पूर्वी सिंहभूम के घाटशिला में हाथियों ने रोका रास्ता: केनाल पुल पर पहुंचा झुंड, दिन चढ़ने के साथ जंगल की ओर बढ़े, लकड़ी काटने गए लोगों को घेरा

0
33

घाटशिला34 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

हाथियों को खदेड़ने सड़कों पर निकले ग्रामीण।

पूर्वी सिंहभूम के घाटशिला अनुमंडल में हाथियों का समूह जंगल से निकलकर आबादी वाले इलाकों में आ गया है। शनिवार की सुबह करीब 45 हाथियों का झुंड केनाल पुल पर पहुंच गया। इस कारण करीब 4 घंटे तक आवागमन बाधित रहा। लोगों को गुडाबांदा जाने के लिए परेशानी का सामना करना पड़ा। दिन चढ़ने के साथ झुंड जंगल की ओर मुड़ा। इस दौरान जंगल में लकड़ी काटने गए ग्रामीणों ने हाथियों का आमना- सामना हो गया। इसके बाद ग्रामीण अपनी जान बचाने के लिए रास्ता छोड़कर हट गए। थोड़ी देर बाद हाथियों का समूह 2 हिस्सों में बंटकर श्यामसुंदरपुर की ओर चल गए। वहीं कुछ गुडाबांदा में ठहर गए हैं।

बताया जा रहा है कि पिछले 7 दिनों से हाथियों का समूह इलाके में मौजूद है। इस कारण आसपास के लोग काफी डरे हुए है। गांव में पूरी रात लोग जाग कर पहरा दे रहे हैं। शनिवार को हाथियों के जंगल की ओर भगाने के लिए स्थानीय युवक सड़कों पर एकत्र हुए थे। हाथियों को देखकर शोर मचाया। इसके बाद हाथियों का समूह रास्ते से हटा। बताया गया कि हाथियों के रास्ते में जमे होने के कारण कई ग्रामीण अपने कामकाज के लिए नहीं जा सके। हाथियों के एक झुंड के जंगल में प्रवेश कर जाने के कारण ग्रामीण लोगों को जंगल में प्रवेश करने से रोक रहे हैं।

वन विभाग की ओर से हाथियों को जंगल वापस करने के लिए पिछले कई दिनों से कोशिशें हो रही हैं लेकिन इसका कोई परिणाम नहीं निकला। बताया गया कि लोग रात के समय हाथियों के हमले से बचने के लिए आग जलाकर रख रहे है। इसके अलावा अलग-अलग समूह बनाकर गांव के चारो तरफ पहरा बैठाया गया है।

खबरें और भी हैं…

झारखंड | दैनिक भास्कर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here