Monday, November 29, 2021
HomeStatesRajasthanबंटवारे में भाइयों का प्रेम रहा बरकरार: प्रशासन गांवों के संग अभियान...

बंटवारे में भाइयों का प्रेम रहा बरकरार: प्रशासन गांवों के संग अभियान की बदौलत राजीनामे से जमीन का हुआ बंटवारा

जैसलमेर8 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

प्रभारी मंत्री सुखराम विश्नोई।

प्रशासन गांवों के संग अभियान गांव वालों के लिए बहुत ही कारगर साबित हो रहे हैं। लाठी में निवास करने वाले तीन भाइयों की जमीन का आपसी बंटवारा राजीनामे से हुआ और प्रेम भी बरकरार रहा। ग्राम पंचायत लाठी में आयोजित शिविर के दौरान खेताराम, रावसराम, थुगराराम के लिए ये शिविर बरसों बाद जमीन के मालिकाना हक की बड़ी सौगात लेकर आया।

दरअसल इन भाइयों व उनकी मां ने शिविर प्रभारी एवं एसडीएम को एप्लिकेशन देकर बताया कि उनके खेत का बंटवारा नहीं हुआ है। शिविर प्रभारी ने तुरंत तहसीलदार पोकरण बंटी राजपूत को इस मामले में आपसी सहमति से बंटवारे का मामला तैयार करने क निर्देश दिए। तहसीलदार ने मौके पर ही पटवारी और रेवेन्यू इंस्पेक्टर से इनके जमीन का मामला तैयार करवाया। उनके नाम से अलग-अलग जमीन के हिस्से के अनुसार बंटवारा कर उनका बंटवारा स्वीकृति पत्र तैयार कर रेवेन्यू रिकॉर्ड में दर्ज किया।

प्रभारी मंत्री सुखराम विश्नोई ने दिया पत्र

शिविर के मौके पर जिले के प्रभारी मंत्री सुखराम विश्नोई ने इन तीनों भाइयों व उनकी माता सुरती को बंटवारा स्वीकृति पत्र दिया। स्वीकृति पत्र मिलते ही सभी के चेहरे खिल उठे। सबने इस काम के लिए जिला प्रशासन का हार्दिक आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि बरसों पड़े इस मामले में आज उन्हें एक ही दिन में शिविर की बदौलत अपनी-अपनी जमीन का असली मालिकाना हक मिला है। इस प्रकार इन तीनों भाइयों व उनकी मां के लिए यह शिविर बहुत ही राहतदायी साबित हुआ है।

बुधवार को 5 ग्राम पंचायतों में लगेगे शिविर

जिले में चल रहे प्रशासन गांवों के संग अभियान कार्यक्रम के अनुसार बुधवार 24 नवम्बर को ग्राम पंचायत काणोद, पूनमनगर, कुण्डा, दलपतपुरा तथा भिखोडाई जूनी में शिविर लगेंगे। इसी प्रकार गुरुवार 25 नवंबर को ग्राम पंचायत पारेवर, कुछड़ी, कोटड़ी तथा बडली-नाथूसर में प्रशासन गांवों के संग शिविर आयोजित होंगे। एडीएम हरिसिंह मीना ने इन ग्राम पंचायतों के ग्रामीणों से आहवान किया कि वे शिविर में ज्यादा से ज्यादा संख्या में पहुंचकर अपनी समस्याओं का समाधान कराएं और इसका फायदा उठाएं।

खबरें और भी हैं…

राजस्थान | दैनिक भास्कर

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments