Sunday, December 5, 2021
HomeStatesRajasthanउदयपुर दौरे पर राज्यपाल कलराज मिश्र: सुखाड़िया विश्वविद्यालय में संविधान पार्क और...

उदयपुर दौरे पर राज्यपाल कलराज मिश्र: सुखाड़िया विश्वविद्यालय में संविधान पार्क और मुख्य द्वार का किया उद्वाटन, विधानसभा अध्यक्ष ने राजसमंद को टीएसपी में शामिल करने की फिर उठाई आवाज

उदयपुर10 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

कार्यक्रम में संविधान के मूल कर्तव्यों की शपथ दिलवाते राज्यपाल कलराज मिश्र।

उदयपुर दौरे पर रहे राज्यपाल कलराज मिश्र ने सुखाड़िया विश्वविद्यालय के नवनिर्मित संविधान पार्क, मुख्य द्वार और विभिन्न भवनों के लोकार्पण शुक्रवार को किया। इस मौके पर मिश्र ने कहा कि भारत का संविधान एक दस्तावेज नहीं बल्कि स्वयं एक संस्कृति है। यह हमारी उदात्त भारतीय परंपराओं को व्याख्यायित करती है। भारतीय संविधान अधिकारों एवं कर्तव्यों के संतुलन वाला पवित्र दस्तावेज है। विधानसभा अध्यक्ष डॉ. सीपी जोशी ने भी राजसमंद जिले के आदिवासियों को टीएसपी क्षेत्र का लाभ देकर जोड़ने की आवाज बुलंद की, ताकि उन्हें मुख्यधारा में जोड़ा सके।

लोकार्पण के बाद आडिटोरियम में राज्यपाल मिश्र ने कहा कि संविधान में लोक कल्याण की बात प्रमुखता से कही गई है क्योंकि लोक कल्याण में ही सबका हित है। उन्होंने संविधान में चित्रांकन परंपरा का उल्लेख करते हुए कहा कि महाभारत, रामायण एवं पौराणिक आख्यानों को रेखांकित करते हुए प्रेरणा प्रदान करने के लिए चित्र अंकित किए गए है। यह हमारी संस्कृति का ही प्रतिरूप है। मिश्र ने कहा कि हमारा संविधान अधिकारों एवं कर्तव्यों के संतुलन वाला पवित्र दस्तावेज है। इस की प्रस्तावना दुनिया के तमाम संविधानों की प्रस्तावनाओं में सर्वश्रेष्ठ है।

कार्यक्रम में संबोधित करते राज्यपाल कलराज मिश्र।

कार्यक्रम में संबोधित करते राज्यपाल कलराज मिश्र।

उन्होंने कहा कि अधिकारों की बात सब करते हैं और उसका गलत इस्तेमाल करते हुए अराजकता फैलाने की कोशिश भी करते हैं। ऐसे लोगों को कर्तव्यों की जानकारी नहीं होती। इसीलिए मैंने राज्यपाल बनने के बाद सार्वजनिक समारोहों में कर्तव्यों का वाचन शुरू करवाया। संविधान पार्क बनाने की संकल्पना रखी और मुझे प्रसन्नता है कि सुखाड़िया विश्वविद्यालय पहला विश्वविद्यालय बन गया है जिसने कम समय में संविधान पार्क बना दिया है। इसमें कर्तव्यों का उल्लेख किया गया है जिसको पढ़ कर विद्यार्थियों के मन में अधिकारों के साथ ही कर्तव्यों को निर्वहन करने की प्रेरणा जग सके। छात्र कर्तव्यों को अपने आचरण में ला सके। राज्यपाल ने विधानसभा अध्यक्ष डॉ सीपी जोशी की नाथद्वारा को टीएसपी क्षेत्र में जोड़ने की मांग पर उन्होंने कहा कि वे शीघ्र ही इस संबंध में अधिकारियों से बात करेंगे, बैठक करेंगे और शीघ्र ही स्वयं इन जिलों का दौरा भी करेंगे।

कार्यक्रम में विधानसभा अध्यक्ष डॉ सीपी जोशी ने कहा कि संसदीय लोकतंत्र हम सब की आत्मा में बसा है और इसकी रक्षा करना हम सबका दायित्व है। संसदीय लोकतंत्र में जनता की भागीदारी भी सक्रिय रुप से होनी चाहिए। जनता को चाहिए कि वे मत देकर 5 साल तक भूले नहीं बल्कि जिस को वोट दिया है, वह सही काम कर रहा है या नहीं कर रहा है, उस पर भी पूरी नजर रखे। डॉ जोशी ने कहा कि सत्ता के विकेंद्रीकरण के लिए कई काम किए गए लेकिन विकेंद्रीकरण के आधार पर निचले स्तर तक अधिकार नहीं पहुंच पाए है।

डॉ जोशी ने राज्यपाल से कहा कि राजसमंद जिले के आदिवासियों को टीएसपी क्षेत्र का लाभ दें ताकि उन्हें मुख्यधारा में जोड़ा जा सके एवं उनके लिए रोजगार का सृजन किया जा सके। डॉ जोशी ने कहा कि स्किल ट्रेनिंग के कोर्सेज यदि रोजगार परक नहीं होंगे इनको चलाने का कोई फायदा नहीं है। हमें सर्वाधिक रोजगार उत्पन्न करने वाले पाठ्यक्रमों पर जोर देना चाहिए। इस अवसर पर सहकारिता मंत्री उदयलाल आंजना ने कहा कि विश्वविद्यालय के कुलपति ऊर्जावान है और विधानसभा अध्यक्ष का उनको साथ मिला है। से में विश्वविद्यालय प्रगति की ओर निरंतर अग्रसर होगा। उन्होंने आशा व्यक्त की कि निंबाहेड़ा में ईस्ट ब्लॉक कैंपस का उद्घाटन भी शीघ्र किया जाएगा।

संविधान पार्क का निरीक्षण के दौरान राज्यपाल ने फोटो भी खिंचवाए।

संविधान पार्क का निरीक्षण के दौरान राज्यपाल ने फोटो भी खिंचवाए।

विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर अमेरिका सिंह ने पिछले 1 वर्ष की उपलब्धियों के बारे में बताते हुए आदिवासियों बच्चों के लिए विस्तार की योजनाएं बताई। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय की आदिवासी मिलाप योजना भी इसी का एक हिस्सा है। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कई विश्वविद्यालयों से आपसी सहयोग की बातचीत चल रही है। जो भी सहयोग मिलेगा उसको सबसे पहले आदिवासी क्षेत्र में पहुंचाने की कोशिश की जाएगी। इस दौरान मोहनलाल सुखाड़िया विश्वविद्यालय के अब तक के इतिहास पर प्रकाशित महत्वपूर्ण ग्रंथ का राज्यपाल द्वारा लोकार्पण किया गया।

खबरें और भी हैं…

राजस्थान | दैनिक भास्कर

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments