Wednesday, December 8, 2021
HomeStatesChhattisgarhठग के निशाने पर संसदीय सचिव: तखतपुर विधायक रश्मि सिंह के फर्जी...

ठग के निशाने पर संसदीय सचिव: तखतपुर विधायक रश्मि सिंह के फर्जी हस्ताक्षर से 50 हजार पार, दिल्ली के बैंक से निकाली रकम

बिलासपुर2 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

संसदीय सचिव व तखतपुर विधायक के खाते से फर्जी चेक के जरिए दिल्ली के बैंक से 50 हजार रुपए निकाल लिए गए। मामला सामने आने के बाद पुलिस ने धोखाधड़ी का अपराध दर्ज कर लिया है। इससे पहले पुणे में महिला के नाम से जारी चेक में फर्जी हस्ताक्षर कर रुपए निकालने की कोशिश की गई थी। मामला सिविल लाइन थाना क्षेत्र का है। विधायक रश्मि सिंह के निज सचिव व शैल विहार निवासी प्रशांत शर्मा ने इस मामले की शिकायत सिविल लाइन थाने में दर्ज कराई है। उन्होंने पुलिस को बताया कि विधायक रश्मि सिंह का नेहरू नगर स्थित एसबीआई में खाता है। उनके खाते से 49 हजार 8 सौ रुपए निकाल लिए गए हैं। शनिवार को जब उन्हें दिल्ली स्थित बैंक से रकम निकलने का मैसेज मिला, तब ठगी का पता चला। उन्होंने पहले इस मामले की शिकायत बैंक से भी की। पुलिस ने उनकी रिपोर्ट पर धोखाधड़ी का अपराध दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

रेल मंत्री का करीबी बताकर धोखाधड़ी:नेताओं के साथ फोटो खिंचवाकर कहता-मैं इनका करीबी; फिर लेता था पैसै, अपने गार्ड से भी ठगे 9.5 लाख
दूसरा चेक भी पहुंच गया था बैंक

बताया जा रहा है कि रोहित राज नाम के किसी व्यक्ति के नाम पर चेक जारी हुआ है और उनके खाते से रकम निकाली गई है। उन्होंने इस नाम से चेक ही जारी नहीं किया है। ऐसे में उनके फर्जी चेक व हस्ताक्षर से उनके खाते से रकम निकालने की आशंका है। पुलिस ने बैंक से राशि निकलवाने वाले की पूरी जानकारी मांगी है। इसके आधार पर ही आरोपियों की छानबीन की जाएगी।
फर्जी चेक से पहले भी हुई है धोखाधड़ी की कोशिश
विधायक रश्मि सिंह के बैंक खाते का फर्जी चेक लगाकर पहले भी धोखाधड़ी की कोशिश की गई थी। इससे पहले ही विधायक ने अपना हस्ताक्षर भी बदल दिया था। साथ ही इसकी जानकारी बैंक में भी दी थी। इसके बाद भी अक्टूबर में उनके खाते से पुणे की महिला के नाम से चेक जारी किया गया था। चेक फर्जी था और उसमें हस्ताक्षर भी फर्जी था। जिससे चार लाख 51 हजार रुपए निकालने की कोशिश की गई थी, लेकिन बैंक ने तुरंत एक्शन लेते हुए स्टॉप पेमेंट करा दिया था। इससे चेक से राशि नहीं निकाली जा सकी। इस मामले भी सिविल लाइन पुलिस धोखाधड़ी का अपराध दर्ज कर जांच कर रही थी, कि फिर से जालसाजी हो गई।

खबरें और भी हैं…

छत्तीसगढ़ | दैनिक भास्कर

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments