Monday, November 29, 2021
HomeStatesJharkhandतृषा हत्याकांड: एएसआई ने खुद मार डाला या किसी से हत्या कराई...

तृषा हत्याकांड: एएसआई ने खुद मार डाला या किसी से हत्या कराई पुलिस कर रही है जांच

जमशेदपुरएक दिन पहले

  • कॉपी लिंक
  • बक्सर से एएसआई को लेकर शहर पहुंची पुलिस
  • एएसआई की संलिप्तता का दावा

बिष्टुपुर साउथ पार्क निवासी तृषा पटेल उर्फ वर्षा (30) की हत्या में साकची थाना के एएसआई धर्मेंद्र सिंह की संलिप्तता सामने आई है। पुलिस की टीम शनिवार शाम धर्मेंद्र सिंह को बक्सर से लेकर शहर पहुंची। पदाधिकारी लगातार उससे पूछताछ कर रहे हैं।

हालांकि, देर शाम तक एएसआई ने हत्या की बात नहीं कबूली। पुलिस धर्मेंद्र सिंह को तृषा के घर भी लेकर गई। इधर, बिष्टुपुर थाने के निजी चालक जिम्मी को पूछताछ के बाद शनिवार को छोड़ दिया गया। हत्या में उसकी संलिप्तता सामने नहीं आई है।

पुलिस अधिकारियों के मुताबिक, तृषा पटेल की पोस्टमार्टम रिपोर्ट और जिस स्थिति में उसकी लाश मिली, उससे साफ है कि उसकी हत्या की गई है। अब तक जितने सबूत मिले हैं, वे एएसआई धर्मेंद्र सिंह के खिलाफ हैं। इस बात से साफ हो गया है कि तृषा की हत्या में धर्मेंद्र सिंह है। लेकिन उसने खुद तृषा को मार या किसी से हत्या करवाई, इसकी जांच जारी है।

सूत्रों के अनुसार, तृषा एएसआई पर शादी का दबाव बना रही थी। लेकिन धर्मेंद्र सिंह पहले से विवाहित है और उसके बच्चे भी हैं। यही कारण है कि धर्मेंद्र सिंह ने उसे रास्ते से हटाने की साजिश रची। सभवत: रविवार को पुलिस पूरे मामले का खुलासा करेगी।

एएसआई के बैरक से उसी तरह का थैला बरामद, जिसमें मिली थी महिला की लाश
शनिवार को धर्मेंद्र सिंह को शहर लाने के बाद पुलिस ने साकची थाना परिसर स्थित उसके बैरक की जांच की। वहां ठीक वैसा ही एक थैला मिला, जिसमें तृषा का शव पाया गया था। पुलिस का मानना है कि शव को ठिकाने लगाने के लिए धर्मेंद्र सिंह ने संभवत: लॉयलन को दो बड़े थैले खरीदे थे। एक लेकिन एक ही थैले का प्रयोग शव को ठिकाने लगाने के लिए किया।

12 नवंबर से लापता थी तृषा, 13 से छुट्टी पर चला गया था धर्मेंद्र
बिष्टुपुर निवासी तृषा पटेल उर्फ वर्षा 12 नवंबर की शाम से लापता थी। 17 नवंबर को टेल्को स्थित तार कंपनी तालाब में एक बड़े थैले में उसकी सड़ी-गली लाश बरामद हुई। इधर, एएसआई धर्मेंद्र सिंह 13 नवंबर को दिन में ड्यूटी कर छुट्टी पर बक्सर चला गया था। पड़ोसियों के अनुसार, 12 नवंबर की शाम धर्मेंद्र सिंह को तृषा के साथ देखा गया था। मृतका की बहन जया पटेल ने भी एएसआई धर्मेंद्र सिंह और बिष्टुपुर थाने के निजी चालक जिम्मी पर हत्या का शक जताते हुए शिकायत दर्ज कराई थी।

खबरें और भी हैं…

झारखंड | दैनिक भास्कर

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments