ब्रिटेन की ब्यूटी क्वीन को US में एंट्री नहीं मिली: लीन क्लाइव बोलीं- सीरिया में जन्मी इसलिए मिसेज वर्ल्ड में हिस्सा लेने के लिए अमेरिका ने नहीं दिया वीजा

0
51

लंदन31 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

ब्रिटेन की एक ब्यूटी क्वीन को ग्लोबल ब्यूटी कांटेस्ट ‘मिसेज वर्ल्ड’ में हिस्सा लेने के लिए अमेरिका जाने की अनुमति नहीं मिल पाई है। मॉडल लीन क्लाइव का कहना है कि उन्हें वीजा देने से इसलिए मना कर दिया गया, क्योंकि उनका जन्म सीरिया में हुआ है।

ईस्ट यॉर्कशायर के हेसल की रहने वाली 29 साल की लीन क्लाइव को मिसेज वर्ल्ड फाइनल में ब्रिटेन का प्रतिनिधित्व करना है। वह पेशे से डॉक्टर हैं और अभी उनकी ट्रेनिंग चल रही है। बीबीसी न्यूज ने क्लाइव के हवाले से बताया कि अमेरिका के लास वेगास जाने के लिए उनके परिवार को वीजा दिया गया था, लेकिन उन्हें वीजा देने से मना कर दिया गया क्योंकि वह सीरिया के दमिश्क में पैदा हुई थीं। हालांकि अमेरिकी अधिकारियों ने क्लाइव के मामले में कोई भी टिप्पणी करने से इनकार कर दिया।

लीन क्लाइव 2013 से ब्रिटिश नागरिक हैं और पेशे से डॉक्टर हैं। (फोटो-इंस्टाग्राम)

लीन क्लाइव 2013 से ब्रिटिश नागरिक हैं और पेशे से डॉक्टर हैं। (फोटो-इंस्टाग्राम)

महिला मुद्दों और शरणार्थियों पर किया काम
शादीशुदा क्लाइव 2013 से ब्रिटेन में रह रही हैं। उन्होंने अंग्रेजी बोलना सीख लिया है। उन्होंने महिला समानता और शरणार्थियों के अधिकारों के लिए भी अभियान चलाया है। वह 15 जनवरी को 35वें वार्षिक मिसेज वर्ल्ड इवेंट में भाग लेने वाली थीं। इस इवेंट में 57 अन्य प्रतिभागी हिस्सा लेने वाले थे। इस ब्यूटी कांटेस्ट में शादीशुदा महिलाएं हिस्सा लेती हैं।

बहरहाल, वीजा नहीं मिलने का मतलब है कि ब्रिटेन इस इवेंट में अपना कोई प्रतिनिधि नहीं भेजेगा। क्लाइव ने कहा, “मैंने ब्रिटिश पासपोर्ट के साथ आवेदन किया था। मैं ब्रिटेन का प्रतिनिधित्व कर रही हूं और मैं एक ब्रिटिश नागरिक हूं। लेकिन मुझे ये नहीं पता था कि मुझे अमेरिका में एंट्री से रोक दिया जाएगा।”

क्लाइव ने कहा, “मेरे पति और मेरी बच्ची को वीजा मिल गया था, लेकिन मुझे मना कर दिया गया था, और यह सब सिर्फ मेरे जन्मस्थान की वजह से हो रहा है।”

पति और बच्ची को अमेरिका जाने की इजाजत मिल गई लेकिन लीन क्लाइव को वीजा नहीं दिया गया। (फोटो-इंस्टाग्राम)

पति और बच्ची को अमेरिका जाने की इजाजत मिल गई लेकिन लीन क्लाइव को वीजा नहीं दिया गया। (फोटो-इंस्टाग्राम)

वहीं हल वेस्ट और हेसल लेबर सांसद एम्मा हार्डी ने कहा कि वह हस्तक्षेप करने और हालात को सुधारने की कोशिश कर रही हैं। क्लाइव ने अमेरिकी दूतावास से प्रतियोगिता में भाग लेने के लिए समय पर वीजा देने के लिए “कॉमन सेंस” का इस्तेमाल करने की अपील की है। उन्होंने कहा, “मुझे अब भी उम्मीद है। मुझे पता है कि टाइम कम है लेकिन अगर दूतावास का कोई व्यक्ति मेरे आवेदन को देख सकता है तो चीजें अलग हो सकती हैं।”

अमेरिकी प्रशासन सीरिया को लेकर सख्त
अपनी वेबसाइट पर, अमेरिकी सरकार का कहना है कि जो वीजा आवेदक राज्य प्रायोजित आतंकवाद वाले देशों के नागरिक हैं, उनका इंटरव्यू एक कांसुलर अधिकारी को करना चाहिए। सीरिया की गिनती उन देशों में की जाती है, जहां आतंकवाद को राज्य प्रायोजित माना जाता है।

मिसेज वर्ल्ड प्रतियोगिता चर्चा में कब आई
मिसेज वर्ल्ड प्रतियोगिता पिछले साल तब सुर्खियों में आई थी जब तत्कालीन विजेता कैरोलिन जूरी ने कथित तौर पर एक साथी ब्यूटी क्वीन को एक मंच पर बस्ट-अप में घायल कर दिया था।

खबरें और भी हैं…

विदेश | दैनिक भास्कर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here