Monday, November 29, 2021
HomeInternationalकोरोना के साउथ अफ्रीकन वैरिएंट से टेंशन: 17 दिसंबर से शुरू होना...

कोरोना के साउथ अफ्रीकन वैरिएंट से टेंशन: 17 दिसंबर से शुरू होना है भारत का साउथ अफ्रीका दौरा, अभी इंडिया ए टीम वहां खेल रही है सीरीज

केप टाउन2 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

दक्षिण अफ्रीका में कोरोना का नया वैरिएंट B.1.1.529 मिला है। दक्षिण अफ्रीका, हॉन्ग-कॉन्ग और बोत्सवाना में इसके 50 कंफर्म केस मिले हैं। भारत में अब तक इस नए वैरिएंट का कोई केस नहीं मिला है, लेकिन अगले महीने भारतीय क्रिकेट टीम का दक्षिण अफ्रीकी दौरा शुरू हो रहा है।

17 दिसंबर से 26 जनवरी तक द. अफ्रीका के जोहान्सबर्ग, प्राल, केपटाउन और सेंचुरियन में कुल 10 मैच खेले जाने हैं। इनमें 3 टेस्ट मैच, 3 वनडे और 4 टी20 मैच होने हैं। लेकिन द. अफ्रीका में नए वैरिएंट से संक्रमण के मामले बढ़ने से चिंता बढ़ रही है। द. अफ्रीका में इस वक्त भी इंडिया ए टीम सीरीज खेल रही है।

मैच पड़ सकते हैं खतरे में
भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच खेले जाने वाले 10 मैचों में से 5 केप टाउन में, 3 पार्ल में और 1-1 मैच जोहान्सबर्ग और सेंचुरियन में खेला जाना है। जोहान्सबर्ग शहर गुआटेंग प्रांत का सबसे बड़ा शहर और राजधानी है। गुआटेंग इस समय नए वैरिएंट से सबसे ज्यादा प्रभावित है।

केप टाउन शहर वेस्टर्न केप प्रांत में आता है। नए वैरिएंट के फोकस वाले क्षेत्रों में वेस्टर्न केप भी शामिल है। इनके अलावा क्वाजुलु नाटाल, ईस्टर्न केप में भी मामले बढ़ रहे हैं। ऐसे में सवाल उठता है कि यह सीरीज कैसे खेली जाएगी।

म्यूटेशन ने बनाया वायरस को खतरनाक
ब्रिटिश साइंटिस्ट्स ने भी बोत्सवाना में मिले नए वैरिएंट को लेकर चेतावनी दी थी। इसमें 32 म्यूटेशन हो रहे हैं, जिस वजह से वैक्सीन भी इसके खिलाफ कारगर नहीं है। यह वैरिएंट अपने स्पाइक प्रोटीन में बदलाव कर काफी तेजी से फैल रहा है।

दक्षिण अफ्रीका के नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ इंफेक्शियस डिजीज ने बताया- देश में इस वैरिएंट के अब तक 22 केस मिले हैं। वैज्ञानिकों ने इसे B.1.1.529 नाम दिया है। इसे वैरिएंट ऑफ सीरियस कंसर्न बताया है। WHO में कोरोना मामले की तकनीकी प्रमुख डॉ. मारिया वान केरखोव ने कहा- हमें इस वैरिएंट के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं मिली है। मल्टीपल म्यूटेशन की वजह से वायरस के बिहेवियर में बदलाव हो रहा है और यह चिंता की बात है।

भारत में अब तक कोई मामला नहीं
नए वैरिएंट का कोई मामला भारत में अब तक सामने नहीं आया है। सरकारी सूत्रों ने बताया कि B.1.1.529 नाम का यह वैरिएंट देशभर टेस्टिंग लैब्स में भेजे गए किसी भी सैंपल में नहीं मिला है। यह भारत के लिए राहत की खबर है। हालांकि भारत के लिए चिंता की बात यह है कि नया स्ट्रेन हॉन्गकॉन्ग तक पहुंच गया है।

केंद्र सरकार ने इस वैरिएंट के मद्देनजर हॉन्गकॉन्ग और बोत्सवाना से आने वाले यात्रियों की जांच के लिए सभी एयरपोर्ट्स पर निर्देश जारी किए हैं। केंद्र सरकार ने राज्यों को भी विशेष सतर्कता बरतने के निर्देश दिए हैं। साथ ही कहा है कि वे दक्षिण अफ्रीका, हॉन्गकॉन्ग और बोत्सवाना से आने वाले यात्रियों की अच्छी तरह से जांच करें।

खबरें और भी हैं…

विदेश | दैनिक भास्कर

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments