Monday, November 29, 2021
HomeTop Storiesदिल्ली में वायु प्रदूषण का कहर: राजधानी में अभी बंद ही रहेंगे...

दिल्ली में वायु प्रदूषण का कहर: राजधानी में अभी बंद ही रहेंगे स्कूल, ट्रकों के प्रवेश पर प्रतिबंध 26 नवंबर तक बढ़ा

सार

शिक्षा निदेशलाय की ओर से रविवार को इस संबंध में आदेश जारी कर पूर्व में स्कूलों के बंद रहने के निर्णय को बढ़ा दिया गया है।

दिल्ली एनसीआर में प्रदूषण
– फोटो : ANI

ख़बर सुनें

ख़बर सुनें

राजधानी में अगले आदेश तक निजी व सरकारी स्कूल बंद रहेंगे। इस बीच ऑनलाइन कक्षाएं व बोर्ड परीक्षाएं चलती रहेंगी। शिक्षा निदेशलाय की ओर से रविवार को इस संबंध में आदेश जारी कर पूर्व में स्कूलों के बंद रहने के निर्णय को बढ़ा दिया गया है।  निदेशालय ने सभी स्कूल प्रिंसिपल को स्टाफ व छात्रों को आदेश की सूचना देने का निर्देश दिया है। 

  बीते दिनों प्रदूषण की वजह से हवा खराब होने पर वायु गुणवत्ता प्रबंधन के आयोग के निर्देश पर सभी स्कूल व कॉलेजों को अगले आदेश तक बंद रहने का आदेश जारी हुआ था। हालांकि, हवा के लगातार खराब बने रहने के कारण रविवार को शिक्षा निदेशालय ने नया आदेश जारी कर दिया है। आदेश के मुताबिक, सभी सरकारी, सरकारी सहायता प्राप्त, मान्यता प्राप्त, नई दिल्ली नगर पालिका परिषद(एनडीएमसी), नगर निगम व दिल्ली कैंट बोर्ड के सभी स्कूलों को अगले आदेश तक बंद रहने का आदेश दिया गया है। 

 वर्तमान में दिल्ली के स्कूलों में कक्षा नौवीं व 11वीं की मध्यावधि परीक्षाएं व 10 और 12वीं की बोर्ड परीक्षाएं चल रही हैं। वहीं, कुछ स्कूलों में पहली कक्षा से लेकर आठवी तक परीक्षाएं भी चल रही हैं। इस वजह से स्कूलों में छात्र पहुंच रहे हैं। हालांकि, निदेशालय की ओर से ऐसी परीक्षाओं के लिए स्कूलों को कोरोना महामारी के दिशा-निर्देशों के साथ परीक्षा आयोजित करने का निर्देश दिया गया है। 

गौरतलब है कि बीते दिनों वायु गुणवत्ता के बिगड़ने पर स्कूल, कॉलेज, शैक्षणिक संस्थान, कोचिंग संस्थान, प्रशिक्षण केंद्रों पर वायु गुणवत्ता के आयोग के आदेश के अगले आदेश तक रोक लगा दी गई थी।  साथ ही दिल्ली में पड़ोसी राज्यों से गैर जरूरी सामान लेकर आने वाले ट्रकों पर 21 नवंबर तक पाबंदी लगाई गई थी। वहीं, किसी भी प्रकार की निर्माण या विध्वंस गतिविधियों पर पूरी तरह से प्रतिबंध था। 

गैर-जरूरी सामान से लदे ट्रकों के प्रवेश पर प्रतिबंध 26 नवंबर तक  
राजधानी में आगामी 26 नवंबर तक किसी भी प्रकार की निर्माण गतिविधि या तोड़फोड़ पर रोक जारी रहेगी। साथ ही गैर जरूरी सामान लाने वाले ट्रकों पर लगाई गई पाबंदी को भी बढ़ा दिया गया है। सरकार के अगले आदेश तक स्कूल-कॉलेज व अन्य शिक्षण संस्थान भी बंद रहेंगे।

दिल्ली सरकार के एक अधिकारी के मुताबिक, अगले एक सप्ताह तक दिल्ली सरकार की कर्मचारियों को घरों से ही काम करने के लिए कहा गया है। इस संबंध में रविवार की देर शाम आदेश जारी कर दिया गया है।आदेश के मुताबिक, 26 नवंबर तक दिल्ली में बाहर से गैर जरूरी सामान लेकर आने वाले ट्रकों के प्रवेश पर पाबंदी लगाई गई है। साथ ही दिल्ली मेट्रो, रेलवे व राष्ट्रीय महत्त्व से जुड़े कार्यों को छोड़कर किसी भी प्रकार के निर्माण या तोड़फोड़ की इजाजत नहीं है। निजी क्षेत्र को कर्मचारियों को घर से काम करने की अनुमति देने का सुझाव दिया गया है।  

विस्तार

राजधानी में अगले आदेश तक निजी व सरकारी स्कूल बंद रहेंगे। इस बीच ऑनलाइन कक्षाएं व बोर्ड परीक्षाएं चलती रहेंगी। शिक्षा निदेशलाय की ओर से रविवार को इस संबंध में आदेश जारी कर पूर्व में स्कूलों के बंद रहने के निर्णय को बढ़ा दिया गया है।  निदेशालय ने सभी स्कूल प्रिंसिपल को स्टाफ व छात्रों को आदेश की सूचना देने का निर्देश दिया है। 

  बीते दिनों प्रदूषण की वजह से हवा खराब होने पर वायु गुणवत्ता प्रबंधन के आयोग के निर्देश पर सभी स्कूल व कॉलेजों को अगले आदेश तक बंद रहने का आदेश जारी हुआ था। हालांकि, हवा के लगातार खराब बने रहने के कारण रविवार को शिक्षा निदेशालय ने नया आदेश जारी कर दिया है। आदेश के मुताबिक, सभी सरकारी, सरकारी सहायता प्राप्त, मान्यता प्राप्त, नई दिल्ली नगर पालिका परिषद(एनडीएमसी), नगर निगम व दिल्ली कैंट बोर्ड के सभी स्कूलों को अगले आदेश तक बंद रहने का आदेश दिया गया है। 

 वर्तमान में दिल्ली के स्कूलों में कक्षा नौवीं व 11वीं की मध्यावधि परीक्षाएं व 10 और 12वीं की बोर्ड परीक्षाएं चल रही हैं। वहीं, कुछ स्कूलों में पहली कक्षा से लेकर आठवी तक परीक्षाएं भी चल रही हैं। इस वजह से स्कूलों में छात्र पहुंच रहे हैं। हालांकि, निदेशालय की ओर से ऐसी परीक्षाओं के लिए स्कूलों को कोरोना महामारी के दिशा-निर्देशों के साथ परीक्षा आयोजित करने का निर्देश दिया गया है। 

गौरतलब है कि बीते दिनों वायु गुणवत्ता के बिगड़ने पर स्कूल, कॉलेज, शैक्षणिक संस्थान, कोचिंग संस्थान, प्रशिक्षण केंद्रों पर वायु गुणवत्ता के आयोग के आदेश के अगले आदेश तक रोक लगा दी गई थी।  साथ ही दिल्ली में पड़ोसी राज्यों से गैर जरूरी सामान लेकर आने वाले ट्रकों पर 21 नवंबर तक पाबंदी लगाई गई थी। वहीं, किसी भी प्रकार की निर्माण या विध्वंस गतिविधियों पर पूरी तरह से प्रतिबंध था। 

गैर-जरूरी सामान से लदे ट्रकों के प्रवेश पर प्रतिबंध 26 नवंबर तक  

राजधानी में आगामी 26 नवंबर तक किसी भी प्रकार की निर्माण गतिविधि या तोड़फोड़ पर रोक जारी रहेगी। साथ ही गैर जरूरी सामान लाने वाले ट्रकों पर लगाई गई पाबंदी को भी बढ़ा दिया गया है। सरकार के अगले आदेश तक स्कूल-कॉलेज व अन्य शिक्षण संस्थान भी बंद रहेंगे।

दिल्ली सरकार के एक अधिकारी के मुताबिक, अगले एक सप्ताह तक दिल्ली सरकार की कर्मचारियों को घरों से ही काम करने के लिए कहा गया है। इस संबंध में रविवार की देर शाम आदेश जारी कर दिया गया है।आदेश के मुताबिक, 26 नवंबर तक दिल्ली में बाहर से गैर जरूरी सामान लेकर आने वाले ट्रकों के प्रवेश पर पाबंदी लगाई गई है। साथ ही दिल्ली मेट्रो, रेलवे व राष्ट्रीय महत्त्व से जुड़े कार्यों को छोड़कर किसी भी प्रकार के निर्माण या तोड़फोड़ की इजाजत नहीं है। निजी क्षेत्र को कर्मचारियों को घर से काम करने की अनुमति देने का सुझाव दिया गया है।  

Latest And Breaking Hindi News Headlines, News In Hindi | अमर उजाला हिंदी न्यूज़ | – Amar Ujala

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments