मालविका के कांग्रेसी बनने के मायने: 15 में से 9 बार जीती मोगा सीट; मालवा की 69 सीटों पर सोनू सूद का प्रभाव भी देख रही कांग्रेस

0
35

लुधियाना2 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

बॉलीवुड एक्टर सोनू सूद की बहन मालविका सूद सच्चर कांग्रेसी हो गई हैं। यह लगभग तय हो गया है कि मोगा विधानसभा सीट पर वे कांग्रेस की तरफ से चुनाव लड़ने जा रही हैं। मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी और पंजाब मामलों के प्रभारी हरीश चौधरी मोगा पहुंच रहे हैं। वे मालविका की उम्मीदवार का औपचारिक ऐलान करेंगे। बेशक रविवार को उम्मीदवारी अनाउंस नहीं हो सके, मगर कांग्रेस में उन्हें औपचारिक रूप से जरूर शामिल कर लिया जाएगा। यह भी कहा जा रहा है कि मालविका ने ऑनलाइन सदस्यता तो ले ली है। इसके बाद कुछेक कांग्रेसियों ने मालविका के घर जाकर उनके साथ मुलाकात भी कर ली है। भले मालविका इस पर चुप हैं और कुछ भी कहने को तैयार नहीं हैं, मगर कांग्रेसियों ने मोगा से विधायक हरजोत कमल से दूरियां कल से ही बना ली हैं और उन्हें हाइकमान से गुप्त आदेश भी मिल गए हैं।

कांग्रेसी पृष्ठभूमि वाली सीट है मोगा, इसलिए कांग्रेस चुनी

मोगा विधानसभा सीट कांग्रेसी सीट है। 1957 के बाद हुए 15 विधानसभा चुनाव में 9 बार कांग्रेस जीती है। 2017 के चुनाव के दौरान हरजोत कमल ने आम आदमी पार्टी को मात दी थी। अगर यहां पर अकाली दल या दूसरी पार्टियों की जीत हुई भी तो कांग्रेसियों ने ही उनका साथ दिया है। यही कारण है कि लंबी सोच विचार के बाद सूद परिवार ने कांग्रेस के साथ जाने का मन बनाया है। सोनू सूद नहीं चाहते हैं कि किसी भी गलती से बहन हार जाए, क्योंकि हार का असर उन पर पड़ना लाजिमी है।

मोगा में साइकिल बांटने की मुहिम के दौरान सोनू सूद व मालविका सूद।

मोगा में साइकिल बांटने की मुहिम के दौरान सोनू सूद व मालविका सूद।

कैप्टन, चन्नी, बादल और केजरीवाल से मुलाकात कर चुके सोनू

सोनू सूद ने अपनी बहन को चुनाव मैदान में उतारने का मन काफी पहले ही बना लिया था और इसके लिए तैयारी भी की जा रही थी। शुरू से ही कई कांग्रेसी उनके साथ देखे गए। पहले बड़ा मेडिकल कैंप, बाद में ई-रिक्शा बांटना और युवतियों को साइकिल बांटने जैसे काम सोनू सूद ने पिछले एक माह में ही किए हैं। जोगिंदर पाल जैन के कांग्रेस को अलविदा कहकर शिरोमणि अकाली दल में चले जाने के बाद हरजोत कमल ने पहले शहर में संस्थाओं पर अपनी पकड़ बनाई थी और जीत पाए थे, अब सोनू सूद इस पर काम कर रहे हैं।

पंजाब में कैंपेन करवाना चाहती है कांग्रेस

कांग्रेस हाईकमान भी चाहती है कि सोनू सूद की बहन कांग्रेस में आएं और चुनाव लड़ें। क्योंकि इसका सीधा फायदा पंजाब के मालवा की 69 सीटों पर कांग्रेस की तरफ से देखा जा रहा है। यह भी कहा जा रहा है कि पार्टी चाहती है कि सोनू सूद उनके लिए पांच राज्यों में चुनाव प्रचार करें। अगर सोनू की बहन कांग्रेस में आती है तो इसका फायदा जरूर पार्टी को होगा। यही कारण है कि हाईकमान के आदेश पर प्रदेश के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी और हरीश चौधरी खुद मोगा उनके घर जा रहे हैं, जबकि यह ऐलान चंडीगढ़ में भी हो सकता था।

खबरें और भी हैं…

पंजाब | दैनिक भास्कर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here