से पेमेंट कर सकेंगे। लेकिन, जिनके पास स्मार्टफोन नही होगा उनके लिए थोड़ी मुश्किल होगी। लेकिन, वे सामान्य रूप से रेजिस्ट्रेशन करवा सकते है। बताया गया कि अस्पताल में अधिकतर महिलाएं इलाज के लिए आती है। सभी के पास स्मार्टफोन नहीं है। इन में से कई नेटबैंकिंग का उपयोग भी नहीं करतें है। ऐसे मरीजों काे परेशानी भी हाे सकती है। हालांकि डीपीएम ने अपने प्रस्ताव में कहा है कि जिन लाेगाें के पास स्मार्टफोन में नेटबैंकिंग नहीं है वह दाे रूपया का सिक्का देकर अपना रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं।

डीपीएम भागवान प्रसाद वर्मा ने कहा कि काफी दिनाें से मरीजों से शिकायत मिल रहीं थी कि दाे रूपया के बदले पांच रूपया लिया जा रहा है। इस शिकायत काे दूर करने के लिए रजिस्ट्रेशन काउंटर पर क्यू आर कोड लगाने का प्रसताव दिया गया है। अगले सप्ताह तक राजिष्ट्रेशन काउंटर पर यह व्यवास्था लगू कर दिया जाएगा।

खबरें और भी हैं…

बिहार | दैनिक भास्कर

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments