Monday, November 29, 2021
HomeStatesUttar Pradeshडीएलएड में 1.43 लाख सीटों पर नहीं होगा प्रवेश: शेष सीटों पर...

डीएलएड में 1.43 लाख सीटों पर नहीं होगा प्रवेश: शेष सीटों पर नहीं होगी काउंसिलिंग, निजी कॉलेजों की 50 फीसद सीटें खाली

प्रयागराज4 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

डीएलएड की खाली सीटों पर अब प्रवेश नहीं होगा।

डीएलएड 2021 की 1.43 लाख रिक्त सीटों पर अब प्रवेश नहीं होगा। दो साल बाद शुरू हुई प्रवेश परीक्षा की तीसरी काउंसिलिंग पूरी हो चुकी है और अब परीक्षा नियामक प्राधिकारी ने काउंसिलिंग कराने से मना कर दिया है। जो सीटें खाली रह गई हैं उनमें जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान (डायट) की पांच फीसद सीटें शामिल हैं, जबकि निजी कॉलेजों की 50 फीसद सीटें रिक्त हैं। ऐसे में दो साल कोराेना महामारी के कारण डीएलएड का सत्र सून्य होने और अब 50 फीसद सीटें रिक्त रह जाने के कारण निजी कॉलेजों पर दोहरी मार पड़ी है।

2019 के बाद नहीं हुआ था प्रवेश

2019 के बाद से डीएलएड में प्रवेश नहीं हो सका है। सत्र 2021-2021 में कोवि-19 के कारण प्रवेश नहीं हुआ था। सरकार ने सत्र को शून्य घोषित कर दिया था। सरकार ने जुलाई 2021 में निजी क्षेत्र के कॉलेजों में प्रवेश की प्रक्रिया शुरू की। प्रवेश प्रक्रिया के तीन चरण आयोजित किए गए। बावजूद इसके लगभग 50 फीसद सीटें खाली रह गईं। रिक्त रहने वाली सीटों में डायट की केवल पांच फीसद ही शामिल हैं। मैनेजमेंट खाली सीटों को लेकर परेशान हैं तो उधर, पीएनपी ने काउंसिलिंग की प्रक्रिया को रोक दिया है। परीक्षा नियामक प्राधिकारी के सचिव संजय उपाध्याय का कहना है कि अब परीक्षा की तैयारियां शुरू कर दी गई हैं। प्रवेश संभव नहीं है।

ये है सीटों की स्थिति

प्रदेश में जिला शिक्षा प्रशिक्षण संस्थानों की संख्या 65 है। डीएलएड सीटों की संख्या कुल 10,600 ही है। देश में निजी क्षेत्र के डीएलएड कॉलेजों की संख्या 3200 है। इन कॉलेजों में D.El.Ed की सीटों की कुल संख्या 2,32,400 हैं।

रिक्त सीटों की क्या है वजह

सीटें खाली रहने के पीछे सबसे बड़ा कारण काउंसिलिंग बंद करना रहा है। इसके अलावा प्राइवेट कॉलेजों में छात्र-छात्राओं का आर्थिँक शोषण भी बड़ी वजह है। अब डीएलएड की अपेक्षा बीएड को ज्यादा तरजीह दी जा रही है। डीएलएड की अपेक्षा बीएड के बाद नौकरियों की संभावना अधिक है।

खबरें और भी हैं…

उत्तरप्रदेश | दैनिक भास्कर

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments