गुड़गांव कोरोना LIVE: वैक्सीनेशन का एक साल पूरा, गुड़गांव में 46.32 लाख लोगों को लगे कोरोनारोधी डोज

0
18

गुड़गांवएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

कोरोनारोधी डोज लगाते हुए

  • 18 से 44 साल के लोगों को सबसे अधिक 33.66 लाख लोगों को लगी वैक्सीन की डोज

जिला में महामारी से निपटने के लिए शुरू हुआ वैकसीनेशन अभियान का एक साल पूरा हो गया है। गुड़गांव में एक साल के दौरान 4632533 लोगों को एक साल के दौरान वैक्सीन की डोज लगाई जा चुकी है। इनमें सबसे अधिक वैक्सीन की डोज 18 से 44 साल के लोगों को 33.66 लाख डोज लगाई गई हैं। इसके अलावा सबसे कम डोज 15 से 17 साल के 87050 किशोरों को लगाई गई हैं। लेकिन इस उम्र का वैक्सीनेशन गत 3 जनवरी को ही शुरू किया गया था। वहीं एक साल पहले शुरू किए गए 60 वर्ष से ऊपर के लोगों को भी 460362 लोगों को वैक्सीन लगाई गई है।

गुड़गांव में वैक्सीनेशन की रफ्तार हरियाणा के अन्य जिलों के मुकाबले काफी अच्छी रही है। जिला में अब तक 2059439 लोगों को वैक्सीन की दोनों डोज लगाई जा चुकी हैं। इसके अलावा 2560901 लोगों को पहली डोज लगाई गई है। इसके अलावा कोरोनो से बचाव के लिए तेजी से वैक्सीन की डोज लगाने का काम स्वास्थ्य विभाग कर रहा है। जिला के वैक्सीनेशन के नोडल ऑफिसर डा. एमपी सिंह का कहना है कि 12193 लोगों को प्रीकॉशन डोज दी जा चुकी हैं। इसी तरह 15 साल से 18 साल के किशोरों को भी पिछले 12 दिन में ही 85 हजार से अधिक को डोज लगाई जा चुकी हैं।

जिला में 40 लाख से अधिक को लगाई कोविशिल्ड की डोज

गुड़गांव में सबसे अधिक कोविशिल्ड की डोज लगाई गई है। अब तक कोविशिल्ड की 4089786 डोज लगाई गई हैं। जबकि कोवेक्सीन की 498786 डोज लगाई गई है। जबकि स्पुतनिक वी की 43961 डोज लगाई गई हैं। वैक्सीन की डोज लगवाने में गुड़गांव के पुरुष काफी आगे रहे हैं। जिला में 2853606 पुरुषों को वैक्सीन की डोज लगाई गई है जबकि 1765262 महिलाओं को वैक्सीन की डोज लगाई गई है।

जिला में 24 घंटे में 3349 पॉजिटिव केस मिले, 75 वर्षीय बुजुर्ग की मौत

जिला में कोरोना संक्रमण के पिछले 24 घंटे में 3349 नए पॉजिटिव केस मिले। वहीं 75 वर्षीय एक बुजुर्ग की मौत हो गई। स्वास्थ्य विभाग के अनुसार बुजुर्ग को कैंसर के अलावा हाइपरटैंशन समेत कई तरह की बीमारियां थी। वह वैक्सीन की दोनों डोज लगवा चुका था। जिला में शनिवार को कुल केस का आंकड़ा बढ़कर 210991 हो गया। वहीं जिला में 1621 पेशेंट रिकवर हुए। जिला में कोरोना संक्रमण को देखते हुए 13049 लोगों के टेस्ट किए गए, जिनमें से 10669 लोगों के आरटीपीसीआर टेस्ट किए गए जबकि बाकी के रैपिड एंटीजन टेस्ट किए गए।

खबरें और भी हैं…

दिल्ली + एनसीआर | दैनिक भास्कर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here