Wednesday, December 8, 2021
HomeEntertainmentखास बातचीत: पंखुड़ी अवस्थी बोलीं- एक वक्त था जब टेलीविजन एक्टर्स को...

खास बातचीत: पंखुड़ी अवस्थी बोलीं- एक वक्त था जब टेलीविजन एक्टर्स को स्टीरिओटाइप किया जाता था, लेकिन अब वक्त बदल गया

मुंबई10 मिनट पहलेलेखक: किरण जैन

  • कॉपी लिंक

एक्ट्रेस पंखुड़ी अवस्थी ने पिछले साल ‘शुभ मंगल ज्यादा सावधान’ से बॉलीवुड में डेब्यू किया था। अभिनेत्री की माने तो वे अपने करियर में और भी प्लेटफार्म एक्स्प्लोर करना चाहती हैं। फिर चाहे वो म्युजिक वीडियो हो या टेलीविजन या फिल्म। हाल ही में अभिनेत्री ने टीवी शो ‘मैडम सर’ के लिए भी शूट किया था जिसमे वे एक पुलिस अफसर का किरदार निभा रही है। दैनिक भास्कर से खास बातचीत के दौरान, पंखुड़ी ने अपने प्रोफेशनल लाइफ से जुडी कुछ खास बातें शेयर की।

अपने आपको कनेक्ट करना चाहती हूं
टीवी शो के बारे में पंखुड़ी कहती है, “मैंने टेलीविजन पर पहले जिस तरह की भूमिकाएं निभाई हैं, उससे यह काफी अलग है। मैंने जिस तरह के किरदार निभाए हैं वे काफी भव्य रहे हैं। मुझे उन किरदारों के लिये खास तरह के पहनावे में भारी-भरकम ज्वैलरी पहननी पड़ती थी। मीरा के मामले में, यह कहीं ज्यादा वास्तविक है। पुलिस की वर्दी पहनना आपको एक अलग तरह के गर्व का अनुभव कराता है। मैं अपने करियर में कुछ ऐसे ही किरदार करना चाहती हूं जिससे मैं अपने आपको कनेक्ट कर पाऊं।”

यह रोल काफी चैलेंजिंग है
वे आगे कहती हैं, “इस शो में मैं एक आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस ऑफिसर निभा रही हूँ जो काफी चैलेंजिंग है।हम इसे बहुत ज्यादा रोबोट नहीं रखना चाहते थे और यहां तक कि एलेक्सा और सिरी जैसे वॉयस अस्सिटेंट वाले जोन में भी नहीं रखना था। अंत में, हमने तय किया कि किरदार बहुत सामान्य रूप से बोलेगा क्योंकि इसके मेकर ने इसी तरह से उसे प्रोग्राम किया है। यह बहुत मानवीय तरीके से बात करता है; हालाकि, उसकी बॉडी लैंग्वेज सपाट और सीधी है। अपने डायलॉग्स के दौरान मुझे पलकें नहीं झपकानी है, क्योंकि रोबोट को मनुष्यों को देखने, उनकी भावनाओं को समझने, बदलने और पूरी तरह से आत्मनिर्भर बनने के लिये प्रशिक्षित किया गया है।”

अलग-अलग प्लेटफार्म में काम करना चाहती हूं
अपने बॉलीवुड डेब्यू पर पंखुड़ी कहती है, “मुझे बहुत खुशी है की ‘शुभ मंगल ज्यादा सावधान’ जैसी फिल्म से बॉलीवुड में अपना डेब्यू करने का मौका मिला। उस फिल्म को काफी पॉजिटिव रिस्पाॉन्स मिला था। एक वक्त था जब टेलीविजन एक्टर्स को स्टीरिओटाइप किया जाता था, उन्हें किसी और प्लेटफार्म पर काम करने का ज्यादा मौका नहीं मिलता था। लेकिन अब वक्त बदल गया, एक्टर्स के लिए कई सारे मौके खुल गए हैं। अब अलग-अलग प्लेटफार्म के बीच का गैप कम हो गया है। खास तौर, ये बदलाव ओटीटी प्लेटफार्म की पॉपुलैरिटी के बाद नजर आया है। खुद को खुसनसीब मानती हूं की मुझे अपने टैलेंट को अलग-अलग माध्यम के जरिये अपनी ऑडियंस तक पहुंचाने का मौका मिला।”

हम एक दूसरे के काम का रिस्पेक्ट करते हैं
तो क्या पति गौतम रोड़े उनके शो और किरदारों पर अपनी राय देते हैं? “सबसे अच्छी बात ये है की हम दोनों एक दूसरे की चॉइस को बहुत रिस्पेक्ट करते हैं। हां, हम काम पर चर्चा करते हैं और हर कैरेक्टर के बारे में अपने विचार एक दूसरे से शेयर करते हैं, जो एक अच्छी बात है (मुस्कुराते हुए)। बता दे, पंखुरी ‘सूर्यपुत्र कर्ण’, ‘लाल इश्क’ आदि जैसे शो का भी हिस्सा रह चुकी है।

खबरें और भी हैं…

बॉलीवुड | दैनिक भास्कर

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments