जम्मू कश्मीर: सुचेतगढ़ बॉर्डर पर होने वाली बीटिंग रिट्रीट परेड स्थगित, कोरोना संक्रमण के बढ़ने की वजह से लिया फैसला

0
22

अमर उजाला नेटवर्क, जम्मू
Published by: विमल शर्मा
Updated Sun, 09 Jan 2022 07:12 PM IST

सार

भारत-पाकिस्तान की अंतरराष्ट्रीय सीमा पर सुचेतगढ़ बॉर्डर पर होने वाली बीटिंग रिट्रीट सेरेमनी को स्थगित कर दिया है। जम्मू-कश्मीर में कोरोना के लगातार मामले बढ़ रहे हैं। इस पर रोक लगाने के लिए कई तरह की पाबंदियां लगाई जा रही हैं। 

सुचेतगढ़ बॉर्डर पर बीटिंग द रिट्रीट सेरेमनी के दौरान बीएसएएफ। (फाइल)
– फोटो : संजय कुमार

ख़बर सुनें

ख़बर सुनें

जम्मू-कश्मीर में कोरोना संक्रमण का ग्राफ लगातार बढ़ता देख भारत-पाकिस्तान की अंतरराष्ट्रीय सीमा पर सुचेतगढ़ बॉर्डर पर होने वाली बीटिंग रिट्रीट सेरेमनी को स्थगित कर दिया है। अक्टूबर 2021 में वाघा बॉर्डर की तर्ज पर सीमा सुरक्षा बल ने रिट्रीट कार्यक्रम शुरू किया था। जम्मू जिले के सुचेतगढ़ में होने वाली बीटिंग रिट्रीट सेरेमनी सप्ताह में दो दिन शनिवार और रविवार को होती है। राज्यपाल प्रशासन के मुताबिक प्रदेश में कोरोना के बढ़ते केसों को देखते हुए शनिवार से बीटिंग रिट्रीट सेरेमनी को अगले आदेश तक स्थगित कर दिया गया है। 15 दिन बाद प्रशासन और बीएसएफ के अफसर कोरोना की स्थिति की समीक्षा कर इस पर कोई फैसला लेंगे।  

शनिवार को को संक्रमण से चार लोगों ने दम तोड़ दिया। प्रदेश में नए 655 संक्रमित मिले थे। इसमें जम्मू संभाग में 392 और कश्मीर में 263 मामले शामिल हैं। जिला जम्मू में सर्वाधिक 263 मामले हैं और ये पिछले सात माह बाद आए हैं। जम्मू में शनिवार को दो बुजुर्गों की घर पर ही मौत हो गई। दोनों को जीएमसी में मृत लाया गया। शहर के लगभग सभी हिस्सों में संक्रमित मामले मिल रहे हैं। कश्मीर में भी दो मरीजों की कोविड से मौत हुई। जीएमसी जम्मू में एक पूर्व एमएलसी चौधरी फतेह मोहम्मद (97) की भी कोविड संक्रमण के चलते जान गई।

जीएमसी जम्मू में शनिवार को पलोड़ा निवासी एक 76 वर्षीय व्यक्ति और नानक नगर निवासी 82 वर्षीय महिला को मृत लाया गया। दोनों कोविड से संक्रमित थे और घर पर ही उपचार ले रहे थे। लेकिन हालत अधिक बिगड़ने पर उनकी घर पर ही मौत हो गई। प्रदेश में मौजूदा कोविड संक्रमण से जम्मू जिला सबसे अधिक प्रभावित है। यहां आशंका है कि सामुदायिक स्तर पर संक्रमण का प्रसार हो गया है। शनिवार को बारिश के बावजूद सर्वाधिक मामले मिले, जिससे आगामी दिनों में मौसम साफ रहने पर और अधिक संक्रमित मामले मिलने की आशंका है।

जम्मू में मिलने कुल संक्रमित मामलों में से 257 स्थानीय स्तर के हैं।  जिले में सक्रिय मामलों का आंकड़ा बढ़कर 968 पहुंच गया है, जो सबसे अधिक है। श्रीनगर में भी संक्रमण मामलों में उछाल आया है और यह 133 नए मामले मिले हैं। इसके अलावा बारामुला में 41, बड़गाम में 46, उधमपुर में 17, राजोरी में 14, डोडा में 10, कठुआ में 26, सांबा में 12, पुंछ में 31 और रियासी में 15 मामले मिले हैं। प्रदेश में सक्रिय मामले बढ़कर 2982 पहुंच गए हैं। अब तक जम्मू कश्मीर मं 4537 लोगों कीकोविड से मौत हो चुकी है। इस बीच प्रदेश में 162 संक्रमित मरीज रिकवर भी हुए हैं।
 

विस्तार

जम्मू-कश्मीर में कोरोना संक्रमण का ग्राफ लगातार बढ़ता देख भारत-पाकिस्तान की अंतरराष्ट्रीय सीमा पर सुचेतगढ़ बॉर्डर पर होने वाली बीटिंग रिट्रीट सेरेमनी को स्थगित कर दिया है। अक्टूबर 2021 में वाघा बॉर्डर की तर्ज पर सीमा सुरक्षा बल ने रिट्रीट कार्यक्रम शुरू किया था। जम्मू जिले के सुचेतगढ़ में होने वाली बीटिंग रिट्रीट सेरेमनी सप्ताह में दो दिन शनिवार और रविवार को होती है। राज्यपाल प्रशासन के मुताबिक प्रदेश में कोरोना के बढ़ते केसों को देखते हुए शनिवार से बीटिंग रिट्रीट सेरेमनी को अगले आदेश तक स्थगित कर दिया गया है। 15 दिन बाद प्रशासन और बीएसएफ के अफसर कोरोना की स्थिति की समीक्षा कर इस पर कोई फैसला लेंगे।  

शनिवार को को संक्रमण से चार लोगों ने दम तोड़ दिया। प्रदेश में नए 655 संक्रमित मिले थे। इसमें जम्मू संभाग में 392 और कश्मीर में 263 मामले शामिल हैं। जिला जम्मू में सर्वाधिक 263 मामले हैं और ये पिछले सात माह बाद आए हैं। जम्मू में शनिवार को दो बुजुर्गों की घर पर ही मौत हो गई। दोनों को जीएमसी में मृत लाया गया। शहर के लगभग सभी हिस्सों में संक्रमित मामले मिल रहे हैं। कश्मीर में भी दो मरीजों की कोविड से मौत हुई। जीएमसी जम्मू में एक पूर्व एमएलसी चौधरी फतेह मोहम्मद (97) की भी कोविड संक्रमण के चलते जान गई।

जीएमसी जम्मू में शनिवार को पलोड़ा निवासी एक 76 वर्षीय व्यक्ति और नानक नगर निवासी 82 वर्षीय महिला को मृत लाया गया। दोनों कोविड से संक्रमित थे और घर पर ही उपचार ले रहे थे। लेकिन हालत अधिक बिगड़ने पर उनकी घर पर ही मौत हो गई। प्रदेश में मौजूदा कोविड संक्रमण से जम्मू जिला सबसे अधिक प्रभावित है। यहां आशंका है कि सामुदायिक स्तर पर संक्रमण का प्रसार हो गया है। शनिवार को बारिश के बावजूद सर्वाधिक मामले मिले, जिससे आगामी दिनों में मौसम साफ रहने पर और अधिक संक्रमित मामले मिलने की आशंका है।

जम्मू में मिलने कुल संक्रमित मामलों में से 257 स्थानीय स्तर के हैं।  जिले में सक्रिय मामलों का आंकड़ा बढ़कर 968 पहुंच गया है, जो सबसे अधिक है। श्रीनगर में भी संक्रमण मामलों में उछाल आया है और यह 133 नए मामले मिले हैं। इसके अलावा बारामुला में 41, बड़गाम में 46, उधमपुर में 17, राजोरी में 14, डोडा में 10, कठुआ में 26, सांबा में 12, पुंछ में 31 और रियासी में 15 मामले मिले हैं। प्रदेश में सक्रिय मामले बढ़कर 2982 पहुंच गए हैं। अब तक जम्मू कश्मीर मं 4537 लोगों कीकोविड से मौत हो चुकी है। इस बीच प्रदेश में 162 संक्रमित मरीज रिकवर भी हुए हैं।

 

Latest And Breaking Hindi News Headlines, News In Hindi | अमर उजाला हिंदी न्यूज़ | – Amar Ujala

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here