कोरोना गाइडलाइन: 51+ केस आए तो यलो और 100 से अधिक केस पर रेड जोन बने, सच-18 में 90+ व 1 क्षेत्र में 100+ केस पर छूट

0
27

जयपुर22 मिनट पहलेलेखक: नरेश वशिष्ठ

  • कॉपी लिंक

संजय बाजार….लोगों का हठ ही शहर को कोरोना का बाड़ा बनाएगा।

राजधानी में कोरोना मरीजों की रफ्तार कम होती नजर नहीं आ रही है। रविवार को राजधानी के 101 इलाकों में 2 हजार 377 लोग कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। वहीं नया खेड़ा में एक व्यक्ति की मौत हुई है। यहां एक दिन पहले की तुलना में 1552 केस ज्यादा मिले हैं। दूसरी लहर के बाद यह अब तक का सर्वाधिक आंकड़ा है। रविवार काे जगतपुरा में सबसे अधिक 102 मरीज आए। दूसरी ओर, एक्टिव मरीज 9 हजार से अधिक पहुंच गए हैं। राजधानी में एक जगह शतक ताे 19 जगह अर्धशतक में मरीज पहुंच गए हैं।

27 लाेग बिना एड्रेस वाले हैं। विद्याधर नगर थाने में पकड़ा गया एक चोर और मादक पदार्थ तस्कर भी कोरोना पॉजिटिव हैं। दूसरी ओर, कोरोना बढ़ने का बड़ा कारण है गाइड लाइन की अनदेखी। गाइड लाइन में निर्देश दिए गए हैं कि सरकार की गाइडलाइन के तहत 1 लाख की आबादी पर 50 कोरोना एक्टिव केस होने तक ग्रीन जोन , 1 लाख की आबादी पर 51 से 100 एक्टिव केस होने पर यलो जोन और 1 लाख की आबादी पर 100 से अधिक एक्टिव केस होने पर रेड जोन बना दिया जाए। इसके बावजूद जिला प्रशासन सतर्क नहीं हुआ है। राजधानी में 18 क्षेत्र ऐसे जहां पर 50 से अधिक मरीज आए हैं। ये जाेन यलाे जाेन और 3 इलाके रेड जाेन की श्रेणी में आते हैं। इसके बावजूद भी इन क्षेत्रों काे रेड और यलाे जाेन घोषित नहीं किया गया है।

…और कोरोना की रफ्तार बढ़ी लेकिन वैक्सीनेशन की घट गई
राजधानी में कोरोना मरीजों की रफ्तार बढ़ने के साथ ही वैक्सीनेशन की रफ्तार धीमी हो गई है। एक सप्ताह पहले से सोमवार को वैक्सीनेशन की रफ्तार में तेज बढ़ोतरी हुई थी, लेकिन शनिवार-रविवार तक तेजी से गिरावट आई है। एक जनवरी को कोरोना मरीजों की संख्या प्रदेश में 103 थी तो राजधानी में 192 मरीज मिले थे। इसी दिन वैक्सीन 2 लाख 3 हजार 550 लोगों लगी थी, लेकिन 9 जनवरी को उलटा हो रहा है। वैक्सीनेशन की रफ्तार बढ़ने की अपेक्षा घटी है। 9 जनवरी को 5660 मरीज मिले हैं तो 40 हजार लोगों का वैक्सीनेशन हुआ है।

इनमें 15 से 17 की उम्र के 9148 बच्चे हैं। 6 दिन में 18 लाख 33 हजार बच्चों का वैक्सीनेशन हुआ है। इसमें से 81 हजार बच्चे राजधानी जयपुर के शामिल हैं। इस हिसाब से जयपुर जिले में प्रतिदिन 13 हजार 527 बच्चों को ही वैक्सीन लग रही है। राजधानी में आठ दिन में 2 लाख 64 हजार लोगों को वैक्सीन लगी है। इसमें 1 लाख 60 लोगों को प्रथम तो 1 लाख 4 हजार लोगों को दूसरी डोज लगी है। कोविशील्ड की 1 लाख 38 हजार डोज हैं तो को-वैक्सीन की 1 लाख 26 हजार डोज हैं। वहीं 15 से 17 उम्र के 81 हजार बच्चों को वैक्सीन लगाई गई है।

खबरें और भी हैं…

ओमिक्रॉन A to Z | दैनिक भास्कर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here