बिहार में शराब पीने से 10 की मौत!: परिजन बोले- रात में शराब पीकर सोए थे, अचानक तबीयत बिगड़ी और जान चली गई; 1 गंभीर

0
18

नालंदा5 घंटे पहले

बिहार के नालंदा में संदिग्ध परिस्थिति में 10 लोगों की मौत हो गई। परिजन शराब पीने के बाद तबीयत बिगड़ने की बात कह रहे हैं। यह घटना जिले के सोहसराय थाना क्षेत्र के छोटी पहाड़ी और पहाड़ तल्ली मोहल्ला की है। मरने वालों में भागो मिस्त्री (55), मन्ना मिस्त्री (55), सुनिल कुमार (24), धर्मेंद्र उर्फ नागेश्वर (50), अर्जुन पंडित (51), कालीचरण (50), राजेश कुमार (42), रामपाल शर्मा और मानपुर थाना क्षेत्र के प्रभु विगहा गांव के रामरूप चौहान (45) व शिवजी चौहान (45) शामिल है। वहीं, सोहसराय थाना क्षेत्र के छोटी पहाड़ी निवासी ऋषि कुमार की स्थिति गंभीर बनी हुई है।

मौत की सूचना मिलने के बाद पुलिस प्रशासन में हड़कंप मच गया। थानाध्यक्ष सुरेश प्रसाद के बाद सदर DSP डॉ शिब्ली नोमानी ने मौके पर पहुंच कर परिजन से जानकारी ली। हालांकि, अभी तक जहरीली शराब पीने से मौत की आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है। मगर स्थानीय लोग इस इलाके में चुलाई शराब बनाने की बात बता रहे हैं। बताया जाता है कि सभी लोगों की शराब पीने के बाद देर रात अचानक तबीयत बिगड़ी और देखते-देखते उनकी मौत हो गई।

गांव में पूछताछ करती पुलिस।

रात में हुई थी बेचैनी

मृतक भागो मिस्त्री की बहू ललिता देवी ने बताया, ‘रात में पति को बेचैनी महसूस हुई। इसके बाद पानी पीने का दिया। अस्पताल ले जाने के दौरान रास्ते में उनकी मौत हो गई। उसने गांव में बिक रही शराब पी थी।’ मृतक मन्ना मिस्त्री की बेटी ज्योति कुमारी ने बताया, ‘पिता लगातार 4 दिन से शराब पी रहे थे। कल अचानक उनकी तबीयत खराब हो गई। इसके बाद निजी क्लीनिक में भर्ती कराया गया। जहां डॉक्टर ने मृत घोषित कर दिया।’ मन्ना की पत्नी सरस्वती देवी ने DM और SP से आरोपियों के ऊपर कार्रवाई करनी की मांग की है।

उनका कहना है कि अगर प्रशासन चाहे तो शराब क्या उसकी एक बूंद पानी मिलना तक मुमकिन नहीं होगा। उन्होंने कहा कि घर चलाने वाला अब इस दुनिया में नहीं रहा। अब उनकी जिंदगी कैसे गुजरेगी। मन्ना अपने पीछे चार बेटे और दो बेटियों को छोड़ गए हैं।

मौके पर पहुंचे जिलाधिकारी शशांक शुभंकर।

मौके पर पहुंचे जिलाधिकारी शशांक शुभंकर।

DM बोले- 3 लोगों की हुई है मौत

इधर, DM शशांक शुभंकर ने भी मौके पर पहुंचकर परिजनों से बातचीत की है। इस दौरान उन्होंने कहा, ‘सोहसराय थाना क्षेत्र से कुल 3 लोगों की मौत की बात सामने आई है। इसमें एक की मौत की वजह पैरालिसिस है। बाकी दो अन्य लोगों में से एक कभी-कभी शराब पीने की कोशिश करता था। जिससे वह बीमार हो गया था। ऐसे में उसकी मौत हो गई। तीसरे व्यक्ति की मौत कैसे हुई है, इसकी जानकारी परिजनों से अभी तक नहीं मिली है। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आने के बाद ही पता चल पाएगा की मौत कैसे हुई।’

फिलहाल पूरे जिला बल को बुलाकर SP के नेतृत्व में क्षेत्र में कांबिंग ऑपरेशन किया जा रहा है। हर घर में सघन जांच अभियान चलाई जा रही है। कुछ अन्य लोगों के भी बीमार होने की सूचना है। जांच की जा रही है।

भवन निर्माण के एग्जीक्यूटिव इंजीनियर बोले- खाली बोतल ही तो मिली, पीते तो नहीं पकड़ाया

बता दें, इससे पहले अक्टूबर-नवंबर 2021 में भी गोपालगंज, बेतिया और समस्‍तीपुर में जहरीली शराब से 40 की मौत के बाद 568 को गिरफ्तार किया गया था।

स्थानीय लोग इस इलाके में चुलाई शराब बनाने की बात बता रहे हैं।

स्थानीय लोग इस इलाके में चुलाई शराब बनाने की बात बता रहे हैं।

खजूरबनी शराबकांड में 9 को मिली थी फांसी की सजा

2016 से अब तक सिर्फ गोपालगंज में 36 लोगों की मौत जहरीली शराब से होने की बात सामने आ रही है। इसमें इस साल की 17 मौतें भी शामिल हैं। इससे पहले 2016 में 19 लोगों की मौत जहरीली शराब पीने से हुई थी। 15-16 अगस्त 2016 को खजूरबानी में यह घटना हुई थी। इसकी पुष्टि कोर्ट में हो गई थी। मामले में 5 मार्च 2021 को स्पेशल कोर्ट ने 13 लोगों को सजा भी सुना दी। पहली बार शराब कांड में 9 को फांसी दी गई, जबकि 4 को उम्रकैद मिली।

2021 में 90 मौत, जहरीली शराब की आशंका

गोपालगंज में 13 और बेतिया में 10 लोगों की जान गई, 14 की हालत गंभीर

खबरें और भी हैं…

देश | दैनिक भास्कर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here