Breaking News
DreamHost

चित्रकूट में 14 साल की लड़की से गैंगरेप हुआ, 4 दिन बाद फांसी लगाकर जान दी; गोंडा में सोते वक्त 3 दलित लड़कियों पर एसिड अटैक

चित्रकूटएक मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

यूपी के चित्रकूट में एक नाबालिग लड़की के साथ दुष्कर्म का मामला सामने आया है। आरोप है कि तीन युवकों ने उसके साथ दुष्कर्म किया। समाज के डर से उसने मंगलवार को आत्महत्या कर ली।

उत्तर प्रदेश में अब चित्रकूट से गैंगरेप का मामला सामने आया है। घटना के 6वें दिन 14 साल की पीड़ित ने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। मामला मानिकपुर थाना इलाके के सरैया चौकी के एक गांव का है। लड़की की मौत के बाद पुलिस ने एससी/एसटी एक्ट में रिपोर्ट दर्ज की है।

8 अक्टूबर को लड़की के साथ तीन लोगों ने गैंगरेप किया था। पीड़ित ने घर पर जानकारी दी, जिसके बाद माता-पिता ने सरैया चौकी में शिकायत भी की थी। तब पीड़ित के पिता ने पुलिस को कहा था कि एक-दो दिन में हम आरोपियों के नाम पता कर बता देंगे। उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए। लेकिन, पुलिस ने न तो रिपोर्ट लिखी और न ही लड़की का मेडिकल कराना जरूरी समझा। इसी बीच, मंगलवार सुबह मां-बाप खेत चले गए और घर पर अकेली लड़की ने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली।

पुलिस ने कहा- गैंगरेप की पुष्टि नहीं
सीओ रजनीश यादव का कहना है कि एससी-एसटी एक्ट के तहत रिपोर्ट दर्ज की गई है। अभी गैंगरेप की पुष्टि नहीं हुई। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आने के बाद आगे की कार्रवाई करेंगे। वहीं, पिता का कहना है कि उनकी बेटी के साथ गैंगरेप हुआ था। इसी वजह से उसने खुदकुशी कर ली।

सोती हुई लड़कियों पर एसिड फेंका
उधर, गोंडा में तीन दलित बहनों पर एसिड फेंकने की वारदात सामने आई है। घटना सोमवार देर रात की है। वारदात उस समय हुई जब तीनों घर में सोईं थी। घटना में बड़ी बहन का चेहरा झुलस गया, जबकि दो बहनों पर एसिड के छींटे पड़े। वारदात को किसने अंजाम दिया, इस बारे में अभी पता नहीं चल पाया। तीनों बहनों को अस्पताल में एडमिट कराया है। बताया जा रहा है कि बड़ी लड़की की सगाई इसी महीने की 23 अक्टूबर को होने वाली थी।

पीड़ित लड़कियों के पिता गोरई ने बताया कि घटना सोमवार रात की है। 17, 12 और आठ साल की हमारी तीनों बेटियां छत पर बने कमरे में सो रही थीं। पीछे से कोई बल्ली लगाकर ऊपर चढ़ा और एसिड फेंक दिया। जलन होने पर बड़ी बेटी जोर से चिल्लाई। वह तुरंत सीढ़ी से नीचे की तरफ भागी। तीनों बहनें एक साथ सो रहीं थीं। मैं भी सो रहा था, इसलिए देख नहीं पाया कि किसने और कहां से फेंका है।

रोते हुए पिता ने यह भी कहा, ”जब बेटी को गोद में उठाया तो पता चला तेजाब डाला गया है। 10 दिन बाद बड़ी बेटी की सगाई होनी थी। जब लड़कियां चिल्लाई तो भागकर ऊपर गए। हमने तड़पती बिटिया को गोद में ले लिया। तब मेरी बनियान भी गलकर गिरने लगी, तब समझ आया कि तेजाब डाल दिया। लखनऊ से बड़ी बिटिया की शादी तय किए थे। 23 अक्टूबर को सगाई होनी थी। सब बर्बाद हो गया है। गांव में हमारी किसी से रंजिश नहीं है।”

तहरीर मिलते ही पुलिस करेगी कार्रवाई

एसपी शैलेश कुमार पांडेय ने बताया कि परसपुर में पक्का कस्बे में एक घटना हुई है। सो रही तीन बच्चियों के ऊपर केमिकल से अटैक किया गया है। केमिकल कौन सा है इसकी जांच डॉक्टर कर रहे हैं। उसके बाद ही पता चल पाएगा कि कौन सा केमिकल है। परिजन से बात हुई है। उनका किसी पर शक नहीं है। अभी तक किसी के खिलाफ तहरीर या शिकायत नहीं मिली है। मौके पर डॉग स्क्वॉड और फोरेंसिक विभाग की टीम मौके पर पहुंच गई है। तीनों बच्चियां नाबालिग हैं। शुरुआती स्तर पर यही लग रहा है कि घटना में कस्बे के लोग ही शामिल हैं।


Dainik Bhaskar

Free WhoisGuard with Every Domain Purchase at Namecheap

About rnewsworld

Check Also

बहुमूल्य किताबों का डिजिटलाइजेशन कर वेबसाइट पर करें अपलोड : आनंदीबेन

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, लखनऊ Updated Thu, 29 Oct 2020 12:56 AM IST राज्यपाल आनंदीबेन …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Bulletproof your Domain for $4.88 a year!