जोगिंदर सिंह ने थामा आम आदमी का दामन: कांग्रेस से इस्तीफा देने के 20 घंटे में ही जॉइन की पार्टी, फगवाड़ा से मिल सकता है टिकट

0
13

अमृतसर12 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

पूर्व मंत्री जोगिंदर सिंह मान

फगवाड़ा से तीन बार विधायक रह चुके जोगिंदर सिंह मान ने कांग्रेस से इस्तीफा देने के 20 घंटे बाद ही शनिवार को आम आदमी पार्टी का दामन थाम लिया। अनुसूचित जाति समुदाय के नेता माने जाने वाले मान पिछले लंबे समय से पोस्ट-मैट्रिक एससी स्कॉलरशिप घोटाले में कोई कार्रवाई ना होने से नाराज थे। इसके बाद उन्होंने शुक्रवार को कांग्रेस के हालात पर सवाल उठाते हुए पार्टी से 50 साल पुराना नाता तोड़ दिया था।

जोगिंदर सिंह मान पूर्व केंद्रीय मंत्री रहे स्वर्गीय बूटा सिंह के भांजे हैं। तीन बार विधायक रहे मान 2002 से 2007 तक कैप्टन अमरिंदर सिंह की सरकार में मंत्री रह चुके हैं। इतना ही नहीं वह हमेशा कांग्रेस के साथ ही अपना जीवन निकालने की बातें करते रहे थे। उन्होंने बयान भी दिया था कि वह मरने के बाद कांग्रेस के झंडे में लिपट कर जाना चाहते हैं। स्कॉलरशिप घोटाले पर कार्रवाई न होने के अलावा वह फगवाड़ा को अलग जिला घोषित करवाने की भी मांग कर चुके थे। वह आरक्षित हलका फगवाड़ा से कांग्रेस टिकट के दावेदार थे, लेकिन टिकट न मिलने की संभावना से नाराज मान ने पार्टी छोड़ दी।

जमीन पार्टी के साथ ना चलने को कह रहा

दलित नेता जोगिंदर सिंह मान ने कहा कि दलितों के बच्चों के हितों की रक्षा करने में सरकार फेल रही है। दलित समाज के साथ यह धोखा है। स्कॉलरशिप स्कीम के आरोपितों को पार्टी में पनाह देने के कारण उनका जमीर अब पार्टी में रहने की उन्हें इजाजत नहीं देता।

अवसरवादी नेताओं के हाथ कमान

मान ने आरोप लगाया है कि पूर्व सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह और पीपीसीसी प्रधान नवजोत सिंह सिद्धू जैसे राजे महाराजे और अवसरवादी नेता जब से कांग्रेस में आये, ने पार्टी का इस्तेमाल स्वार्थ के लिए किया है। इनका मकसद पार्टी के सिद्धांतों से उपर उठकर सिर्फ सत्ता हथियाना है।

खबरें और भी हैं…

पंजाब | दैनिक भास्कर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here