एक सप्ताह का अल्टीमेटम: बसें फिट नहीं तो जब्त करेंगे; करीब 30 स्कूलों को पुलिस ने पत्र लिख चेताया

0
32

उज्जैन8 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

स्कूल बसों की चैकिंग करती ट्रैफिक पुलिस।

अंध गति से दौड़ रही दो स्कूल बसों के बीच सोमवार सुबह यातायात थाना चौराहा पर हुई जोरदार भिड़ंत के बाद पुलिस हरकत में आई है। मंगलवार को शहर में कई जगह ट्रैफिक पुलिस ने स्कूल बसों को रोककर ड्राइवर का लाइसेंस समेत गाड़ियों के दस्तावेज चैक किए। ट्रैफिक पुलिस ने करीब 30 निजी स्कूलों को पत्र लिख चेतावनी दी है कि अगर एक सप्ताह में सभी स्कूल बसों में स्पीड गवर्नर नहीं लगे व बसें अनफिट चलते पाई गईं तो जब्त कर थाने में खड़ी कर दी जाएंगी।

सुबह सूनी सड़कों पर स्कूल बसों को ड्राइवर जिस अंध गति से दौड़ाते हैं वह बहुत ही खतरनाक है। इनमें कई ड्राइवर दक्ष भी हैं या नहीं व जो बसें सड़कों पर बच्चों को बैठाकर दौड़ाई जा रही है वे कितनी फिट है इसकी कोई गारंटी नहीं है। भरतपुरी मार्ग पर इसी वजह से सोमवार को दो स्कूली बसें आपस में भिड़ने के बाद एक पलट गई थी, शुक्र था कि उसमें बच्चे नहीं थे।

उक्त घटना के बाद मंगलवार सुबह हरकत में आई ट्रैफिक पुलिस ने स्कूली बसों को रोक-रोककर जांच की। कई बसों के ड्राइवरों के पास संपूर्ण दस्तावेज तक नहीं थे। चूंकि बसों में बच्चे सवार थे इसलिए पुलिस ने संबंधित बसों के नंबर नोट कर उन्हें रवाना कर दिया। इसके बाद दोपहर में निजी स्कूलों को कड़े पत्र लिख फिटनेस, स्पीड गवर्नर दुरुस्त करने का अल्टीमेटम दिया गया है।

बच्चों को परेशानी न हो इसलिए स्कूल संचालकों को सप्ताहभर का अल्टीमेटम

ट्रैफिक डीएसपी सुरेंद्र पालसिंह राठौड़ ने इस संबंध में बताया कि स्कूली बसों के लिए मंगलवार से थानास्तर पर चैकिंग शुरू करा दी है। साथ ही करीब 30 निजी स्कूलों को पत्र लिखा गया है जो बसों का संचालन करते हैं। कहा गया है कि बसों में स्पीड गवर्नर व फिटनेस नहीं मिला तो जब्त कर लेंगे। बच्चों को परेशानी न हो इसलिए स्कूलों को सप्ताहभर में गाड़ियों को दुरुस्त करने का समय दिया है।

खबरें और भी हैं…

मध्य प्रदेश | दैनिक भास्कर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here