Wednesday, December 8, 2021
HomeStatesPunjabपुलिस जांच में खुलासा: पूर्व बैंक मैनेजर ने 65 लोगों के आईडी...

पुलिस जांच में खुलासा: पूर्व बैंक मैनेजर ने 65 लोगों के आईडी प्रूफ पर लोन लेकर 3.20 करोड़ हड़पे

लुधियाना20 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

फाइल फोटो

  • सभी पीड़ित दिहाड़ी और मजदूरी करने वाले लोग, तैयार किए फर्जी दस्तावेजों और सैलरी स्टेटमेंट पर संबंधित विभागों के अफसरों के हस्ताक्षर भी खुद कर डाले

स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआई) के पूर्व मैनेजर ने प्राइवेट मुलाजिमों से मिल 65 लोगों को प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत लोन दिलाने का झांसा दे आईडी प्रूफ ले लिए। फिर उन्हें नगर निगम, सीएमसी अस्पताल और अन्य विभागों के मुलाजिम दिखा जाली दस्तावेज तैयार कर 3.20 करोड़ रुपए लोन ले लिया। फिर पेमेंट को अपने खातों में ट्रांसफर कर ठगी मार ली।

थाना मोती नगर पुलिस ने अभिषेक जैन की शिकायत पर बीआरएस नगर के राजेश कुमार, सतजोत नगर के अंकुश कुमार, भाई अरूण कुमार, फ्रैंडज़ कॉलोनी के अमरजीत सिंह और जनता नगर के हरीश कुमार पर मामला दर्ज किया है। एएसआई राजेश कुमार के अनुसार शिकायतकर्ता स्टेट बैंक ऑफ इंडिया की लिंक रोड ब्रांच में बतौर मैनेजर तैनात है। आरोपी राजेश कुमार जुलाई 2018 से जून 2020 तक एसबीआई में मैनेजर था। बाकी आरोपी निजी तौर पर लोन डिपार्टमेंट में तैनात थे। जांच में पता चला कि आरोपियों ने लोगों के घरों में जाकर उन्हें जरूरतमंदों को मुद्रा योजना के तहत 25 से 30 हजार रुपए तक न वापस करने वाला लोन दिलाने का झांसा दिया गया। आरोपियों ने लोगों से आईडी प्रूफ और अन्य दस्तावेज लेकर उनके हस्ताक्षर किए दो चेक भी ले लिए।

ऐसे किया फर्जीवाड़ा- किसी को सफाई कर्मी तो कोई स्टाफ नर्स बनाई

आरोपियों ने लोगों के आईडी प्रूफ के आधार पर फर्जी दस्तावेज तैयार कर उन्हें अलग-अलग विभागों के मुलाजिम दिखाया। इसमें निगम के 24, सीएमसी के 18 और बाकी 23 लोगों को अलग-अलग विभागों में मुलाजिम दिखाया। किसी को सफाई कर्मी, कोई स्टाफ नर्स तो किसी को क्लर्क बना डाला। फिर उनके संबंधित विभागों की फर्जी सैलरी स्लिप, आईडी कार्ड और सैलरी अकाउंट की स्टेटमेंट तैयार कर लोन अप्लाई कर दिया।आरोपियों ने पीड़ितों के बनाए फर्जी दस्तावेज और सैलरी स्टेटमेंट पर संबंधित विभागों के अधिकारियों के हस्ताक्षर भी खुद ही कर डाले, लेकिन जब पुलिस ने जांच की तो पता चला कि 65 लोग किसी भी विभाग के मुलाजिम नहीं हैं। वह सभी दिहाड़ी और मजदूरी करने वाले लोग हैं।

खबरें और भी हैं…

पंजाब | दैनिक भास्कर

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments