Sunday, December 5, 2021
HomeStatesChhattisgarhधान खरीदी से पहले बवाल: किसानों ने 5 घंटे तक रायपुर-देवभोग मार्ग...

धान खरीदी से पहले बवाल: किसानों ने 5 घंटे तक रायपुर-देवभोग मार्ग में किया चक्काजाम; कांग्रेसी बोले-सरकार हमारी ही नहीं सुन रही

गरियाबंद22 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

किसानों की कहना है कि जब तक मांग पूरी नहीं होगी, तब तक वह इसी तरह प्रदर्शन करते रहेंगे।

छत्तीसगढ़ में धान खरीदी भले ही एक दिसंबर से होनी है, पर बवाल पहले ही मच गया है। गरियाबंद में किसानों ने गौरघाट में नेशनल हाइवे 130 सी में चक्काजाम कर दिया। जिसके चलते 5 घंटे तक रायपुर-देवभोग मार्ग बंद रहा। किसानों की मांग है कि गौरघाट में धान खरीदी केंद्र खोला जाए। इस चक्काजाम में आसपास के 4 गांव के किसान शामिल हुए हैं। किसानों के इस प्रदर्शन को कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने भी अपना समर्थन दिया है।

यहां गौरघाट में नेशनल हाइवे 130 सी में सुबह 10.30 बजे से गोपालपुर, दबनई, देहरगुड़ा और हरदीभाठा के सैकड़ों किसान पहुंचे थे। इसके बाद किसान रोड पर बैठ गए और प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी करते रहे। प्रशासन की टीम भी मौके पर पहुंची है और उन्हें समझाने में लगी हुई है। मगर अब तक किसानों ने प्रशासन की बात नहीं सुनी है। उनका प्रदर्शन जारी है। किसान अब रोड से उठकर, रोड किनारे प्रदर्शन कर रहे हैं।

जाम के चलते इस तरह गाड़ियों की कतार लगी रही।

जाम के चलते इस तरह गाड़ियों की कतार लगी रही।

15 किलोमीटर दूर जाना पड़ता है

किसानों के चक्काजाम की वजह से दोनों तरफ से वाहनों की कतारें लगी रहीं। प्रदर्शन करने बैठे लोगों का कहना है कि गौरघाट में धान खरीदी केंद्र नहीं खुलने से उन्हें भारी परेशानी हो रही है। किसानों ने बताया कि अभी उन्हें 15 किलोमीटर का सफर तय कर मैनपुर धान बेचने जाना पड़ता है। जिसके चलते उन्हें काफी परेशानी होती है। कई बार भीड़ होने की वजह से एक दिन में धान नहीं बिक पाता। आर्थिक परेशानी का भी सामना करना पड़ता है।

पिछले साल किया था वादा

किसानों ने बताया हर साल इसी तरह की समस्या होती है। पिछले साल भी हमने गोरघाट में खरीदी केंद्र खोलने की मांग की थी। इसके लिए प्रशासन से लेकर प्रभारी मंत्री तक हमने बात की थी। तब हमें कहा गया था अगले साल यानि इस साल खरीदी केंद्र खोल दिए जाएंगे। मगर अब कुछ ही दिन धान खीरीदी को बचे हैं। इसके बावजूद अब तक खरीदी केंद्र नहीं खोला गया। उन्होंने बताया कि अब हम आश्वासन नहीं सुनेंगे। अब जब खरीदी केंद्र खुलेगा, तब ही हमारा प्रदर्शन खत्म होगा।

मौके पर पुलिस बल भी तैनात है।

मौके पर पुलिस बल भी तैनात है।

सरकार हमारी ही नहीं सुन रही

वहीं इस चक्काजाम में कांग्रेस कार्यकर्ता भी शामिल हैं। कांग्रेस कार्यकर्ताओं का कहना है कि कांग्रेस सरकार हमारी ही नहीं सुन रही। कार्यकर्ताओं ने कड़े शब्दों में चेतावनी दी है कि अगर 1 दिसंबर के पहले यहां नया धान खरीदी केंद्र नहीं खुलता है तो हम सामूहिक रूप से इस्तीफा दे देंगे। कार्यकर्ताओं ने कहा हमने इस संबंध में जिला अध्यक्ष को भी सूचना दे दी है।

खबरें और भी हैं…

छत्तीसगढ़ | दैनिक भास्कर

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments