मुजफ्फरपुर में छात्र की हत्या पर हंगामा: SSP समेत छह थानों की पुलिस पहुंची, वर्चस्व की लड़ाई और त्रिकोणीय प्रेम प्रसंग की चर्चा

0
33

मुजफ्फरपुर3 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

मुजफ्फरपुर में छात्र की हत्या पर हंगामा।

मुजफ्फरपुर जिले के काजीमोहम्मदपुर थाना क्षेत्र के माड़ीपुर मदरसा रोड के रहने वाले छात्र मोहम्मद यासिर की हत्या के दूसरे दिन जमकर हंगामा हुआ। शनिवार को पोस्टमार्टम के बाद शव को परिजन को सौंप दिया गया। इसके बाद लाश लेकर लोग माड़ीपुर पहुंचे और जमकर हंगामा करना शुरू कर दिया। सैकड़ों लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी। जमकर हंगामा और प्रदर्शन करने लगे। स्थिति बिगड़ती देख काजीमोहम्मदपुर, मिठनपुरा, सदर, टाउन और ब्रह्मपुरा समेत अन्य थाना की पुलिस मौके पर पहुंची। SDO पूर्वी ज्ञान प्रकाश, DSP वेस्ट अभिषेक आनन्द और DSP रेल भी मौके पर पहुँचकर आक्रोशितों को समझाने में जुट गए। लोग आरोपियों की अविलंब गिरफ्तारी की मांग करने लगे। स्थिति की गंभीरता को भांपते हुए पुलिस लाइन से अतिरिक्त फोर्स भी बुलाया गया। पुलिस अफसरों ने लोगों को समझाकर शीघ्र ही शांत करा लिया। कुछ देर बाद SSP जयंतकांत भी पहुंचे। घटनास्थल का जायजा लिया। पीड़ित परिवार से मिलकर कार्रवाई का आश्वासन दिया गया। फिलहाल एहतियातन पुलिस बल तैनात है।

कल दफनाया जाएगा यासिर का शव :

यासिर को शनिवार को नहीं दफनाया जाएगा। उसके पिता सऊदी से आ रहे हैं। कल वे पहुंचेगे। इसके बाद शव को दफनाया जाएगा। फिलहाल इसे फ्रीज में रखा गया है। पूरे मोहल्ले में मातम का माहौल पसरा हुआ है। हर किसी की आंखे नम है। वहीं अंदर ही अंदर एक आक्रोश भी है, जो रह-रहकर बाहर आ रहा है। पुलिस अफसर फौरन शांत कराने में जुट जाते हैं।

पांच लोगों पर नमाजद FIR :

मृतक यासिर की बहन सम्मुख के बयान पर पांच युवकों को आरोपी बनाया है। इसमें गोलू सिंह, प्रीतम ठाकुर, विक्रम और हर्ष समेत अन्य है। पुलिस सूत्रों की माने तो प्रीतम और गोलू मुख्य आरोपी हैं। देर रात पुलिस ने दामुचक में प्रीतम के घर पर छापेमारी भी की। उसके पिता को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया गया है। वहीं अन्य नामजद का कोई सुराग नहीं मिला है। वैशाली में भी एक टीम रेड कर रही है।

मामले की जांच करती पुलिस।

मामले की जांच करती पुलिस।

उत्कर्ष समेत दो से पूछताछ में अहम जानकारी :

पुलिस के एक अफसर ने बताया कि मृतक के सबसे क्लोज फ्रेंड उत्कर्ष समेत दो को पुलिस ने पूछताछ के लिए देर रात हिरासत में लिया था। उसने बताया कि शुक्रवार शाम यासिर और रेहान चाय दुकान पर थे। तभी उसे पता लगा कि गोलू और प्रीतम यासिर को खोज रहे हैं। वह भागकर आया और यासिर को इसकी जानकारी दी। इधर से वे लोग स्पीकर चौक पहुंचे। वहां गोलू समेत अन्य से मुलाकात हुई। देखते-देखते मारपीट शुरू हो गयी। एक झोपड़ीनुमा दुकान में रेहान और यासिर के साथ गोलू और उसके गिरोह के लड़के मारपीट करने लगे। उत्कर्ष वहां से कुछ दूरी पर था। इसी दौरान चार-पांच राउंड गोली चलने की आवाज सुनी। वह जब वहां पहुंचा तो देखा कि सभी फरार है। सिर्फ यासिर और रेहान खून से लथपथ होकर पड़े हैं। इसके बाद उठाकर हॉस्पिटल ले गया।

कंधे के पास लगी थी गोली :

यासिर का पोस्टमार्टम रिपोर्ट आ गया। जिसमें गोली लगने और गला दबाने से मौत की बात है। कंधे के पास उसे गोली लगी थी। कल परिजन ने पुलिस को शव देखने नहीं दिया था। इसके अलावा खून भी अधिक निकला हुआ था। इस कारण गोली की बात नहीं पता लगी थी। लेकिन, अब पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने पर गोली लगने की पुष्टि हो गयी है।

काफी दिनों से चल रही थी लड़ाई :

यासिर से जुड़े कुछ लोग बताते हैं कि गोलू और प्रीतम का अलग गिरोह था। वहीं यासिर का अलग ग्रुप था। इनदोनो में कभी नहीं बनी। 10 दिन पूर्व भी वर्चस्व को लेकर टकराव हुआ था। इसके अलावा एक सूत्र बताते हैं कि इस पूरी घटना में त्रिकोणीय प्रेम प्रंसग का मामला प्रतीत होता है। इस को लेकर भी हत्या करने की बात सामने आई है। हालांकि परिजन या पुलिस के अधिकारी अभी इसकी पुष्टि नहीं कर रहे हैं।

इधर, SSP ने बताया कि घटना में संलिप्त सभी आरोपियों को शीघ्र दबोच लिया जाएगा। पुलिस की विशेष टीम कई जिलों में रात से ही रेड कर रही है। कुछ संदिग्धों को हिरासत में लेकर पूछताछ भी की जा रही है।

खबरें और भी हैं…

बिहार | दैनिक भास्कर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here