झज्जर में गरीब बच्चों के दाखिले पर लटकी तलवार: CBSE स्कूलों की एसोसिएशन ने बैठक कर कहा 134-ए में कोई विद्यालय नहीं देगा प्रवेश

0
84

झज्जरएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

झज्जर में CBSE से संबंद्ध स्कूलों के मुखिया-निदेशक बैठक में विरोध जताते हुए।

हरियाणा के झज्जर में CBSE से संबंधित संस्था सहोदय ने अपने स्कूलों में 134-A के तहत गरीब बच्चों के दाखिले का विरोध किया है। एसोसिएशन ने बुधवार को ऐलान किया कि जब तक सरकार प्राइवेट स्कूलों की बकाया राशि का भुगतान नहीं करती, कोई नया एडमिशन नहीं किया जाएगा।

झज्जर में सहोदय की बैठक रोहतक रोड स्थित डीएच लोरेंस स्कूल में चेयरमैन रमेश रोहिला की अध्यक्षता में हुई। बैठक में CBSE से मान्यता प्राप्त स्कूलों के मुखियाओं और अन्य प्रतिनिधियों ने भाग लिया। स्कूल प्राचार्य और स्कूलों के निदेशकों की बडी हाज़री में संयुक्त तौर पर फैसला लिया गया कि सरकार द्वारा जारी 134-ए दाखिला सूची का वे विरोध करते हैं।

सरकार की तरफ 4 करोड बकाया

रोहिला ने कहा कि सरकार प्राइवेट स्कूलों की बकाया राशि का पाई-पाई का भुगतान नही करेगी, तब तक जिला झज्जर का कोई भी प्राइवेट स्कूल किसी प्रकार का दाखिला नही करेगा। झज्जर के स्कूलों के 4 करोड़ रुपए से भी अधिक की राशि सरकार की तरफ बकाया है।

जितेन्द्र लाठर ने बैठक में कहा कि सरकार के तालिबानी आदेश हरगिज़ नही मानेगें। सरकार को समाज के उत्थान में प्राइवेट स्कूल की भागीदारी की अनदेखी नही करनी चाहिए। सबका साथ सबका विकास का नारा देने वाले माननीय मुख्यमंत्री यह भूल गये हैं कि हरियाणा में 90प्रतिशत से अधिक प्राइवेट स्कूलों के संचालकों ने अपनी निजी जमीन में या फिर अपनी खुद की खेती की जमीन बेचकर स्कूल चलाने की व्यवस्था की है।

बच्चों के नहीं, व्यवस्था के खिलाफ

बैठक में कहा गया कि बच्चों की पढाई उनके लिए सर्वोपरि है, अभिभावक हमारे ही परिवार के सदस्य समान हैं। हम तो सरकार की व्यवस्था के खिलाफ हैं, जो हमेशा मनमाने आदेश जारी कर देती है। अफसरशाही ने शायद सरकार को गुमराह किया हुआ है।

जनवरी में राज्य स्तर पर बैठक

रामा भारती स्कूल के निदेशक आनन्द गुप्ता ने सरकार से अपील की कि आरटीई के तहत राशि का भुगतान किया जाए। हरियाणा हाई कोर्ट के निर्णय अनुसार सरकारी स्कूलों में प्रति छात्र खर्च हो रही राशि के बराबर राशि का भुगतान किया जाए। बैठक में ये भी निर्णय हुआ कि इस मुहिम को आगे बढ़ाने के लिए जनवरी के प्रथम सप्ताह में राज्य स्तर पर सभी प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन की मीटिंग करके आगे की रणनीति का रोड मैप तैयार किया जाऐगा।

मीटिंग में यह भी मांग की गई कि NCR में आने वाले 4 जिलों फरीदाबाद, गुरुग्राम, सोनीपत और झज्जर को CBSE दिल्ली से जोड़ा जाए। इसके लिए स्कूलों का एक प्रतिनिधिमंडल जल्द ही बोर्ड के चेयरमैन से मुलाकात करेगा।

खबरें और भी हैं…

हरियाणा | दैनिक भास्कर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here