Wednesday, December 8, 2021
HomeBusinessनिवेश की बात: स्मार्ट बीटा फंड्स में पैसा लगाकर आपको भी मिल...

निवेश की बात: स्मार्ट बीटा फंड्स में पैसा लगाकर आपको भी मिल सकता है कम जोखिम पर ज्यादा रिटर्न

  • Hindi News
  • Business
  • By Investing In Smart Beta Fund, You Can Also Get More Returns With Less Risk

नई दिल्ली17 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

साल दर साल बाजार और अर्थव्यवस्था को लेकर जागरुकता बढ़ने, डिजिटल इन्स्ट्रूमेंट्स का ज्यादा इस्तेमाल होने और इन्वेस्टमेंट प्रोडक्ट्स के मामले में इनोवेशन के चलते निवेश का एक नया माध्यम स्मार्ट बीटा फंड तेजी से लोकप्रिय हो रहा है। इसके मैनेजर निवेशक के हिसाब से फंड का टोन सेट कर देते हैं, फिर वह ऑटो मोड पर चलता रहता है। इसमें एक्टिव और पैसिव फंड दोनों की खूबियां होती हैं। आइए इसके बारे में विस्तार से जानते हैं…

स्मार्ट बीटा फंड समझने के लिए हमें पहले पैसिव फंड, एक्टिव फंड, और बीटा को समझना होगा…

पैसिव फंड
ऐसे फंड बेंचमार्क इंडेक्स (जैसे सेंसेक्स) की हूबहू नकल करते हैं। ये इंडेक्स के शेयरों में इंडेक्स में उनकी वेटेज के आधार पर निवेश करते हैं। इन्हें मैनेज करने के लिए कोई फंड मैनेजर नहीं होता है। इसलिए इसमें निवेश की लागत कम होती है। इंडेक्स फंड इसका उदाहरण है।

एक्टिव फंड
ऐसे फंड को मैनेजर संभालते हैं। वे ही निवेशकों की तरफ से फैसले करते हैं। फंड मैनेजर की मोटी सैलरी होती है। इसीलिए म्यूचुअल फंड कंपनियां निवेशकों से ज्यादा फीस वसूलती हैं। यही वजह है कि ऐसे फंड निवेशकों को अपेक्षाकृत महंगे पड़ते हैं।

बीटा क्या है?
बीटा का मतलब होता है जोखिम। किसी भी इंडेक्स के बीटा को हमेशा 1 माना जाता है। अब यदि किसी शेयर का बीटा 1.5 है, तो इसका मतलब हुआ कि यदि इंडेक्स 1% चढ़ेगा तो उस शेयर में 1.5% की तेजी आएगी। वहीं, यदि इंडेक्स 1% गिरा तो शेयर में 1.5% गिरावट आएगी। यानी बीटा जितना अधिक होगा रिस्क और रिवार्ड भी उतना ही अधिक होगा।

स्मार्ट बीटा फंड क्या है?
स्मार्ट बीटा फंड एक्टिव और पैसिव के बीच का एक फंड है। इसमें पैसिव फंड की तरह एक इंडेक्स फंड बनाया जाता है। साथ ही इसमें एक्टिव फंड की तरह फंड मैनेजर छोटे-छोटे बदलाव करते रहते हैं, जैसे कि शेयरों के वेटेज में बदलाव या किसी तय पैटर्न पर नया इंडेक्स बनाना। इसका मकसद रहता है कि रिस्क में कमी आए, लेकिन रिवार्ड वैसा ही बना रहे। इसका उद्देश्य एक्टिव फंड्स की तुलना में कम खर्च पर बेंचमार्क इंडेक्स से अधिक रिटर्न हासिल करना।

निफ्टी-50 इक्वल वेट से समझते हैं स्मार्ट बीटा फंड
इंडेक्स फंड निफ्टी में निवेश करते वक्त इसके 50 शेयरों में उसी अनुपात में पैसे लगाते हैं, जितना उनका वेटेज है। निफ्टी की टॉप-10 कंपनियों का कुल वेटेज 58.74% है, तो इंडेक्स फंड भी ऐसा करते हैं। स्मार्ट बीटा फंड “निफ्टी-50 इक्वल वेट” निफ्टी के सभी शेयरों में लगभग बराबर अनुपात में निवेश करता है। यानी निफ्टी की सभी 50 कंपनियों में लगभग 2-2% निवेश। निफ्टी-50 इक्वल वेट ने अकसर निफ्टी-50 से बेहतर रिटर्न दिया है।

खबरें और भी हैं…

बिजनेस | दैनिक भास्कर

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments