जनाक्रोश महासभा: मोटर ड्राइविंग ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट के विरोध में जुटे 70 गांवों के लोग, कोविड नियमों के उल्लंघन का केस दर्ज

0
18

जमशेदपुर4 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
  • प्रशासन की रोक के बावजूद माझी परगना महाल समेत विभिन्न संगठनाे का हुआ जुटान

एनएच-33 से सटे काशीडीह के नरगा फुटबॉल मैदान में मोटर ड्राइविंग ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट खाेलने के विराेध में माझी परगना महाल समेत विभिन्न ग्राम सभाओं के प्रतिनिधियाें ने रविवार काे जनाक्रोश महासभा की। काेराेनाकाल में जिला प्रशासन की राेक के बावजूद आयाेजित इस महासभा में 70 गांवाें के ग्राम प्रधान समेत विभिन्न सामाजिक संगठनों के बड़ी संख्या में लोग शामिल हुए।

वक्ताओं ने जिला प्रशासन पर बिना ग्रामसभा की अनुमति से हैवी व्हीकल ड्राइविंग ट्रेनिंग सेंटर बनाने का आराेप लगाते हुए निर्माण कार्य अविलंब बंद करने और याेजना काे रद्द करने की मांग की। कहा कि लैंड बैंक के नाम पर ग्रामीणों से जमीन छीनी जा रही है। सरकार इस पर अविलंब राेक लगाए। साथ ही जिला प्रशासन लगातार हो रहे ग्राम सभा के उल्लघंन को बंद करे।

इससे पहले जनाक्राेश सभा की शुरुआत धाड़ दिशोम के देश परगना बैजू मुर्मू और आसनबनी तोरोप परगना के हरिपदो मुर्मू ने उलगुलान के नायक बिरसा मुंडा की तस्वीर पर माल्यार्पण कर की। कार्यक्रम की अध्यक्षता धाड़ दिशोम देश परगना बैजु मुर्मू ने की।

सीओ ने धाड़ दिशोम के देश परगना बैजू मुर्मू, डेमका सोय समेत सैकड़ों अज्ञात पर किया केस

इस बीच मानगो अंचल के सीओ हरिश्चंद्र मुंडा के बयान पर ग्रामसभा के आयोजनकर्ता माझी परगना महाल के कई नेताओं के खिलाफ नामजद समेत सैकड़ों अज्ञात पर एमजीएम थाना में प्राथमिकी दर्ज की गई है। इसमें कोविड नियमों का उल्लंघन करने का आरोप लगाया गया है। नामजद आरोपियों में धाड़ दिशोम के देश परगना बैजू मुर्मू, डेमका सोय, जैकब किस्कू और बंगाल सोरेन आदि के नाम शामिल हैं।

गांव में किसी भी बाहरी काे घुसने नहीं दिया गया: ग्रामसभा को लेकर गांव में किसी भी बाहरी व्यक्ति के घुसने पर रोक लगा दी गई थी। इसके लिए गांव के बाहर 5 ग्रामीणाें काे तैनात किया गया था। करीब 2 से 3 घंटे तक चली बैठक में सरकार से डीसी, एसडीओ समेत पुलिस अधिकारियाें के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की गई।

जनाक्राेश सभा में उठीं ये मांगें

  • भूमि अधिग्रहण संशोधन कानून 2018 अविलंब रद्द हाे।
  • 5वीं अनुसूची क्षेत्रों में नगर निगम, नगर पालिका के गठन पर राेक लगे।
  • ग्राम सभा को सशक्त कर 6वां सेड्यूल की तर्ज पर विकास की नियमावली बने
  • संथाली भाषा काे राज्य में हिंदी के साथ प्रथम राजभाषा का दर्जा मिले
  • जेएसएससी नियुक्ति परीक्षा में क्षेत्रीय भाषा के रूप में शामिल मगही, अंगिका, भोजपुरी को अविलंब हटाया जाए
  • ट्राइबल एडवाइजरी काउंसिल में स्वशासन व्यवस्था के तहत 50 प्रतिशत आदिवासियाें काे प्रतिनिधित्व मिले
  • आगामी जनगणना में सरना धर्म कोड शामिल हाे
  • झारखंड में अंतिम सर्वे सेटलमेंट के आधार पर स्थानीयता व नियोजन नीति बने
  • सीएनटी, एसपीटी कानून का उल्लंघन बंद हाे।

कोरोना काल में सरकार की गाइडलाइन का उल्लंघन कर ग्रामीणाें ने ग्रामसभा की। ग्रामीणों के खिलाफ कोरोना महामारी में धारा 188पर कार्रवाई होगी। -हरिश्चंद्र मुंडा, सीओ, मानगो अंचल

कोरोना को लेकर डीसी और एसएसपी के निर्देश पर पुलिस टीम काे गांव से हटा लिया गया है। ग्रामीणों ने बैठक की है। वरीय अधिकारी के आदेश पर आगे की कार्रवाई की जाएगी। -मिथिलेश सिंह, एमजीएम थानंदार

खबरें और भी हैं…

झारखंड | दैनिक भास्कर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here