Monday, November 29, 2021
HomeStatesHaryanaमंडे पॉजिटिव: आईएएस से लेकर मॉडलिंग में कॅरिअर बनाने को तैयार मंगलमुखी,...

मंडे पॉजिटिव: आईएएस से लेकर मॉडलिंग में कॅरिअर बनाने को तैयार मंगलमुखी, जीवनयापन के लिए हमेशा संघर्ष करने वाले मंगलमुखियों के 5 प्रेरणादायक किस्से

  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Hisar
  • Mangalmukhi Ready To Make A Career In Modeling From IAS, 5 Inspirational Tales Of Mangalmukhi Who Have Always Struggled For A Living

हिसारएक घंटा पहलेलेखक: महबूब अली

  • कॉपी लिंक

शिल्पा मेहरा, सपना, चंद्रमुखी

जीवनयापन के लिए हमेशा संघर्ष करने वाले मंगलमुखी अब देशभर में अपना नाम रोशन करते हुए मिसाल कायम कर रहे हैं। काेई मंगलमुखी एमए इंग्लिश, बीएड और बीए कर जहां आईएएस से लेकर शिक्षक, माॅडलिंग की तैयारी कर रहे हैं।

वहीं, कुछ जरूरतमंद बच्चाें काे नि:शुल्क शिक्षा भी दे रहे हैं। हिसार के अग्रसेन भवन मे चल रहे मंगलमुखियाें के राष्ट्रीय सम्मेलन में हरियाणा के अलावा यूपी, राजस्थान, पंजाब, उत्तराखंड के मंगलमुखियाें ने भाग लिया। ग्रेजुएशन से लेकर पाेस्ट ग्रेजुएशन की पढ़ाई कर बड़े पदाें पर आसीन हाेने के लिए प्रयासरत कुछ मंगलमुखी प्रमुखाें ने भास्कर से विशेष बातचीत की। पढ़िए मंगलमुखियाें से बातचीत के अंश…

आईएएस बनकर देश की सेवा करना चाहती हूं: शिल्पा

मैं राजस्थान के भादरा की रहने वाली हूं। लाेगाें के घराें में जाकर जहां बधाई लेती हूं। वहीं, इसी साल एमए इंग्लिश भी किया है। आईएएस की तैयारी कर रही हूं। पिछले चार साल से30 से अधिक जरूरतमंद बच्चाें काे निशुल्क शिक्षा देती हूं। -शिल्पा मेहरा, प्रमुख, राजस्थान, भादरा।

माॅडल बनने के लिए प्रतिदिन 6 घंटे कर रहीं मेहनत: सपना

मैं यूपी के झांसी की रहने वाली हूं। एमए तक पढ़ी हूं। माॅडल बन समाज का नाम राेशन करना चाहती हूं। अगले साल बीएड की पढ़ाई करूंगी। साथ ही मुंबई जाकर माॅडलिंग में करिअर बनाऊंगी। प्रतिदिन 6 घंटे मेहनत कर रही हूं। -सपना, मंगलमुखी प्रमुख, झांसी।

अध्यापक बनने का लक्ष्य, अब नि:शुल्क पढ़ा रहीं: चंद्रमुखी

मैं पंजाब के संगरूर की रहने वाली हूं। बीएड करने के बाद आसपास के 50 से अधिक बच्चाें काे नि:शुल्क पढ़ा रही हूं। अध्यापक बनकर देश सेवा करना ही लक्ष्य है। माैका दिया जाए ताे वे बुलंदी काे छू सकते हैं।-चंद्रमुखी, प्रमुख, संगरूर, पंजाब।

जब तक जीवित रहूंगी, पढ़ाई करती रहूंगी : मंदीपा

मैं तेलंगाना की रहने वाली हूं। एक साल पहले ही बीए की थी। अब एमए कर रही हूं। लाेगाें से बधाई मांगने के साथ-साथ शिक्षक बनकर नाम राेशन करना चाहती हूं। सरकार से मांग है कि उन्हें भी सरकारी नाैकरी करने का माैका दिया जाए। रात में प्रतिदिन 2 से 3 घंटे पढ़ाई करती हूं, ताकि समाज का नाम चमकाकर संदेश दे सकूं।-मंदीपा, मंगलमुखी प्रमुख, तेलंगाना।

कुछ फर्जी मंगलमुखी करवा रहे हमारी फजीहत: राज हसीना

हिसार की मंगलमुखी प्रमुख राज हसीना और शाेभा नेहरू का कहना है कि आज के समय में मंगलमुखी भी िकसी से कम नहीं हैं। वह अच्छी तालीम हासिल कर नाम राेशन कर रहे हैं। मगर कुछ फर्जी मंगलमुखी गलत कार्य कर असली मंगलमुखियाें काे बदनाम करते हैं। ऐसे फर्जी मंगलमुखियाें पर प्रशाासन काे अंकुश लगाना चाहिए। काेई भी गलत कार्य फर्जी मंगलमुखी करते हैं, जबकि बदनामी उनहें झेलनी पड़ती है।​​​​​​​

खबरें और भी हैं…

हरियाणा | दैनिक भास्कर

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments