Monday, November 29, 2021
HomeStatesMadhya Pradeshबैतूल में झकझोर देने वाला मामला: स्कूल बस के छूटने पर रोते...

बैतूल में झकझोर देने वाला मामला: स्कूल बस के छूटने पर रोते हुए घर आया, यूनिफार्म में ही घर के पीछे जाकर पेड़ पर लटका

बैतूल3 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

मौत के बाद अस्पताल परिसर में बेटे को उठ जाने का कहती हुई मां।

घोड़ाडोंगरी के आमडोह गांव में सोमवार काे एक ऐसी घटना घटी, जिसे सुनकर हर कोई सन्न रह गया। एक बच्चे को स्कूल और पढ़ाई से इस कदर प्यार था कि एक दिन स्कूल क्या चूका, उसने जीना ही होड़ दिया। सोमवार को वह घर से स्कूल जाने के लिए निकला, लेकिन उसके स्टाप पहुंचते-पहुंचते स्कूल बस छूट गई। छात्र रोते हुए घर पहुंचा और कुछ देर बाद उसने घर के पीछे पेड़ पर रस्सी डालकर फंदे पर झूल गया। बच्चे ने अपनी यूनिफार्म तक नहीं उतारी थी। छात्र एक दिन भी स्कूल मिस नहीं करता था। कोरोनाकाल में भी वह स्कूल को बहुत मिस किया करता था।

घोड़ाडोंगरी पुलिस चौकी प्रभारी रवि शाक्य के मुताबिक 14 साल का राहुल पिता प्रफुल्ल सरदार 9वीं का छात्र था। सोमवार को वह स्कूल जाने के लिए घर से निकलकर सड़क पर पहुंचा, लेकिन उसकी बस छूट गई। वह रोते हुए घर आया और उसने घर के पीछे आम के पेड़ पर फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। राहुल के चाचा कनिक सरदार ने बताया कि राहुल रोजाना स्कूल जाता था, वह कभी स्कूल मिस नहीं करता था। आज स्कूल मिस होने से वह बहुत दुखी था। इसी कारण उसने आम के पेड़ पर फांसी लगा ली।

बच्चों की गतिविधियों पर ध्यान दें परिवारवाले
घोड़ाडोंगरी सीएचसी के डॉक्टर अभिनव शुक्ला ने बताया कि स्कूल बस छूट जाने के कारण 9वीं के छात्र ने फांसी लगा ली। आजकल डिप्रेशन के कारण कई छात्र एवं युवा आत्महत्या कर रहे हैं। सोशल मीडिया पर बच्चों की बढ़ रही एक्टिविटी बहुत हद तक इसके लिए जिम्मेदार है। परिवार को ऐसे में बच्चों की गतिविधियों पर ध्यान देने की जरूरत है।

खबरें और भी हैं…

मध्य प्रदेश | दैनिक भास्कर

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments