तस्करी करते हुए एक आरोपी गिरफ्तार: मनासा से डोडाचूरा भरकर जोधपुर ले जा रहे थे तस्कर, पुलिस को देखकर एक आरोपी हुआ फरार

0
13

चित्तौड़गढ़25 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

तस्करी करते हुए एक आरोपी को पुलिस ने किया गिरफ्तार।

जिले के निंबाहेड़ा सदर पुलिस ने कार्रवाई करते हुए 1 क्विंटल से भी ज्यादा डोडाचूरा जब्त किया। तस्करी कर रहे युवक को भी गिरफ्तार किया। इन दिनों तस्करों ने पुलिस से बचने के लिए दोपहर में ही माल को एमपी से मारवाड़ तक सप्लाई करना शुरू कर दिया है।

सदर थाना अधिकारी फूलचंद टेलर ने बताया कि पुलिस की टीम निंबाहेड़ा-चित्तौड़गढ़ हाईवे रोड, अहीरपूरा अंडर ब्रिज के पास नाकाबंदी कर रहे थी। इस दौरान नीमच की तरफ से एक स्विफ्ट डिजायर कार आई। उसे रुकने का इशारा किया तो उसने नाकाबंदी पॉइंट से घुमा कर गलत साइड में ही गाड़ी भगा दी। पुलिस ने लगभग दो से 3 किलोमीटर पीछा करते हुए बोराखेड़ी चौराहे पर जाकर रोका। कार में दो व्यक्ति बैठे हुए थे। एक युवक को पुलिस ने पकड़ लिया जबकि दूसरा भागने में सफल रहा।

एक आरोपी आया गिरफ्त में तो एक फरार

थानाधिकारी टेलर ने बताया कि चालक से नाम पूछा तो उसने अपना नाम जोधपुर निवासी महावीर सिंह पुत्र हनुमान सिंह राजपूत उम्र 22 साल बताया। उससे जब भागे हुए व्यक्ति का नाम पूछा तो उसने उसका नाम नागौर निवासी पुखराज विश्नोई बताया। कार की तलाशी ली तो पीछे के सीट में और कार की डिक्की में पांच प्लास्टिक के कट्टे रखे हुए थे। कट्टों को खोलकर देखा तो उनमें डोडाचूरा मिला। इसके बाद पुलिस ने तौल किया तो उसमें कुल 1 क्विंटल 8 किलो 500 ग्राम डोडाचूरा भरा हुआ था। पुलिस ने डोडाचूरा और कार को जब्त कर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। इस टीम में SI नारुलाल, ASI सूरज कुमार, हेड कॉन्स्टेबल सुन्दपाल, कॉन्स्टेबल प्रमोद, हरविंदर, नरेश और रामकुमार शामिल थे।

15 दिनों में 5 से 6 बार कर लिया सप्लाई

पूछताछ में आरोपी महावीर ने बताया कि यह डोडाचूरा नीमच जिले के मनासा नगर से भर के लाया था। यह दोनों युवक जोधपुर में इसकी सप्लाई करते हैं। आरोपी ने बताया कि पिछले 15 दिनों में 5 से 6 बार इन्होंने एमपी से डोडाचूरा जोधपुर सप्लाई किया है। एमपी में काफी सस्ते दामों में डोडाचूरा मिल जाता है, जिसके बाद जोधपुर में ऊंचे दामों में बेचा जाता है।

पुलिस से बचने के लिए दिन में करने लगे तस्करी

एमपी से मारवाड़ और अन्य राज्यों में काफी मात्रा में अफीम और डोडाचूरा सप्लाई किया जाता है। इसलिए नाकाबंदी हर रोज की जा रही थी। लेकिन कोई भी तस्कर हाथ नहीं लग रहे थे। इस कारण पुलिस ने अपना समय बदला। पुलिस रोज सुबह या रात को नाकाबंदी करती है। लेकिन तस्करों को अब यह समय पता होने के कारण समय बदल दिया गया। आरोपी ने खुद ने यह माना कि उसने दिन के समय का फायदा उठा कर 5 से 6 बार तस्करी की है।

खबरें और भी हैं…

राजस्थान | दैनिक भास्कर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here