खास बातचीत: राज शांडिल्य बोले-बढ़ती जनसंख्या देखकर आया ‘जनहित में जारी’ का आइडिया, फिल्म में कंडोम सेल्स एग्जीक्यूटिव की भूमिका में हैं नुसरत भरूचा

0
24

मुंबई33 मिनट पहलेलेखक: उमेश कुमार उपाध्याय

  • कॉपी लिंक

‘एक वुमनिया सब पर भारी, जनहित में सूचना जारी…’ यह डायलॉग राज शांडिल्य द्वारा लिखित और निर्मित ‘जनहित में जारी’ फिल्म का है। गंभीर मुद्दे पर बन रही यह फिल्म सटायर के साथ बुनी जा रही है। इस फिल्म में नुसरत भरूचा के अलावा विजय राज, टीनू आनंद, अनुद सिंह, इश्तियक खान, पारितोष त्रिपाठी जैसे कलाकार हैं। फिल्म का डायरेक्शन जय बासंतु सिंह कर रहे हैं। अब राज शांडिल्य ने दैनिक भास्कर से खास बातचीत में फिल्म और इसकी मेकिंग से जुड़े कई रोचक तथ्यों के बारे में बताया है।

ऐसे आया कहानी का आइडिया
दुनिया में जितनी भीड़ बढ़ती जा रही है, उतना ही लोग अकेले होते जा रहे हैं। मैंने बस, ट्रेन, एयरपोर्ट… हर जगह भीड़ देखी। एक पद के लिए हजारों आवेदन आ रहे हैं। जनसंख्या से एज्युकेशन, हमारा रोजगार, क्राइम आदि चीजों पर असर पड़ता है। इसका थॉट इसलिए आया कि ऐसा क्या हो, जिससे इसे रोकने का उपाय हो। लोगों को क्या समझाएंगे। खासकर महिलाओं को, क्योंकि बच्चे उन्हें करने होते हैं। यह सब सोचते हुए थॉट आया कि इस तरह की फिल्म बननी चाहिए। फिर लिखने बैठा तो एक महीने में कहानी लिख डाली। जनरली ऐसी कहानियों पर कोई हाथ डालता नहीं है। मुझे ऐसा लगा कि जो चीज मैंने लिखी है, उसे ढंग से प्रोड्यूस नहीं कर पाऊंगा। फिल्म का आइडिया मुझे साल 2017 में आया था। लेकिन ‘ड्रीम गर्ल’ में व्यस्तता ज्यादा हो गई। उसके रिलीज के बाद सोचा कि अब इसे बनाया जाए।

विषय बड़ा गंभीर है, पर ह्यूमर के साथ दिखाया जाएगा
‘जनहित में जारी’ पापुलेशन कंट्रोल पर है। आज देश में जो जनसंख्या बढ़ रही है, उस पर आज उपाय नहीं किए तो यह विशाल रूप ले लेगी। जनसंख्या को लेकर अवेयरनेस लाने की कोशिश की गई है, सो कंडोम वगैरह की बात जरूर होगी। एक औरत के लिए क्या सही और क्या गलत है। इस बात का अहसास होने पर एक वुमनिया क्या-क्या कर सकती है, वह सब दिखाया गया है। छोटे शहर की लड़की और ज्यादा खतरनाक हो जाती है। यह कंप्लीट फैमिली फिल्म है। विषय बड़ा गंभीर है, पर ह्यूमर के साथ है।

सबसे पहले बोर्ड पर आईं नुसरत भरुचा
फिल्म में नुसरत भरूचा के अलावा अनुद सिंह, विजय राज, टीनू आनंद, इश्तियाक खान, परितोष त्रिपाठी आदि मंझे कलाकार हैं। इनमें सबसे पहले नुसरत भरूचा बोर्ड पर आईं, उसके बाद तो सब आते गए। नुसरत इसमें कंडोम सेल्स एग्जीक्यूटिव की भूमिका में हैं। यहां उनका अब तक की फिल्मों से काफी डिफरेंट रोल है। वह एक छोटे शहर की लड़की है, जो शिक्षित है। जीवन में आगे बढ़ना चाहती है। जॉब की तलाश में है। उसे एक कंडोम बनाने वाली कंपनी में सेल्स एंड प्रमोशन एग्जीक्यूटिव के पद पर नौकरी मिल जाती है। उसके जॉब के इर्द-गिर्द कहानी घूमती है। वह मेडिकल स्‍टोर से लेकर जगह-जगह कंडोम बेचने जाती है, तब एक लड़की होने के कारण किन-किन चुनौतियों का सामना करना पड़ता है। वह लोगों को कैसे इसके बारे में समझाती है और इसमें सफल होती है। यह सब कहानी का हिस्सा है।

सुबह से लेकर शाम तक चश्मा लगाकर बैठे रहते थे टीनू आनंद
नए लोगों के साथ काम करना चाहता था, इसलिए नए म्यूजिक डायरेक्टर, कोरियोग्राफर और सिंगर नए हैं। नया टैलेंट एक जूनून के साथ काम करता है। अब कितने लोग रिपीट हो रहे हैं, ऐसे में सोचा नए टैलेंट को लॉन्च करना चाहिए। टीनू आनंद भी काफी समय बाद ऐसा रोल प्ले कर रहे हैं, तो उन्हें काम करते वक्त बड़ा मजा आया। उन्होंने एक ब्लाइंड मैन का रोल प्ले किया है, इसलिए सुबह से लेकर शाम तक चश्मा लगाकर बैठे रहते थे। उनके साथ काम करना बड़ा रोचक रहा। उनके ही साथ क्या, विजय राज आदि के साथ काम करना बड़ा मजेदार रहा।

पोस्ट प्रोडक्शन का काम जारी है
फिल्म का कुल शूटिंग शेड्यूल 45 दिनों का था। इसे दो शेड्यूल में पूरा किया। 19 अक्टूबर 2021 से शूटिंग शुरू की थी। पहला शेड्यूल तकरीबन 35 दिनों का और दूसरा 10 दिन का रहा। 30 दिन चंदेरी, 5-6 दिन ग्वालियर और आसपास के इलाकों में शूट हुआ है। इस समय पोस्ट प्रोडक्शन का काम चल रहा है। एक महीने में फिल्म तैयार हो जाएगी। फिल्म बनने के बाद रिलीज डेट डिसाइड करेंगे।

खबरें और भी हैं…

बॉलीवुड | दैनिक भास्कर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here