Monday, November 29, 2021
HomeStatesBiharमतगणना से पहले पंसस प्रत्याशी के पति का मर्डर: गया में शाम...

मतगणना से पहले पंसस प्रत्याशी के पति का मर्डर: गया में शाम को घर से निकला था, सुबह मिली लाश; विरोध में सड़क पर हंगामा

  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Murder Of Husband Of Panchayat Samiti Member Candidate Before Counting Of Votes In Gaya

गया2 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

घटना के बाद रोकर-रोकर बुरा हाल है।

गया में पंचायत समिति सदस्य प्रत्याशी के पति की हत्या कर दी गई। अपराधियों ने यह हत्या पंचायत चुनाव के 8वें चरण की मतगणना से ठीक पहले की है। लोग चुनाव रंजिश में हत्या की बात कह रहे हैं। उसका चेहरा ईंट-पत्थरों से कूचा गया था। शरीर पर भी चाकू से गोदने के निशान थे।

ऐसा प्रतीत होता है कि अपराधियों ने पहले उसके साथ जमकर मारपीट की। इसके बाद ईंट पत्थर से चेहरे को कूच दिया। फिर चाकू गोदकर मार डाला। घटना अति नक्सल प्रभावित क्षेत्र के इमामगंज के गेजना गांव की है। शुक्रवार सुबह पंसस प्रत्याशी के पति साहिल कुमार प्रीत की लाश सड़क किनारे लोगों ने देखा दंग रह गए।

हत्या कब और किसने की है?, इसकी भनक अब तक किसी को नहीं लग सकी है। वहीं, मृतक के परिजनों ने शव को इमामगंज मुख्य मार्ग पर रखकर रोड जाम कर दिया। वह हत्यारे की गिरफ्तारी की मांग को लेकर हंगामा करने लगे। परिजनों का कहना है, ‘मृतक की पत्नी तनुजा भारती ने पंचायत समिति सदस्य का चुनाव लड़ा है। चुनावी रंजिश में ही उसकी हत्या की गई है।’

कॉल डिटेल खंगाल रही पुलिस

इधर, घटना की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंच गई और लोगों को समझा- बुझा कर शांत करवाया। पुलिस का कहना है, ‘मामले की छानबीन की जा रही है। मृतक के कॉल डिटेल को खंगाला जा रहा है। उसके आधार पर ही कुछ जानकारी हासिल होने के बाद अपराधियों को पकड़ा जा सकेगा। कुछ लोगों से पूछताछ की जा रही है।’

पंसस प्रत्याशी का रो-रोकर बुरा हाल

परिजनों का कहना है, ‘साहिल गुरुवार शाम घर से बाइक से निकला था। देर शाम तक जब वह नहीं नहीं लौटा तो छानबीन की। कहीं कुछ पता नहीं चला। इस बीच रात भी हो गई। देर रात जब उसके मोबाइल पर फोन किया तो उसका मोबाइल भी बंद मिलने लगा। रात का समय होने की वजह से आसपास के इलाके में छानबीन कर शांत हो गए। आज सुबह साहिल का शव सड़क किनारे मिलने की सूचना मिली।’ घटना के बाद उसकी पत्नी तनुजा भारती बेसुध पड़ी है। उसका रो-रोकर बुरा हाल है।

खबरें और भी हैं…

बिहार | दैनिक भास्कर

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments